• Follow NativePlanet
Share
» »कश्मीर जाकर अगर कहवा या रोगन जोश ना चखा, तो आपकी यात्रा अधूरी है बॉस!

कश्मीर जाकर अगर कहवा या रोगन जोश ना चखा, तो आपकी यात्रा अधूरी है बॉस!

Written By:

उत्तर भारत ने स्थित कश्मीर की खूबसूरती को जिसने भी निहारा वो उसका कायल हो गया। यहां के हरे भरे मैदान, खूबसूरत बर्फ से ढके पहाड़ और अद्भुत प्राकृतिक सौंदर्य पर्यटकों को अपना दीवाना बना देता है।

यहां पूरे साल लाखों पर्यटक घूमने और अपनी छुट्टियां बिताने आते हैं यह अपनी प्राकृतिक खूबसूरती के साथसाथ साहसिक गतिविधियों के लिए भी प्रसिद्ध है, जैसे ट्रैकिंग,राफ्टिंग,स्कीइंग और पैराग्लाइडिंग। इसके अलावा एक और चीज है, जो पर्यटकों को कश्मीर में बेहद भाती है।

आप सोच रहे होंगे क्या, तो बता दें, वह खास चीज कुछ और नहीं बल्कि यहां के लजीज व्यंजन हैं। कश्मीर ने अपने विशेष व्यंजन खुद ही ईजाद किए हैं। कश्‍मीरी व्‍यंजन अगर आप एक बार खा लें तो उसका स्‍वाद जिंदगी भर नहीं भूल पाएंगे। उनका भोजन अन्य राज्यों से अनूठा है। वहां जो चावल पैदा होता है, वह काफी हल्का और खाने में खुशबूदार होता है। इसके अलावा यहां की चाय खुशबूदार हरी पत्तियों वाली होती है, जिसे कहवा कहते हैं। इसे समोवार में परोसा जाता है। तो आइये इस क्रम में जानते हैं कि, आपको अपनी कश्मीरी यात्रा के दौरान यहां के कौन कौन से खास लजीज व्यंजनों को जरुर चखना चाहिए

चावल का आटा रोटी

चावल का आटा रोटी

प्राचीन समय में चावल का आटा रोटी एक मुख्य खाद्य पदार्थ के रूप में बनाया गया था जो खाने या रात के भोजन के दौरान खाया जाता था, आज अधिकांश कश्मीरी इसे शाम को नाश्ते के रूप में खाते हैं।Pc:Affaf Ali

वाजवान

वाजवान

इसके छत्तीस कोर्सेज में पंद्रह से तीस तक मीट के होते हैं। इसमें मेहमान चार-चार के जोड़े में बैठते हैं और धातु की एक बड़ी सी प्लेट ‘त्रामी' में से खाना शेयर करते हैं। इस डिश में मसालों जैसे केसर, मिर्च, हरी इलायची, सौंफ, नमक, इमली, हल्दी, प्याज़, दालचीनी स्टिक और पाउडर, तेजपत्ता, लौंग, काली मिर्च और जीरा आदि की जरूरत होती हैं।

रीस्टा

रीस्टा

यह भी एक कश्मीरी लजीज व्यंजन है, जोकि कश्मीरी व्यंजन वज़वान का हिस्सा है। यह शादियों और त्योहारों के दौरान पकाया जाता है। मसालेदार बोन लेस मीट और दही आधारित ग्रेवी वाला व्यंजन है।Pc:Oniongas

रोगन जोश

रोगन जोश

ये खूब तरीदार मीट होता है, जिसे दही में पकाया जाता है और उसमें मसालों और अन्य सामग्री एक विशेष अनुपात में डाली जाती है। इसमें काश्मीर की प्रसिध्य लाल मिर्च उपयोग होती है, जिस वजह से इसका रंग गहरा लाल होता है। रोगन जोश सभी त्यौहार, पार्टी के लिए फेमस है. नॉनवेज खाने वालों के लिए ये पसंदीदा डिश है। जिसे रोटी, पराठा, तंदूरी रोटी, चावल के साथ सर्व किया जाता है।Pc: gahdjun

यख्नी

यख्नी

ये कुछ-कुछ रोगनजोश से मिलती है। इसका सुर्ख लाल रंग कश्मीरी मिर्चो से आता है। यह रात के खाने के लिये बिल्‍कुल अच्‍छा माना जाता है क्‍योंकि इसमें मसालों का ज्‍यादा इस्‍तमाल नहीं किया जाता है।

कहवा

कहवा

अगर आप कश्मीर में हैं, तो यहां की हरी पत्तियों से पूर्ण कहवा चाय का का स्वाद लेना कतई ना भूलें।Pc:Pawneegoddess

चम्मन (पीला पनीर)

चम्मन (पीला पनीर)

त्यौहारों और जन्मदिन, वर्षगांठ आदि जैसे अन्य अवसरों के दौरान बनाया जाने वाला चामन एक लोकप्रिय पकवान है। कश्मीरी ताजा पनीर बनाकर इसे फ्राइंग करके, और फिर हल्दी ग्रेवी के साथ मिश्रण करते हुए यह पकवान बनाते हैं।

तबाक माज

तबाक माज

तबाक माज, अमेरिकी और ब्रिटिश मटन चॉप्स का कश्मीरी संस्करण है। जिसे मिर्च पाउडर और नमक में फ़्राय किया जाता है।Pc: Miansari66

रोठ

रोठ

रोठ एक मीठी रोटी है, जिसे कश्मीरी मीठे के रूप में खाना पसंद करते हैं, इसे आटा, घी, चीनी से बनाया जाता है।

जन्नत की सैर करनी हो तो, जम्मू-कश्मीर कि यात्रा ज़रूर करें

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स