Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »महाराष्ट्र के समर्द्ध इतिहास को दर्शाता रत्नागिरी का जयगढ़ किला

महाराष्ट्र के समर्द्ध इतिहास को दर्शाता रत्नागिरी का जयगढ़ किला

By Namrata Shatsri

मुंबई में करने को बहुत कुछ है, लेकिन कभी कभी हमे शहर घूमने के साथ साथ उस जगह के बारे में काफी कुछ ज्ञात होता है। जैसे जब आप महाराष्ट्र को घूमने निकलेंगे तो आप इस राज्य के समर्द्ध इतिहास से वाकिफ होंगे।

मुंबई का सबसे बड़ा मछली बाजार-भउचा धक्का

महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई के आसपास कई खूबसूरत किले और इमारते आदि है, जो पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती हैं। इसी में से एक है जयगढ़ का किला..जोकि मुंबई से 320 किमी और पुणे से 300 किमी की दूरी पर स्थित है। यह किला करीब 4 एकड़ में फैला हुआ है..यह किला भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा सरंक्षित है।

महाराष्ट्र का सिंधुदुर्ग किला: समुद्र में तैरता ऐतिहासिक आकर्षण!

आइये स्लाइड्स में जानते हैं, मुंबई से जयगढ़ किले का रूट

मुंबई से जयगढ़ किले का रूट

मुंबई से जयगढ़ किले का रूट

रूट 1 : छेद्दा नगर - बैंगलोर-मुंबई राजमार्ग - पेन-खोपोली रोड़ - एसएच 92 - पटनसई में एनएच 66 - एसएच 78 - एसएच 105 - तवासल में एमएच एसएच 4 - सखार महोल्‍ला - जयगढ़ किला (320 किमी - 7 घंटे)

रूट 2 : छेद्दा नगर - बेंगलुरु-मुंबई राजमार्ग - एमएच 48 - मंगवाड़ी - उंबराज - चिपलुन रोड़ - चिपलुन में एनएच 66 - एसएच 105 - एमएच एसएच 4 तवासल - सखार महोल्‍ला - जयगढ़ फोर्ट (444 किमी - 8 घंटे 40 मिनट)

इन दोनों ही रूटों पर एमएच एसएच 4 लिया जा सकता है।

नवी मुंबई में क्‍या देखें

नवी मुंबई में क्‍या देखें

मुंबई से 22 किमी दूर स्थित नवी मुंबई एक मे‍ट्रोपोलिटन शहर है। पाम बीच मार्ग से ड्राइव करते हुए आपको सड़क के किनारे कई समुद्रतट और सुंदर नज़ारे दिखाई देंगें। खारगढ़ में पंडावकड़ा झरना और महापे में पार्सिक पर्वत पर ट्रैकिंग की जा सकती हैं। वंडर्स पार्क में सैर का मज़ा भी ले सकते हैं।PC:Anurupa Chowdhury

दुरशेत में ट्रैकिंग

दुरशेत में ट्रैकिंग

पश्चिमी घाट में अंबा नदी के तट पर खोपोली के पास स्थित दुरशेत में प्रकृति से जुडे कई प्रीमियर एपिसोड़ की शूटिंग हो चुकी है। इस जगह पर सागौर के पेड़ों की भरमार है।

पत्तों से भरे इसके जंगली क्षेत्र में ड्रैगनफ्लाई, झरने, नदियां और मंदर आदि दिखते हैं। मुंबई और पुणे से काफी नज़दीक होने के कारण मुंबई और पुणे वासियों के लिए वीकएंड पर घूमने के लिए ये जगह बैस्‍ट है। दुरशेत के दो पहाड़ी किले सरसगढ़ और सुधागढ़ ट्रैकिंग के लिए लोकप्रिय हैं।PC: Prachi.bangde

मानगांव में मनगढ़ किला

मानगांव में मनगढ़ किला

दुरशेत से 70 किमी दूर मनगांव के मशिदवाड़ गांव में मनगढ़ किला स्‍थित है। छत्रपति शिवाजी ने अपने साम्राज्‍य को और शक्‍तिशाली बनाने के लिए रायगढ़ के शानदार किले के बाद इस किले को बनवाया था।

