Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »इम्फाल की सैर के दौरान इन स्थानों का जरूर करें भ्रमण

इम्फाल की सैर के दौरान इन स्थानों का जरूर करें भ्रमण

मणिपुर नदी घाटी के केंद्र में स्थित मणिपुर का राजधानी शहर इम्फाल प्राकृतिक दृश्यों के साथ साथ अपने प्राचीन किलों के माध्यम से अतीत की स्थापत्य कला का भली भांति चित्रण करता है। शहर चारों ओर से हरी-भरी घाटियों और लुभावनी पहाड़ियों से घिरा है, एक आरामदायक अवकाश के लिए यह स्थान आदर्श माना जाता है। यहां का शांत परिवेश आने वाले सैलानियों को बहुत हद तक प्रभावित करता है।

समुद्र तल से यह शहर 790 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है, जहां से आप प्रकृति के अद्भुत नजारों का आनंद आसानी से उठा सकते हैं। इस खास लेख में जानिए इम्फाल के कुछ सबसे खास पर्यटन गंतव्यों के बारे में जो आपकी पूर्वोत्तर यात्रा को बना देंगे शानदार।

लोकटक झील

लोकटक झील

PC- Harvinder Chandigarh

मणिपुर की लाइफ लाइन कही जाने वाली प्रसिद्ध लोकटक लेक पूर्वोत्तर भारत में सबसे बड़ी ताजे पानी की झील मानी जाती है। इसके अलावा इस झील को दुनिया की एकमात्र फ्लोटिंग झील होने का गौरव भी प्राप्त है।

आप यहां तैरते हुए फुमदी देख सकते है। फ़्लोटिंग द्वीपों को फुमदी कहा जाता है। तैरते हुए द्वीपों की ऐसी श्रृंखला आप इसी झील में देख सकते हैं। पर्यटन के अलावा इस झील के जल का इस्तेमाल पीने के लिए, सिंचाई और बिजली के उत्पादन में भी किया जाता है।

सिरोही नेशनल पार्क

सिरोही नेशनल पार्क

PC- G Devadarshan Sharma

झील के अलावा आप यहां वन्यजीवन को भी करीब से देखने का मौका प्राप्त कर सकते हैं। यह भारत के सबसे छोटे आरक्षित जंगलों में आता है जो मात्र 41 वर्ग किमी के क्षेत्र को भी कवर करता है। सिरोही नेशनल पार्क को 1982 में राष्ट्रीय उद्यान का दर्जा प्राप्त हुआ था।

पहाड़ी और घाटियों के परिदृश्य के साथ यह एक लुभावनी जगह है जहां आप रोमांचक अनुभव ले सकते हैं। जानवरों में आप यहां बाघ, तेंदआ और जंगली सूअर सहित अन्य जीवों को देख सकते हैं। इसके अलावा यहां फूल-वनस्पतियों की कई प्रजातियों मौजूद है। यहां उगने वाला सिरोही लिली यहां का सबसे खास फूल माना जाता है।

सेक्टा पुरातत्व लिविंग संग्रहालय

सेक्टा पुरातत्व लिविंग संग्रहालय

PC- Akkkanksha

प्राकृतिक स्थानों के अलावा आप यहां इतिहास को प्रदर्शित करने वाले स्थलों की सैर का भी आनंद ले सकते हैं। आप यहां सेफ्टा पुरातत्व लिविंग संग्रहालय की यात्रा का प्लान बना सकते हैं। इस संग्रहालय का निर्माण उस स्थान पर किया है जहां कभी अतीत से जुड़े खजाना होने की बात कही जाती है, हालांकि खजाने से जुड़े अभी तक कोई ठोस प्रमाण यहां से प्राप्त नहीं किए गए हैं।

इस म्यूजियम में 14 शताब्दी की अद्वितीय प्राचीन वस्तुओं का एक बड़ा संग्रह मौजूद है, जो यहां की आदीवासी इतिहास और लोकसंस्कृति को भली भांति प्रदर्शित करते हैं। दुर्लभ वस्तुओं में आप यहां गहने, मानव खोपड़ी, चांदी और तांबा और अन्य चीजों को देख सकते हैं।

कंगला किला

कंगला किला

PC- Mongyamba

पूर्वोत्तर राज्य मणिपुर स्थित कंगला एक प्रसिद्ध ऐतिहासिक स्थल है। सत्ता का मुख्य केंद्र कंगला किला कभी मणिपुर की संस्कृति का प्रतिनिधित्व करता था। मणिपुर की प्राचीन राजधानी के रूप कंगला किले को बड़े सम्मान का दर्जा प्राप्त था।

इतिहास के पन्ने बताते हैं कि अंग्रेजों की शक्तियों के शिकार होने से पहले यह किला 33 ईस्वी से 19वीं शताब्दी तक अपरिहार्य रहा। किले में शाही परिवारों के सदस्यों के शाही महल, मंदिर और कब्रगाह के मैदान शामिल थे। ऐतिहासिक और पुरातात्विक महत्व के लिए आप यहां की यात्रा का प्लान बना सकते हैं।

मणिपुर राज्य संग्रहालय

मणिपुर राज्य संग्रहालय

PC- Achumbani

उपरोक्त स्थानों के अलावा आप मणिपुर राज्य संग्रहालय की सैर का आनंद ले सकते हैं। इसे सिर्फ एक संग्रहालय नहीं कहा जा सकता है क्योकि यहां समय-समय पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयाजोन किया जाता है जो राज्य की संस्कृति को भली-भांति प्रदर्शित करते हैं। इस संग्रहालय का उद्घाटन भारत की स्वर्गीय पूर्व प्रधान मंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी ने 1969 में किया था।

इस संग्रहालय में ऐतिहासिक वस्तुओं का संग्रह, पुरातात्विक साक्ष्य, चित्रकारी और बच्चों की गैलरी अद्भुत हैं। लोगों का सामाजिक रूप से जागरूक करने का लिए इस संग्रहालय की भूमिका काबीलेतारीफ है।

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X