• Follow NativePlanet
Share
» »मुंबई से जुड़े दिलचस्प तथ्य

मुंबई से जुड़े दिलचस्प तथ्य

Written By: Goldi

मुंबई भारत के बेहद लोकप्रिय शहरों में से एक है..जिसे हम सभी सपनो के शहर, और कभी ना सोने वाला शहर के रूप में जानते हैं। मुंबई की खूबसूरती का बखान करने के लिए कई गाने और किताबे लिखी जा चुकी हैं। बिर्टिश राज के दौरान मुंबई एक बेहद ही महत्वपूर्ण शहर था।

दिसंबर के महीने में भारत में यहां ले बर्फबारी का मज़ा

मेट्रोपोलिटियां शहर मुंबई आज हर सुविधा से परिपूर्ण है..मुंबई कई खूबसूरत इमारतों और विरासत के साथ समृद्ध शहर है। शहर की खूबसूरती को देखने के लिए आपको जीवन में एकबार मुंबई की सैर अवश्य करनी चाहिए। इसी क्रम में इस लेख में हम आपको मुंबई के कुछ दिलचस्प तथ्यों से रूबरू कराने जा रहे हैं..जिनके बारे में शायद आप अवगत ना हो

शहर की सीमा के भीतर सबसे बड़ा राष्ट्रीय उद्यान

शहर की सीमा के भीतर सबसे बड़ा राष्ट्रीय उद्यान

उत्तर मुंबई में स्थित संजय गांधी राष्ट्रीय उद्यान एक विशाल नेशनल पार्क है, जोकि सिर्फ जानवरों का घर ही नहीं बल्कि जैव विविधता के लिए भी जाना जाता है। इस पार्क को घूमते समय यहां आप पार्कोपीन, तेंदुआ, सांबर हिरण, आदि जैसे जानवरों को देख सकते हैं।

यह दुनिया में पर्यटकों द्वारा सबसे ज्यादा घूमा जाना वाले राष्ट्रीय पार्कों में से एक है। वनस्पतियों और जीवों के अलावा, यहां आप कान्हेरी गुफाओं को भी देख सकते हैं, जोकि 2400 साल पुरानी है।

Pc:sujit jagdale

 सात द्वीपों का शहर है मुंबई

सात द्वीपों का शहर है मुंबई

7 वीं शताब्दी में मुंबई सात द्वीपों में बंटा हुआ था, जोकि ब्रिटिश राज का हिस्सा थे। सात द्वीपों को दहेज़ के रूप में पुर्तगाली शासकों ने इंग्लैण्ड को राजकुमारी ब्रागांजा और इंग्लैंड के चार्ल्स द्वितीय विवाह के दौरान प्रदान किये थे। इन सात द्वीपों को एक शहर में बनने में करीबन 1784 से 1845 60 साल का वक्त लगा था।

कैसे पड़ा मुंबई नाम?

कैसे पड़ा मुंबई नाम?

कहा जाता है कि,मुंबई को यह नाम उन लोगो ने दिया था जो यहां वर्षो से रहते थे, तो वहीं कुछ का कहा है कि,बॉम्बे नाम पुर्तगाल से आया है,क्यों कि वह इसे "बॉम बाहिया"कहते थे,जिसका मतलब होता है "एक सुंदर खाड़ी"। तो वहीं मुंबई नाम इस शहर को इसलिए मिला क्यों कि मुंबई के मूल निवासी यहां की मुम्बा देवी की पूजा करते हैं..जिनके नाम अर इस शहर को यह नाम दिया गया।Pc:Rangakuvara

 सबसे ज्यादा झुग्गी झोपड़ी

सबसे ज्यादा झुग्गी झोपड़ी

आप इस तथ्य से अवगत होंगे कि मुंबई में धारावी एशिया की सबसे बड़ी झुग्गी बस्ती है। जैसा की सब जानते है, कि मुंबई में रहना खाना बेहद महंगा है। इसमें मुंबई का शहरी इलाका ही नहीं बल्कि झुग्गी बस्तियां भी शामिल,धारावी में आपको एक घर बनाने के लिए करीबन 3 लाख की जरूरत होती है।Pc:Institute for Money, Techn

हर चीज में सबसे पहले मुंबई

हर चीज में सबसे पहले मुंबई

ब्रिटिश राज के मुख्यालय होने के नाते, मुंबई भारत के अन्य शहरों से पहले विकसित हुई है। भारत का सबसे पहला पंच सितारा होटल मुंबई में वर्ष 1903 में खुला था, और भारत का पहला एयरपोर्ट जुहू एयरोडोम था जोकि 1 9 28 में खुला था। इसके अलावा रेलवे टर्मिनस, इलेक्ट्रिक रेल सिस्टम, पब्लिक बस सर्विसेज, सबसे पहले मुंबई में ही स्थापित हुए थे।Pc:Skye Vidur

डब्बावाला

डब्बावाला

डब्बावाला मुंबई में ऑफिस में लंच देने वाली लंच बॉक्स डेलिवरी सिस्टम है।यह एक बेहद ही विशाल नेटवर्क है, झो बेहद ही अच्छे तरीके से बना हुआ है, और इस सीटें के माध्यम से कभी भी कोई गलती नहीं हुई।फोर्ब्स मैगजीन द्वारा इसे विश्व की शबे अच्छी सप्लाय चैन भी घोषित किया चुका है।Pc:Joe Zachs

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स