» »13 अप्रैल-16 अप्रैल लॉन्ग वीकेंड..यहां मनाएं अपनी होलिडेज को शानदार

13 अप्रैल-16 अप्रैल लॉन्ग वीकेंड..यहां मनाएं अपनी होलिडेज को शानदार

Written By: Goldi

हर किसी को एक रविवार की छुट्टी मिलती है..लेकिन जब एक लंबा वीकेंड होता है तो दिल खुश हो जाता है। जी हां अगले हफ्ते यानी 13 अप्रैल से 16 अप्रैल का एक लंबा वीकेंड है..

राम लला की भूमि अयोध्या

जी हां आने वाले हफ्ते में 13 अप्रैल को वैशाखी की छुट्टी,14 अप्रैल को अम्बेडकर जयंती,गुड फ्राइडे,15 अप्रैल को शनिवार ऑफ़ और 16 अप्रैल को सन्डे।

हर एक भारतीय का हक है- संसदीय कार्यवाही को देखना

तो कुछ आपने प्लान बनाया कि, बस अभी तक सोच ही रहे हैं..कोई बात नहीं अगर आपने अपनी वीकेंड प्लान नहीं किया तो हमारा ये लेख खासकर आप ही के लिए है।

इंद्रा गाँधी ट्यूलिप गार्डन

इंद्रा गाँधी ट्यूलिप गार्डन

श्रीनगर से 90 किमी की दूरी अपर ट्यूलिप गार्डन पर्यटकों के लिए 1 अप्रैल से 15 अप्रैल तक के लिए खोल दिया गया है..तो आप वहां 13 या फिर 14 को पहुंचकर इस गार्डन में घूम सकते हैं। बता दें,यह ट्यूलिप गार्डन पर्यटकों के लिए साल में सिर्फ एक बार ही खुलता है। आप ट्यूलिप गार्डन के साथ कश्मीर की वादियों में भी अपनी छुट्टियों को यादगार बना सकते हैं।

कैसे पहुंचे

कैसे पहुंचे

पर्यटक श्रीनगर वायुयान, ट्रेन और सड़क द्वारा आसानी से पहुंच सकते हैं।

हवाईजहाज द्वारा
श्रीनगर में श्रीनगर एयरपोर्ट स्थित है..इस एयरपोर्ट से देश के प्रमुख शहरों दिल्ली, अमृतसर, जम्मू, लेह, चंडीगढ़, अहमदाबाद और मुम्बई से श्रीनगर के लिए उड़ान भरती है।

ट्रेन द्वारा
हाल ही में श्रीनगर में रेलवे स्टेशन बन गया है, व रेल सेवा भी आरंभ हो चुकी है। निकटतम स्टेशन है श्रीनगर। इसके बाद भारत की मुख्य रेलवे का सबसे निकटतम रेलवे स्टेशन जम्मू तवी है। रेलवे स्टेशन से जम्मू तवी 293 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

सड़क द्वारा
श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग द्वारा कई प्रमुख शहरों से सड़क मार्ग द्वारा जुड़ा हुआ है।

रानीखेत

रानीखेत

उत्तर भारत में गर्मी की शुरुआत हो चुकी है..ऐसे में आप रानीखेत की खूबसूरत वादियों की सैर कर सकते हैं। चारो ओर हरे भरे पेड़ पहाड़ मन को एक सुकून प्रदान करते हैं..साथ ही अप भी इन छुट्टियों में यहां घूमकर खुद को फ्रेश महसूस करेंगे।PC: wikimedia.org

कैसे पहुंचे रानीखेत

कैसे पहुंचे रानीखेत

हवाई जहाज द्वारा
रानीखेत का नजदीकी एयरपोर्ट देहरादून है...देहरादून से पर्यटक बस या टैक्सी द्वारा आसानी से पहुंच सकते हैं।

ट्रेन द्वारा
रानीखेत का नजदीकी रेलवे स्टेशन जात गोदाम है..यहां से पर्यटक बस या टैक्सी द्वारा आसानी से पहुंच सकते हैं।

सड़क द्वारा
रानीखेत प्रमुख राज मार्गो से जुड़ा हुआ है..यहां आसानी से बस द्वारा पहुंचा जा सकता है।PC: wikimedia.org

कुल्लू-मनाली

कुल्लू-मनाली

उत्तर भारत में गर्मियों का दौर शुरू हो चुका है..ऐसे में कुल्लू मनाली घूमना सबसे बेस्ट होगा..साथ ही अभी वहां आपको पर्यटकों की भीड़भाड़ भी कम मिलेगी..जिसके चलते आप हिमाचल की खूबसूरत वादियों में अपनों के साथ एक अच्छा टाइम स्पेंड कर सकते हैं। साथ ही एडवेंचर स्पोर्ट्स और ट्रेकिंग भी आजमा सकते है।PC: wikimedia.org

