Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »रामेश्वरम के ये स्थान बनाएंगे आपकी धार्मिक यात्रा को सुखद

रामेश्वरम के ये स्थान बनाएंगे आपकी धार्मिक यात्रा को सुखद

दक्षिण भारतीय राज्य तमिलनाडु के पंबन द्वीप पर स्थित, रामेश्वरम भारत के सबसे खास धार्मिक/तीर्थ स्थलों में गिना जाता है। यहां रोजाना देश-विदेश के सैलानी और श्रद्धालु पवित्र भूमि के दर्शन और समुद्री आबोहवा का आनंद लेने के लिए आते हैं। यह एक ऐतिहासिक शहर है जहां कभी विभिन्न दक्षिण भारतीय राजवंशों द्वारा शासन किया गया था। इस शहर का उल्लेख भारतीय पौराणिक महाकाव्य रामायण में भी मिलता है।

तमिलनाडु राज्य में स्थित रामेश्वरम चार पवित्र धामों का हिस्सा है। रामेश्वरम शैव और वैष्णव अनुयायियों के लिए पवित्र स्थान है। इस खास लेख में जानिए पर्यटन के लिहाज से भारत का यह पवित्र स्थल आपके लिए कितना खास है। जानिए यहां के सबसे लोकप्रिय धार्मिक स्थलों के बारे में।

श्री रामाथस्वामी मंदिर

श्री रामाथस्वामी मंदिर

PC- Ssriram mt

रामेश्वरम भ्रमण की शुरूआत आप श्री रामाथस्वामी मंदिर के दर्शन से कर सकते हैं। यह मंदिर हिंदुओं के शैव संप्रदाय के 275 सबसे महत्वपूर्ण शिव मंदिरों में उल्खेनीय है। यह मंदिर हिन्दूओं के चार धामों में शामिल है। माना जाता है कि इस मंदिर की स्थापना भगवान राम द्वारा की गई थी। यह मंदिर द्रविड़ शैली में बनवाया गया है। मंदिर की सरंचना और वास्तुकला यहां आने वाले श्रद्धालुओं को प्रभावित करने का काम करती है।

मंदिर स्थल का विस्तार 12 शताब्दी के दौरान पाण्ड्य राजाओं द्वारा किया गया था। मंदिर की वर्तमान संरचना उन्हीं के द्वारा बनाई गई थी।

अग्नि तीर्थम

अग्नि तीर्थम

PC- Nsmohan

श्री रामाथस्वामी मंदिर के अलावा आप पवित्र स्थल अग्नि तीर्थम का दैवीय अनुभव ले सकते हैं। रामेश्वरम के रेतीले तट हिंदू तीर्थयात्रियों के लिए सबसे पवित्र स्थानों में से एक माने जाते हैं। अग्नि तीर्थम उन 22 स्थानों का समुह है जहां तीर्थयात्रि स्नान करते हैं। हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार रावण को मारने के बाद प्रभु राम ने इसी स्थान पर स्नान किया था।

इसलिए यह स्थान हिन्दू धर्म में पवित्र स्थान माना जाता है। यहां श्रद्दालुओं का जमावड़ा हमेशा लगा रहता है। अगर आप चाहें तो रामेश्वरम यात्रा के दौरान यहां पवित्र स्नान कर सकते हैं।

गंदमादन पर्वतम

गंदमादन पर्वतम

PC- Srinivasan97

इन स्थानों के अलावा आप रामेश्वरम से 3 किलोमीटर की दूरी पर स्थित गंदमादन पर्वतम का सैर का आनंद ले सकते हैं। यह द्वीप का सबसे उच्चतम बिंदु है। यह एक पवित्र स्थल है जिसका संबंध भगवान राम से है। माना जाता है कि इस स्थल पर भगवान राम के पैरों के निशान हैं।

पहाड़ी एक एक अद्भुत स्थान पर स्थित है इस बिंदु से पूरे द्वीप के मनोरम दृश्य देखे जा सकते हैं। रामेश्वरम भ्रमण के लिए निकले श्रद्धालु इस स्थान के दर्शन जरूर करते हैं।

पंचमुखी हनुमान मंदिर

पंचमुखी हनुमान मंदिर

PC- Bishalbaral9

आप यहां भगवान हनुमान का एक अद्बुत मंदिर देख सकते हैं, जहां हनुमान पांच सिरों के साथ विराजमान हैं। यह मंदिर भगवान हनुमान के अद्वितीय अवतार के लिए प्रसिद्ध है। ये पांच चेहरे भगवान हनुमान, भगवान आदिवराहा, भगवान नरसिम्हा, भगवान हैग्रिवा और भगवान गरुड़ के हैं। यह विशाल मूर्ति सेंथूरम पत्थर से बनाई गई है।

धनुषकोडी से लाई गईं भगवान राम, सीता और लक्ष्मण की प्राचीन मूर्तियों को भी यहां रखा गया है। इस अद्भुत मंदिर को देखने के लिए आप यहां की यात्रा कर सकते हैं।

 धनुषकोडी

धनुषकोडी

PC- Shubham Gupta

उपरोक्त स्थानों के अलावा आप यहां के प्राचीन स्थल धनुषकोडी की सैर का प्लान बना सकते हैं। यह स्थल रामेश्वरम द्वीप पर एक प्रसिद्ध पिकनिक स्पॉर्ट और तीर्थ स्थान है। धनुषकोडी का शाब्दिक अर्थ है धनुष का अंत । माना जाता है कि यह वो स्थान है जहां भगवान राम ने प्रसिद्ध रामसेतु को तैरते हुए पत्थरों के साथ बनाया था। रामेश्वरम आने वाले श्रद्धालु इस स्थल के दर्शन अवश्य करते हैं।

इन सब के अलावा आप यहां विभिन्न प्रवासी पक्षियों को भी देख सकते हैं। रामेश्वरम एक ऐसा शहर है जो भारतीय संस्कृति और हिंदू धर्म की समृद्धि का विशेष रूप प्रदर्शित करता है। जीवन में एक बार यहां की यात्रा अवश्य करनी चाहिए।

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X