मानगढ़ किला अब नष्‍ट हो चुका है लेकिन ट्रैकर्स के बीच ये बहुत लोकप्रिय है।PC:Aditya Telange

रायगढ़ किला

रायगढ़ किला

मानगढ़ किले से 31 किमी और छत्रपति शिवाजी महा राजी की राजधानी जयगढ़ से 26 किमी दूर है रायगढ़ का किला। मराठा साम्राज्‍य की गद्दी संभालने के बाद शिवाजी ने इस किले को बनवाया था।

2700 फीट की इस सरंचना को 1674 में बनवाया गया था और इस किले तक पहुंचने के लिए 1737 सीढियां चढ़नी पड़ती है। साम्राज्‍य की सुरक्षा के लिए रायगढ़ किले के चारों ओर कई किले बनाए गए हैं। 1818 में इस पर ब्रिटिशों ने अपना कब्‍जा कर लिया था।

PC:rohit gowaikar

काशेदी घाट

काशेदी घाट

महारारष्‍ट्र में काशेदी घाट के घुमाव सबसे ज्‍यादा खतरनाक हैं। हालांकि इसके पहाड़ी रास्‍ते से सावित्री नदी का खूबसूरत नज़ारा दिखता है। हाईवे इस नदी के तट पर बनाया गया है।

काशेदी घाट को भारत का सबसे भूतिया हाईवे कहा जाता है। इस हाईवे के बारे में कहा जाता है कि यहां रहने वाले भूत-प्रेत मांस खाते हैं। इसलिए इस हाईवे पर मांस आदि ले जाना मना है। इस हाईवे पर सारा मांसाहारी भोजन अपने आप गायब हो जाता है।

इस हाईवे पर चौकन्‍ना होकर सफर करें और कहीं भी गाड़ी ना रोकें।

PC:Ankur P

चिपलुन

चिपलुन

काशेदी से 57 किमी दूर छोटे से गांव चिपलुन में देखने के लिए कई दिलचस्‍प जगहें हैं। चिपलुन शब्‍द का अर्थ होता है भगवान परशुराम का स्‍थल।

इस जगह भगवान परशुराम मंदिर है। श्री कुल्‍सवामिनी भवानी वाघजय मंदिर, सवातसदा झरना, गोवलकोट किला आदि चिपलुन के दर्शनीय स्‍थल हैं।PC:Abhisek Sarda

जय गढ़ किला

जय गढ़ किला

महाराष्‍ट्र के रत्‍नागिरि जिले में स्थित समुद्रतटीय किला है जयगढ़। यह भारत के पुरातत्व सर्वेक्षण के तहत आता है।

माना जाता है कि इस किले को 14वीं शताब्‍दी में बीजापुर के सुल्‍तान ने बनवाया था और बाद में इस पर शिवाजी महाराज की सेना के कमांडर इन चीफ ने कब्‍जा कर लिया था। इसके बाद 1818 में इस पर ब्रिटिशों का कब्‍जा हो गया।

ये किला 16,000 वर्ग मीटर में फैला है। खंडहर हो चुके इस‍ किले के चारों ओर खाई और मजबूत गढ़ है।PC:Nilesh2 str

जयगढ़ लाइटहाउस

जयगढ़ लाइटहाउस

1931 में इस लाइटहाउस को पूरी तरह से कच्‍चे लोहे से बनाया गया था। इसका निर्माण ब्रिटिशों ने करवाया था। ये लाइटहाउस किले के काफी नज़दीक है और यहां से अरब सागर में आने वाले जहाज़ों को देखा जा सकता है।

वैसे तो ये दृश्‍य किले से भी दिखाई देता है लेकिन लाइटहाउस से अरब सागर का नज़ारा ज्‍यादा शानदार होता है।

PC:Pradeep717

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स

We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Nativeplanet sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Nativeplanet website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more