Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »इस वीकेंड जानिये बैंगलोर के आस-पास की खूबसूरती

इस वीकेंड जानिये बैंगलोर के आस-पास की खूबसूरती

By Staff

कर्नाटक का खूबसूरत शहर बैंगलोर अपने आपमें ही पर्यटन स्थलों की एक धरोहर है,पर इस वीकेंड में जानिये क्या है बैंगलोर के आस-पास जो आपको दे सकता है यादगार पल। जहाँ आप अपने साथी, परिवार और दोस्तों के साथ मिलकर ट्रैकिंग, राफ्टिंग, बोटिंग और सुन्दर आकर्षित करने वाले दृश्यों का लुफ्त उठा सकते हैं।

बैंगलोर के आस-पास के प्रमुख रोमांचक पर्यटन स्थल- बन्नेरुघट्टा जैव उद्यान, दोद्दा आलादा मारा, वंडर ला पार्क (वंडरला बंगलौर,वंडरला कोच्चि), मुथ्यलामादुवु, रामनगर, शिव गंगा हिल, सावनदुर्ग, नंदी हिल्स, देवआर्यनदुर्ग, मेकेदतु, शिवासमूद्रम प्रपात, रंगाथिटटु पक्षी विहार आदि।

इस वीकेंड जानिये बैंगलोर के आस-पास की खूबसूरती

बन्नेरुघट्टा जैव उद्यान

बनरगट्टा वन्यजीवन उद्यान बैंगलोर शहर के दक्षिण में 22 किमी. की दूरी पर स्थित है। यह उद्यान लगभग 104 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है और इसके अंतर्गत बैंगलोर वन विभाग के अनेकल श्रेणी के दस संरक्षित वन आते हैं। 1971 में स्थापित इस उद्यान में प्रकृति रिजर्व, चिड़ियाघर, बच्चों का पार्क, मत्स्यालय, मगरमच्छ पार्क, संग्रहालय, तितली पार्क, साँप पार्क और यहाँ तक कि पालतू जानवर भी हैं। यहाँ के वनों में घने वृक्ष और कंटीली झाडियाँ भी हैं।

पढ़ें: 100 किलोमीटर की दूरी में जाने क्या है ख़ास बैंगलोर के आस पास

इस वीकेंड जानिये बैंगलोर के आस-पास की खूबसूरती

मुथ्यलामादुवु

मुथ्यलामादुवु बेहद आकर्षक पिकनिक स्थल है जो कि बैंगलोर से तक़रीबन 40 किलोमीटर की दूरी पर है। इस स्थल पर बेहद खूबसूरत करामाती झरना और एक क्लाकृतिक वाला मंदिर है। यह झरना जब गिरता है तब ऐसा व्यतीत होता है जैसे मोतियाँ बरस रही हों। अगर आप ट्रेकिंग के शौक़ीन हैं तो यह स्थान आपको बेहद पसंद आएगा।

पढ़ें: वो 250 किलोमीटर जो कर दें आपके टेंशन को छू मंतर हो जाएंगे आप रिलैक्स और फ़्रेश

इस वीकेंड जानिये बैंगलोर के आस-पास की खूबसूरती

Image Courtesy:Farrajak

नंदी हिल्स (नंदी दुर्ग)

बंगलौर से 60 किमी. की दूरी पर नंदी हिल्स स्थित है। नंदी हिल्‍स का इतिहास बेहद दिलचस्‍प है। इसकी उत्‍पत्ति के बारे में कई कहानियां प्रसिद्ध है। कुछ लोगों का मानना है कि इस पहाड़ी का नाम ऐसा इसलिए है क्‍योंकि इसका आकार सोते हुए बैल की तरह है। इस पहाड़ी पर निर्मित मंदिरों में चोल वंश की झलक स्‍पष्‍ट रूप से देखने को मिलती है। नंदी हिल्‍स पर भारत की आजादी की लड़ाई के सबूत भी मिलते है, यहां टीपू सुल्‍तान ने एक दुर्ग भी बनवाया था, जिसे नंदीदुर्ग के नाम से जाना जाता है जो भारत की आजादी की लड़ाई का महत्‍वपूर्ण हिस्‍सा है।

इस वीकेंड जानिये बैंगलोर के आस-पास की खूबसूरती

Image Courtesy:Srinivasa83

देवआर्यनदुर्ग

देवआर्यनदुर्ग बंगलुरु से 65कि.मी. दूर है। हरे घने जंगलों से घिरी देवआर्यनदुर्ग की चट्टानी पहाडि़याँ वास्तव में इस हिल स्टेशन की यात्रा को सुखद बनाती है। 3940 फीट की ऊँचाई पर स्थित होने के कारण इस शहर की जलवायु इसी प्रकार की है। देवआर्यनदुर्ग कर्नाटक के तुमकुर जि़ले में स्थित है और मंदिरों, जंगलों और साथ ही अद्भुत जलवायु तथा सुंदर नज़ारों के लिए प्रसिद्ध है। इस हिल स्टेशन पर स्थित भोगनरसिंह, योगनरसिंह और लक्ष्मी नरसिंह देवआर्यनदुर्ग मंदिरों तीन विषिष्ट ऊँचाइयों पर हैं। इन जंगलों में एक नर्सरी है जिसमें दुर्लभ आयुर्वेदिक पौधें हैं तथा कार फेस्टिवल और श्री नरसिंह जयंती यहाँ बहुत उत्साह से मनाई जाती है।

इस वीकेंड जानिये बैंगलोर के आस-पास की खूबसूरती

Image Courtesy:Titogeo

शिवासमूद्रम प्रपात

यह बैंगलोर से 139 किलोमीटर की दूरी पर है। यह झरना बेहद खूबसूरत है। झरना कावेरी नदी से जुड़ा हुआ है। ये झरना कावेरी नदी में गिरते हुए बेहद आकर्षक लगता है जिसकी ओर पर्यटक अपने आप खिंचे चले जाते हैं। यह झरना गिरते हुए घोड़े की पूँछ के आकार का हो जाता है। शिवासमूद्रम प्रपात कावेरी नदी पर है जो 98 मीटर की ऊँचाई से गिराता है। इसका उपयोग जल विद्दुत उत्पादन के लिए होता है। इस पर स्थापित जल विद्दुत गृह एशिया का प्रथम जल विद्दुत गृह है जिसकी स्थापना 1902 में हुई।

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X