Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »बरबिल के ये खास स्थान बनाएंगे ओडिशा यात्रा को यादगार

बरबिल के ये खास स्थान बनाएंगे ओडिशा यात्रा को यादगार

लौह अयस्क और मैंगनीज का भंडार कहा जाने वाला बरबिल भारत के ओडिशा राज्य का एक छोटा मगर खूबसूरत शहर है। क्योंझर जिले में स्थित यह शहर कारो नदी के तट पर स्थित है। राज्य और केंद्र सरकार लिए भारी मात्रा में राजस्व पैदा करने के साथ-साथ बरबिल अपनी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत और प्राकृतिक खजाने के लिए भी जाना जाता है।

क्योंझर जिला अपने 38000 साल पुरानी चट्टानों के लिए लोकप्रिय है, जो भूगर्भ विज्ञान और दुनिया भर के पुरातात्विक सर्वेक्षणकर्ताओं द्वारा प्रमुख आकर्षण का केंद्र रहा है। संपूर्ण दृष्टि से देखा जाए तो बरबिल ओडिशा का एक महत्वपूर्ण शहर है। इस खास लेख में जानिए पर्यटन के लिहाज से यह शहर आपके लिए कितना खास है, जानिए यहां के चुनिंदा सबसे शानदार स्थानों के बारे में।

मुर्गा महादेव जलप्रपात

मुर्गा महादेव जलप्रपात

बरबिल भ्रमण की शुरूआत आप मुर्गा महादेव जलप्रपात से कर सकते हैं। यह स्थान प्राकृतिक सौदर्यता और धर्म का एक शानदार मिश्रण है। इस स्थान का नाम दो शब्दों से मिलकर बना है एक मुर्गा यानी मुरूगन (कार्तिकेय, भगवान शिव के पुत्र) और दूसरा महादेव यानी भगवान शिव।

प्राकृतिक रूप से यह स्थान ठाकुरानी पहाड़ियों से गिरने वाले दो झरनों के लिए जाना जाता है, जो बाद में एक नदी का रूप लेते हैं। घने जंगलों से घिरे होने के कारण यह स्थल कुदरती रूप से काफी खूबसूरत है। यहां पर्यटकों के साथ-साथ भारी संख्या में श्रद्धालुओं का भी आगमन होता है।

गोनासिका

गोनासिका

PC- Siddu1790

घाटियों और ढलानों के बीच स्थित ब्राह्मण्वर महादेव एक पवित्र धार्मिक स्थान है। स्थानीय निवासियों द्वारा यहां नियमित रूप से पूजा की जाती है। ब्रह्मेश्वर महादेव बैतरनी नदी के तट पर स्थित है जो भगवान शिव के अवतार माने जाते हैं। इसके अलावा यह स्थान बैतरनी नदी की उत्पत्ति के लिए भी जाना जाता है। यह नदी उद्गम स्थल से थोड़े दूर जाकर भूमिगत रास्ता अपना लेती है।

भूमिगत स्थान किसी गाय के नथूने जैसा दिखता है इसलिए इस जगह को गोनासिका के नाम से जाना जाता है। धार्मिक महत्व के कारण यह स्थल आसपास की प्राकृतिक सौंदर्यता के लिए भी काफी ज्यादा विख्यात है।

बड़ाघाघरा जलप्रपात

बड़ाघाघरा जलप्रपात

PC- Bishupriyaparam

इन स्थानों के अलावा आप बड़ाघाघरा जलप्रपात की सैर का प्लान बना सकते हैं। यह एक बारहमासी झरना है जो जहां साल भर पानी रहता है। यहां माच कंधन नाम की एक स्थानीय नदी इस जलप्रपात से 60मीटर की ऊंचाई से गिरती है।

एक जलप्रपात होने के साथ-साथ यह झरना आसपास के इलाकों के लिए एक बड़ा जल स्रोत भी है। यह स्थान एक शानदार पिकनिक स्पॉर्ट के रूप मे भी जाना जाता है। प्राकृतिक सुंदरता का लुफ्त उठाने के लिए आप यहां की यात्रा का प्लान कर कर सकते हैं।

सना घाघरा जलप्रपात

सना घाघरा जलप्रपात

PC-Kamalakanta777

बड़ाघाघरा जलप्रपात के अलावा आप सना घाघरा जलप्रपात की सैर का प्लान बना सकते हैं। यह जिले का एक प्रसिद्ध जलप्रपात है जो बड़ाघाघरा से 3 किमी ऊपर की ओर स्थित है। यह झरना लगभग 100 फीट की ऊंचाई पर स्थित है और खूबसूरत प्राकृतिक नजारों से भरा है।

यहां दूर-दूर तक फैला वनस्पति भंडार इस स्थान को खास बनाने का काम करता है। बरबिल भ्रमण के दौरान आप यहां की यात्रा का प्लान बना सकते हैं। प्रकृति प्रेमी से लेकर एडवेंचर के शौकीन यहां आ सकते हैं।

देवगांव

देवगांव

PC-Sadasiv Swain

उपरोक्त स्थानों के अलावा आप देवगांव की यात्रा का प्लान कर सकते हैं। देवगांव क्योंझर जिले का एक छोटा सा गांव है जो अपने धार्मिक महत्व के लिए जाना जाता है। यह गांव यहां की एक स्थानीय नदी के तट पर स्थित है। यह स्थान खुशालेश्वर मंदिर की वजह से ज्यादा लोकप्रिय है।

जानकारों के मुताबिक यह मंदिर 900ईसवी से संबंध रखता है। माना जाता है कि यह स्थान प्रारंभिक दिनों में बौध अनुयायियों के लिए महत्वपूर्ण स्थल था। आज भी उस दौर के प्राचीन अवशेषों का यहां देखा जा सकता है।

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X