» »जाने क्या है खास निजामो के शहर हैदरबाद में

जाने क्या है खास निजामो के शहर हैदरबाद में

Written By: Goldi

भारत एक ऐसा देश हैं..जहां हर सालों लाखो की तादाद पर्यटक घूमने आते हैं। अभी तक हमने आपको अपने आर्टिकल के जरिये उत्तर भारत के कई पर्यटन स्थलों के बारे में बताया इसी क्रम में हम आज आपको बताने जा रहें है दक्षिण भारत के खूबसूरत शहर हैदराबाद के बारे में।

                                       यात्रियों के लिए कुछ साधारण हेल्थ टिप्स!

दक्षिण भारत का एक बहुचर्चित पर्यटन स्थल हैदराबाद, वर्तमान आंध्र प्रदेश और तेलेंगाना की संयुक्त राजधानी है।आपको बताते चलें कि इस बेपनाह सुन्दर शहर की स्थापना कुतुब शाही वंश के शासक मोहम्मद कुली कुतुब शाही ने
1591 में की थी।

                              देखना है राजसी ठाठ-बाठ..तो चले आयो मैसूर पैलेस

हैदराबाद की खूबसूरती चारों तरफ खड़ी पहाड़ियों और उनके बीचो-बीच बहती मूसा नदी में देखी जा सकती है। इस नगर की खासियत यह है कि यहाँ का मौसम पूरे साल सुहावना व एक जैसा रहता है।

                              अगर है दिलेरी...तो जरुर घूमे स्नेक पार्क में

निजामी ठाठ-बाट वाले इस शहर में मुख्य आकर्षण चारमीनार, हुसैन सागर झील, बिड़ला मंदिर, सालारजंग संग्रहालय आदि है जो इस शहर को अलग पहचान देते हैं। तो चलिए जानते हैं कौन कौन से हैं हैदराबाद के बेहतरीन दर्शनीय स्थल।

चारमीनार

चारमीनार

चारमीनार का निर्माण 1591 में नवाब कुली कुतुबशाह ने करवाया था। कहा जाता है हैदराबाद में भयंकर महामारी प्लेग पर विजय पाने की ख़ुशी में नवाब कुली कुतुबशाह ने इसे बनवाया था। इस मीनार की ऊंचाई 180 फुट है यह एक विजय का ऐतिहासिक सिम्बल है।PC:Nikhilb239

चोमहला पैलेस परिसर

चोमहला पैलेस परिसर

चारमीनार के पास स्थित, इस परिसर में चार महल शामिल है जो मुगल और यूरोपीय शैलियों में निर्मित है और जहाँ हैदराबाद के निजाम और शाही शासकों की तस्वीरें और अन्य यादगार चीज़े हैं।PC:Arvind.vindhu

नेहरू चिड़ियाघर

नेहरू चिड़ियाघर

नेहरू चिड़ियाघर देश का ही नहीं बल्कि पूरे एशिया का सबसे बड़े चिड़ियाघरों में से एक है। यहाँ आप लॉयन सफारी तथा सफेद शेर लुफ्त उठा सकते हैं। इन पशुओं के अलावा आप यहाँ अफ्रीका तथा ऑस्ट्रेलिया के भी कई किस्म के वन्य प्राणी देखने को पाएंगे।PC: Bharadwaj Kasula

जामा मस्जिद

जामा मस्जिद

जामा मस्जिद चारमीनार के पास ही यह मस्जिद स्थित है। जामा मस्जिद भी बेहतरीन कला की एक मिसाल है। यह हैदराबाद की प्राचीन मस्जिदों में से एक है इसे नवाब कुली कुतुबशाह ने बनवाया था।PC: Arpan.chottu

पैग़ाह मकबरे

पैग़ाह मकबरे

पैग़ाह मकबरे पैगाह मकबरा का संबंध पैगाह के शाही परिवार से है, जिसे हैदराबाद में शम्स उल उमराही परिवार के नाम से भी जाना जाता है। चूने व गारे से बने ये मकबरे प्राचीन काल बखूबी तरीके से याद दिलाते हैं। हैदराबाद के पीसाल बंदा में मौजूद इस मकबरे को मकबरा शम्स उल उमरा के नाम से भी जाना जाता है।PC: Arvind Ramachander

चेरुवु झील

चेरुवु झील

चेरुवु झील पिकनिक मनाने के लिए एक आकर्षण जगह है। यह जुबली हिल के पीछे स्थित है। पर्यटन की यहाँ अक्सर भीड़ उमड़ी रहती है।
PC: Vishnu8500

