» »अकेले यात्रा करना है पसंद...तो एकबार इन जगहों पर जरुर जाएँ

अकेले यात्रा करना है पसंद...तो एकबार इन जगहों पर जरुर जाएँ

Written By: Goldi

मुझे तो अकेले यात्रा करना बेहद पसंद है...क्यों कि जब भी मै अकेले ट्रेवल करती हूं..तो मुझमें एक अजीब सा कांफिडेंस आ जाता है। यकीनन अगर आपने भी कभी अकेले यात्रा की होगी रो आपके साथ कुछ ऐसा ही हुआ होगा। इसमें कोई दो
राय नहीं है कि, अकेले यात्रा करना जीवन का एक स्ब्स्बे अलग और अनुभव होता है। जीवन में अकेले यात्रा करना आपको कॉंफिडेंट होने के साथ साथ आपको आत्म निर्भर भी बनाता है। जब भी हम कहीं अकेले यात्रा करने का प्लान बनाते है,
तो उसमे सारे फैसले हमारे अपने होते..ना उसमे किसी का कोई हस्तक्षेप होता है और हम खुलकर अपनी छुट्टियों का आनन्द उठा पाते हैं।

हमारे देश में यूं तो घूमने की कई जगह है, जिन्हें हम आसानी से अकेले घूम सकते हैं...लेकिन आज मै आपको अपने लेख के जरिये उन जगहों से अवगत कराने जा रहीं हूं। जिनके बारे में लोग बेहद ही कम जानते है...यकीन मानिए अगर आप इन जगहों पर अकेले घूमने जायेंगे ...तो आपको बेहद मजा आयेगा, साथ ही आप यहां नयीं चीजों को भी सीख पायेंगे। तो बिना देर किये एक नजर डालिए स्लाइड्स पर

offbeat-destinations-in-india-for-solo-travellers
  

(Read in English)

दरिंगबाड़ी ओड़िशा

दरिंगबाड़ी ओड़िशा

ओड़िशा गर्मियों में तो काफी गर्म रहता है...इतना ही नहीं यहां गर्मियों में यहां का तापमान 50 भी पार जाता है..लेकिन दरिंगबाड़ी में उतनी ही ठंडक रहती है...जो पर्यटकों को आपनी ओर आकर्षित करती है। दरिंगबाड़ी फुलबनी से 100 किमी की दूरी पर स्थित है, दरिंगबाड़ी 915 मीटर की ऊंचाई स्थित है। यह जगह विशाल देवदार के जंगलों, कॉफी बागानों और सब्ज़ घाटियों के लिये भी प्रसिद्ध है, जिनकी वजह से इसे 'उड़ीसा का कश्मीर' कहा जाता है। यह गर्मियों के दौरान अपने कम तापमान के कारण एक रिसॉर्ट में बदल जाता है।
PC: wikipedia.org

ओरछा- मध्यप्रदेश

ओरछा- मध्यप्रदेश

ओरछा मध्यप्रदेश में स्थित है..जो धीरे धीरे पर्यटकों के बीच खासा पॉपुलर होता जा रहा है। यहां आने वाले पर्यटक महलों के साथ-साथ पर्यटक यहाँ पर हवेलियाँ देख सकते हैं। दाउजी की हवेली प्रमुख है। मंदिरों में चतुर्भुज मंदिर तथा को दर्शाती हैं तथा चतुर्भुज मंदिर आकार में अन्य मंदिरों से सबसे बड़ा है। यदि पर्यटक यहाँ की ओरछा संस्कृति से परिचित होना चाहते हैं तब बेतवा नदी पर स्थित ओरछा की छतरी देख सकते हैं।
PC: wikimedia.org

पुष्कर

पुष्कर

राजस्थान में अजमेर के पास बसा पुष्कर पर्यटकों के बीच खासा पॉपुलर है।यह हिंदुयों के लिए बेहद ही पवित्र स्थल है... बता दें, पूरे विश्व में पुष्कर एक ऐसी जगह है, जहां ब्रह्मा जी का मंदिर है और उनकी यहां पूजा होती है। पर्यटक यहां आसानी से दिल्ली, आगरा, जयपुर, से पहुंच सकते हैं।
PC: wikimedia.org

मैनपाट - छत्तीसगढ़

मैनपाट - छत्तीसगढ़

आपने अभी तिब्बती बस्तियों के बारे में हिमाचल प्रदेश का नाम सुना होगा, लेकिन आपको बता दें, की छत्तीसगढ़ के मैनपाट में कई तिब्बती बस्तियां मौजूद है। छत्तीसगढ़ के शिमला के नाम से विख्यात मैनपाट की प्राकृतिक सुंदरता से हर कोई वाकिफ है और हर मौसम में दूर-दूर से लोग यहां पहुंचते हैं। छत्तीसगढ़ के मैनपाट की वादियां शिमला का अहसास दिलाती हैं, खासकर सावन और सर्दियों के मौसम में। प्रकृति की अनुपम छटाओं से परिपूर्ण मैनपाट को सावन में बादल घेरे रहते हैं। रिमझिम फुहारों के बीच इस अनुपम छटा को देखने पहुंच रहे पर्यटकों की जुबां से निकलता है...वाकई यह शिमला से कम नहीं है।

जीरो

जीरो

ह्म्म्म ये नाम आपको सुनने को अजीब जरुर लगेगा लेकिन यह अरुणाचल प्रदेश में स्थित एक शहर का नाम है जोकि ईटानगर से तकरीबन 167 कि.मी की दूरी पर है। यह एक बेहद ही खूबसूरत जगह है...यहां अमूमन तापमान जीरो से कम ही रहता है।यहां आपको दूर दूर तक हरे भरे पहाड़ बर्फ से ढके हुए नजर आयेंगे।
PC: wikimedia.org