कैसे पहुंचे कुल्लू-मनाली

कैसे पहुंचे कुल्लू-मनाली

हवाई जहाज द्वारा
कुल्लू-मनाली का नजदीकी एयरपोर्ट भन्तार है..जहां से पर्यटक बस या टैक्सी द्वारा आसानी से पहुंच सकते हैं।

ट्रेन द्वारा
कुल्लू मनाली का कोई स्टेशन नहीं है..इसका नजदीकी स्टेशन अंबाला व चंडीगढ़ है..यहां से पर्यटक बस या टैक्सी द्वारा आसानी से पहुंच सकते हैं।

सड़क द्वारा
हिमाचल प्रदेश का खूबसूरत हिलस्टेशन कुल्लू मनाली सभी राजमार्गो से जुड़ा हुआ है..यहां बस द्वारा आसानी से पहुंचा जा सकता है।PC: wikimedia.org

जयपुर

जयपुर

अगर आपको इतिहास से प्यार है और रजवाड़ो को देखने का मन है तो जयपुर एक अच्छा विकल्प है। चार दिन की छुट्टी में आप जयपुर और आसपास की जगहों को बखूबी निहार सकते हैं-जिसमे हवा महल, आमेर किला,जयगढ़ किला आदि शामिल है। PC: wikimedia.org

24 घंटे में जयपुर की सैर

कैसे पहुंचे

कैसे पहुंचे

हवाई जहाज द्वारा
पर्यटक जयपुर हवाई जहाज द्वारा आसानी से पहुंच सकते हैं..टैक्सी के द्वारा पूरा जयपुर अच्छे से घूमा जा सकता है।

ट्रेन द्वारा
पर्यटक जयपुर ट्रेन द्वारा भी पहुंच सकते हैं।

सड़क द्वारा
रजवाड़ों का शहर जयपुर सभी राजमार्गों से से अच्छे से जुड़ा हुआ है..यहां बस या गाड़ी द्वारा आसानी से पहुंचा जा सकता है।
PC: wikimedia.org

मथुरा

मथुरा

कृष्ण जन्म भूमि यानी मथुरा उत्तर प्रदेश का प्रमुख तीर्थ स्थल है..कान्हा नगरी में पर्यटकों के देखने के लिए काफी कुछ है ..यहां के मन्दिरों की वास्तु कला देख आप खुद हैरत में पड़ जायेंगें।यहां आने वाले पर्यटक कृष्ण जन्मभूमि, बरसाने, वृन्दावन,गोवर्धन आदि घूम सकते हैं।PC: wikimedia.org
मथुरा पर्यटन - भगवान कृष्ण का जन्मस्थान

कैसे पहुंचे मथुरा

कैसे पहुंचे मथुरा

हवाईजहाज द्वारा
मथुरा का नजदीकी एयरपोर्ट दिल्ली है..दिल्ली से पर्यटक बस या टैक्सी द्वारा यहां आसानी से पहुंच सकते हैं।

ट्रेन द्वारा
मथुरा का रेलवे स्टेशन मथुरा जंक्शन है..यहां से पर्यटक टैक्सी के द्वारा पूरा मथुरा अच्छे से घूमा जा सकता है।

बस द्वारा
कान्हा की नगरी मथुरा सभी राजमार्गों से से अच्छे से जुड़ा हुआ है..यहां बस या गाड़ी द्वारा आसानी से पहुंचा जा सकता है।
PC: wikimedia.org

महाबलेश्वर

महाबलेश्वर

महाराष्ट्र का लोकप्रिय पर्यटन स्थल महाबलेश्वर में ईस्टर वीकेंड में मप्रो स्ट्रॉबेरी फेस्टिवल आयोजित किया जाता है।इस फेस्टिवल का आयोजन चार वर्ष पुर्व शुरू किया गया था। इस फेस्टिवल मेंआने वाले पर्यटक स्ट्रॉबेरी पार्क और खेतो मेंविचरण कर सकते हैं। साथ ही आप महाबलेश्वर भी घूम सकते हैं।

कैसे पहुंचे महाबलेश्वर

कैसे पहुंचे महाबलेश्वर

महाबलेश्वर आने के लिए हवाई, रेलवे और सड़क यातायात तीनों ही शामिल है। पर्यटक अपनी सुविधानुसार साधन का चयन करके आ सकते है। शहर में भ्रमण करने के लिए लोकल स्‍तर पर टैक्‍सी चलती है। अगर आप महाराष्‍ट्र की सैर पर आते है तो महाबलेश्वर घूमने के लिए अच्‍छी जगह है। यहां आकर आपको फील गुड फैक्‍टर आएगा जो आपमें नई ऊर्जा का संचार कर देगा। यहां की ठंडी हवा में ड्राइव करना और मोहक साइटस पर घूमना पर्यटकों को यहां बार-बार आने पर मजबूर कर देता है।PC: wikimedia.org

Please Wait while comments are loading...