Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »ये हैं महाराष्ट्र का मिनी कश्मीर, खूबसूरत ऐसी की मन कह उठे वाह!

ये हैं महाराष्ट्र का मिनी कश्मीर, खूबसूरत ऐसी की मन कह उठे वाह!

By Goldi

पश्चिमी भारत में स्थित महाराष्ट्र एक बेहद ही खूबसूरत राज्य है, जहां पर्यटकों के घूमने के लिए अनगिनत हिलस्टेशन समर्द्ध ऐतिहासिक किलें आदि मौजूद हैं। इसी क्रम में आज हम आपको रूबरू कराने जा रहे हैं महाराष्ट्र के मिनी कश्मीर से। जी हां, मिनी कश्मीर, जोकि महाराष्ट्र के लोकप्रिय हिलस्टेशन महाबलेश्वर से करीबन 28 किमी की दूरी पर स्थित है, जिसे टापोला के नाम से जाना जाता है।

टापोला की हरियाली और सौन्द्रय मन को इतना आनंद प्रदान करती है कि इस जगह को "मिनी कश्मीर" के नाम से जाना जाने लगा। इस पूरे गाँव का भ्रमण करने पर जो चीज आपको सबसे ज्यादा आकर्षित करेगी वो है यहां की सुन्दरता। यहां आप अपने को प्रकृति के नजदीक पाएंगे। साथ ही जो चीज इस जगह को और भी ख़ास बनती है वो ये यहां के जंगल जिसमें जाकर व्यक्ति ट्रेकिंग का मजा ले सकता है। अगर आप फोटोग्राफी के शौक़ीन हैं, तो आप अपने इस खास शौक को यहां अच्छे से पूरा कर सकते हैं।

अगर मानसून के दौरान आप यहां की सैर कर रहे हैं, तो यहां का कास पठार देखना न भूले। यहां पर कुल 150 प्रजाती के फूल है जो मानसून में पूरी तरह खिले होते हैं। अगर आप पैदल चलके पूरे कास पठार को देखेगे तो यहां के कई स्ट्रॉबेरी और नर्सरी फार्म देख सकेंगे।

शिवसागर झील

शिवसागर झील

90 किलोमीटर में फैली शिव सागर झील टापोला का एक प्रमुख पर्यटन आकर्षण है, जोकि कोयना बांध के लिए जलाशय के रूप में कार्य करती है। इस झील के आसपास और कई वाटर स्पोर्ट्स का मजा लिया जा सकता है, जिसमे वाटर स्कूटर राईड, तैराकी, क्याकिंग और नौका विहार, आदि शामिल हैं।

कास पठार

कास पठार

Pc:Neha173

टापोला से कुछ ही दूरी पर स्थित कास पठार महाराष्ट्र का एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है, जो अपने खूबसूरत फूलों के लिए जाना जाता है। यह भारत के सबसे खूबसूरत फूलों की घाटियों में से एक है। यहाँ खिलने वाले जंगली फूल जो अगस्त से सितम्बर के महीनो में खिलते हैं यहाँ के नज़ारे को एक अलग ही अद्भुत दृश्य में बदल देते हैं। कास प्लैटू महाराष्ट्र के उन प्रसिद्द पर्यटक स्थलों में से एक है जिसे जैव विविधता विश्व विरासत स्थल घोषित कर दिया गया है।

वासोटा-जयगढ़ किला

वासोटा-जयगढ़ किला

Pc:Ccmarathe

वसोटा और जयगड़ किले बहुत ही प्राचीन और एतिहासिक किले है। किसी ज़माने में ये बहुत ही लेकप्रिय थे, पर आज ये गुमनामी के अंधेरे में खोते जा रहे हैं। वसोटा किला कोयना वन्यजीव अभयारण्य के घने जंगलो में है। इसका निर्माण शीलहर राजवंश के राजा, राजा भोजराज ने किया था, फिर इस पर शिवाजी महाराज का कब्ज़ा हो गया। इस किले को वग्रगड़ किले के नाम से भी जाना जाता है। फ़िलहाल यह किला ट्रेकिंग के लिए जाना जाता है, जो रोमांचक के साथ खतरनाक भी है, अगर आप यहां ट्रेकिंग कर रहे हैं, तो अपने साथ गाइड को जरुर रखें और सावधानी जरुर बरतें।

कैसे पहुंचे टापोला ?

कैसे पहुंचे टापोला ?

अगर आप टापोला की सैर करना चाहते हैं, महाबलेश्वर से आसानी से टापोला बस या कार के जरिये पहुंचा जा सकता हैं, बता दे, टापोला से महाबलेश्वर की दूरी करीबन 28 किमी है।

ट्रेकिंग के है शौक़ीन..तो महाराष्ट्र के इन ट्रेकिंग स्थलों पर जाना ना भूले

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X