अरामबोल बीच गोवा

अरामबोल बीच गोवा

अरामबोल बीच गोवा पर्यटकों के बीच हरमल बीच के नाम से खासा लोकप्रिय है। इस बीच पर आपको कई विदेशी मिल जायेंगे, खासकर की रशियन जो यहां कभी कभी पूरा साल अपनी छुट्टियों को एन्जॉय करते हुए दिखाई देते हैं। इस समुद्री तट की खोज 1960 के दशक में हुई थी..उस समय यह बीच सबसे ज्यादा भीड़भाड़ वाला हुआ करता था।

PC: wikimedia.org

नुब्रा घाटी- लेह

नुब्रा घाटी- लेह

नुब्रा घाटी एक बेहद ही शांत और प्यारी सी जगह है..जहां आकर आप अपने सारे दुःख तकलीफ भूलकर अपनी लाइफ और एन्जॉय करना शुरू कर देंगे। नुब्रा समुद्र तल से 10,000 फुट की ऊंचाई पर स्थित है। यह क्षेत्र लद्दाख के बाग के नाम से जाना जाता है। गर्मियों के दौरान पर्यटकों को गुलाबी और पीले जंगली गुलाबों को देखने का मौका मिलता है जो कि इस क्षेत्र में उगते हैं। इस जगह को घूमने के लिए पर्यटकों को परमिशन की जरूरत होती है।
PC: wikimedia.org

दजुको घाटी नागालैंड

दजुको घाटी नागालैंड

दजुको का मतलब अंग्मानी भाषा में होता है ठंडा पानी। दजुको घाटी के बारे में यूं तो ज्यादा जानकारी उपलब्ध नहीं है, लेकिन ये नागालैंड का छुपा हुआ पर्यटक स्थल है। यह घाटी अपनी खूबसूरती के लिए लोगो के बीच लोकप्रिय होती जा रही है।
PC: wikipedia.org

जीभी, हिमाचल प्रदेश

जीभी, हिमाचल प्रदेश

जीभी पर्यटकों के बीच खासा लोप्रिय नहीं है, जो पर्यटक मनाली चंडीगढ़ हाइवे पहुंचते है...वह इस झरने का बखूबी आनन्द ले सकते हैं। इस जगह अप अपने खुद के बाहन से आसानी से पहुंच सकते हैं। यह की लकड़ी की झोपड़ियाँ और उंचे पहाड़ों से गिरता पानी आपका मन मोह लेगा ।

माजुली असम

माजुली असम

माजुली ब्रह्मपुत्र नदी के बीच में 875 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्रफल में फैला एक गुमनाम-सा द्वीप है।इतना ही नहीं बीते साल 1 सितंबर 2016 को माजुली ने गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में जगह बनाई। उसे दुनिया का सबसे बड़ा नदी द्वीप घोषित किया गया।1990 के दशक में यह द्वीप 1256 वर्ग किलोमीटर था। 2014 तक इसका एक-तिहाई हिस्सा ब्रह्मपुत्र के साथ बह गया।
PC: wikimedia.org

गुरुडोंगमार झील,सिक्किम

गुरुडोंगमार झील,सिक्किम

सिक्किम के लाचेन में लगभग 5430 मीटर की उँचाई पर स्थित है गुरुडोंगमार झील। यह झील कंचनजंगा पर्वतमला के उत्तर पूर्व में स्थित है। यह चीन की सीमा से केवल 5 किलोमीटर की दूरी पर है। ठंड के मौसम, नवंबर से मई के महीने में यह झील पूरी तरीके से जमा रहता है।
इस झील से एक प्रवाह निकलती है जो त्शो लामो झील को इस झील से जोड़ती है और फिर यहाँ से तीस्ता नदी का उद्गम होता है।
PC: wikimedia.org

तोष

तोष

तोष हिमाचल प्रदेश का एक छोटा सा गांव है जोकि पार्वती घाटी में बसा हुआ है। आप तोष को कसोल का वैकल्पिक भी मां सकते हैं...यह एक बेहद ही खूबसूरत सा गांव है...यहां ज्यादा भीड़भाड़ ना होने के कारण आप यहां की प्राकृतिक सौन्दर्यता का भी लुत्फ उठा सकते हैं ।
PC: wikimedia.org

राधानगर बीच- अंडमान निकोबार

राधानगर बीच- अंडमान निकोबार

राधानगर बीच हैवलोक में बीच नम्बर 7 के नाम से खासा पॉपुलर है।इस बीच पर ज्यादा लोगो की भीड़भाड़ भी नहीं रहती है।
PC: wikimedia.org

धारचुला उत्तराखंड

धारचुला उत्तराखंड

धारचूला उत्तराखण्ड राज्य के अन्तर्गत कुमाऊँ मण्डल के पिथोरागढ जिले का एक गाँव है।धारचूला एक छोटा सा सुदूर क़स्बा है जो हिमालय से होकर गुज़रने वाले एक प्राचीन व्यापार- मार्ग से जुड़ा हुआ है।नगर चारों ओर से पहाड़ियों से घिरा हुआ है और विस्मयकारी दृश्य पैदा करता है। यहाँ के प्रमुख आकर्षणों में नारायण आश्रम, मानसरोवर झील, चिरकिला बाँध, काली नदी और ओम पर्वत हैं। नारायण आश्रम यहाँ से करीब 98 किमी दूर स्थित है और एक समय पर यहाँ 40 लोग रह सकते हैं। मानसरोवर झील एक तीर्थ है और यहाँ पवित्र स्नान के लिए अनेक तीर्थयात्री पहुँचते हैं।

Please Wait while comments are loading...