कुतुबशाही मकबरे

कुतुबशाही मकबरे

किले के पास में यह मकबरे जैसे बल्ब के आकर और गोलकार में नज़र आते हैं। यहाँ कुतुबशाही वंश के शासकों के मकबरे हैं।
PC: Alaka123

बिड़ला तारागृह तथा विज्ञान संग्राहलय

बिड़ला तारागृह तथा विज्ञान संग्राहलय

बिड़ला तारा गृह पूरे देश के ताराग्रहों में से एक हैं। यह तारागृह हिंदी,अंग्रेजी और तेलुगु में स्काई शो आयोजित करता है। यह नगर के बीच में स्थित है साथ ही नगर की शान को बढ़ाने में इसका अहम योगदान है। खासकर के बच्चों के लिए यह आकर्षण का केंद्र है।PC:Malyadri

गोलकुंडा किला

गोलकुंडा किला

गोलकुंडा कभी हीरों की खानों के लिए विश्व-भर में प्रसिद्ध था। 11 किलोमीटर के एरिये में फैले इस किले की मज़बूत ग्रेनाइट दीवार जो किले को चारों ओर से घेरे हुए है इसमें आठ प्रवेश द्वार हैं। इस किले की खासियत यह है कि यहाँ के मुख्य प्रवेश द्वार पर गुम्बद के नीचे खड़े होकर ताली बजाने से उसकी आवाज़ को किले के सबसे ऊपरी हिस्से तक सुना जा सकता है।PC:Karthik Uppaladhadiam

हुसैन सागर झील

हुसैन सागर झील

इस झील के बीचो-बीच महात्मा बुध्द की विशाल प्रतिमा विशेष रूप से देखने लायक है। इस झील का निर्माण हज़रत हुसैन शाह वली ने इब्राहिम कुतुबशाह के काल में करवाया गया था। यह पर्यटकों के आकर्षणों में से एक है
यहां आकर पर्यटक शांति का अनुभव करते हैं।PC: Shrichandray

श्री वेंकटेश्वर मंदिर (बिड़ला मंदिर)

श्री वेंकटेश्वर मंदिर (बिड़ला मंदिर)

सफ़ेद संगमरमर से बना यह मंदिर किसी अद्भुत खूबसूरती से काम नहीं है। काले पहाड़ पर बना यह मंदिर उत्कृष्ट कला का बेजोड़ नमूना है। इस मंदिर की खासियत यह है कि इसकी ऊंचाई पर चढ़ कर पूरे शहर का दीदार किया जा सकता है। जो खासा लोकप्रिय है।PC: Srinayan Puppala

हैदराबाद कब जाएँ

हैदराबाद कब जाएँ

हैदराबाद कब और किस मौसम में जाएँ इसकी अधिक जानकारी के लिए बस एक क्लिक करें ठंड के समय में न ही ज्यादा ठंड पड़ती है और न ही ज्यादा गर्मी, इसलिए यह मौसम हैदराबाद घूमने के लिए सबसे अच्छा माना जाता है। हालांकि आप साथ में कुछ गर्म कपड़े जरूर रख लें, क्योंकि सुबह और शाम में यहां ठंड थोड़ी बढ़ जाती है।PC:Adityamadhav83

कैसे जाए

कैसे जाए

वायु मार्ग द्वारा
हैदराबाद एयरपोर्ट से नियमित अंतराल पर राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय उड़ानें मिलती हैं। हैदराबाद में दो एयरपोर्ट है। राजीव गांधी टर्मिनल से जहां अंतरराष्ट्रीय उड़ानें मिलती हैं, वहीं एनटी रामा राव टर्मिनल से घरेलू उड़ानें संचालित होती हैं। बेहतर होगा कि आप एयर टिकट पहले ही बुक करा लें।
PC: Himmat Rathore

रेल मार्ग द्वारा

रेल मार्ग द्वारा

दक्षिण रेलवे हैदराबाद को देश के विभिन्न हिस्सों से जोड़ता है। दक्षिण रेलवे का मुख्यालय सिकंदराबाद में है। शहर के मुख्य रेलवे स्टेशन सिकंदराबाद से ढेरों ट्रेनें आती और जाती हैं।PC:Sissssou

सड़क मार्ग द्वारा हैदराबाद

सड़क मार्ग द्वारा हैदराबाद

आंध्र प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम के जरिए हैदराबाद राज्य के विभिन्न शहरों और पड़ोसी राज्यों से भी जुड़ा हुआ है। बसें काफी आरामदायक होती हैं और किराया भी ज्यादा नहीं होता है। प्राइवेट टूर एंड ट्रेवल कंपनियां भी टैक्सी सेवा उपलब्ध कराती है।

Please Wait while comments are loading...