» »सिर्फ ताजमहल ही नहीं ये खूबसूरत इमारतें भी है आगरा की शान

सिर्फ ताजमहल ही नहीं ये खूबसूरत इमारतें भी है आगरा की शान

Written By: Goldi

आगरा उत्तर प्रदेश का ऐतिहासिक शहर है. जिस पर ज्‍यादातर मुगलों का शासन रहा है इसलिए यहां पर मुगलों द्वारा बनवाई गई कई इमारतें हैं। इसका जिक्र महाभारत में अग्रवेना के रूप में भी किया गया है। वर्तमान आगरा की खोज सोलहवीं शताब्‍दी में सिकंदर लोधी ने की थी जिसके बाद इस पर बाबर की हुकूमत थी।

उत्तर प्रदेश में यात्रा करने के लिए10 खूबसूरत स्थल

जब आगरा पर अकबर की हुकुमत थी तब, मुगल बादशाह अकबर ने फतेहपुर सीकरी का निर्माण करवाया था जोकि 15 वर्षों तक उसकी राजधानी रही थी। आगरा शहर के लिए ये सुनहरा दौर था। इसे अकबराबाद के नाम से भी जाना जाता था। इसके बाद जहांगीर और फिर शाहजहां का शासन रहा। 

शाहजहां के शासनकाल में आगरा शहर को बहुत लोकप्रियता मिली थी। इस दौरान शाहजहां ने दुनिया की सबसे खूबसूरत इमारत और मुगल स्‍थापत्‍य कला का बेजोड़ नमूना ताज महल बनवाया था। मुगलों के बाद आगरा पर मराठाओं और फिर ब्रिटिशों का शासन रहा है।

भारत के पांच प्राचीन शहर जो दर्शाते हैं यहां का कल्चर

यमुना किनारे स्थित आगरा घूमने का सबसे अच्छा समय अक्टूबर से मार्च तक का है। यह इंडो-गंगा के मैदान पर स्थित है और ये शहर ग्रीष्मकाल के साथ उष्ण उपोष्णकटिबंधीय जलवायु को दर्शाता है। दिल्‍ली, जयपुर के साथ आगरा गोल्‍डन त्रिकोण सर्किट का हिस्‍सा है।

ताज महल

ताज महल

रबींद्रनाथ टैगोर के अनुसार ताज महल एक ऐसी इमारत है जिसे शाहजहां ने अपनी पत्‍नी मुमतरज महल की मृत्‍यु के शोक में बनवाया था। 1632 ईस्‍वीं में इस इमारत का निर्माण शुरु हुआ था और ये 1648 ईस्‍वीं में बनकर तैयार हुई थी। माना जाता है कि इस इमारत को बनाने में रोज़ 20000 मज़दूर काम करते थे और इसे बनने में पूरे 17 साल का समय लगा।

सफेद संगमरमर से बने ताज महल को यूनेस्‍को द्वारा विश्‍व धरोहर की सूची में शामिल किया गया है। ताज महल को प्रेम का प्रतीक कहा जाता है। दुनियाभर से पर्यटक इसे देखने के लिए आगरा आते हैं।

आगरे का किला

आगरे का किला

आगरे के किले को लाल किला, फोर्ट रोज और आगरे का लाल किला भी कहा जाता है। इसे 1654 में अकबर ने बनवाया था। यह एक सैन्य चौकी थी लेकिन यहां पर शाही लोग भी रहा करते थे। ये किला पूरी तरह से लाल बलुआ पत्‍थर से बनाया गया है और यह 1573 ईस्‍वीं में बनकर तैयार हुआ था।

इस किले में कुछ खूबसूरत स्‍थापत्‍य कला के आकर्षण मौजूद हैं जैसे शीशे से बनी दीवार शीश महल, शाही बगीचा अंगूरी बाग, राज दरबार की महिलाओं के लिए बनी नगीना मस्जिद आदि।

जामा मस्जिद

जामा मस्जिद

ये भारत की सबसे बड़ी मस्जिदों में से एक है। आगरे के किले के बिलकुल विपरीत में स्थित है जामा मस्जिद। इसे 1648 में शाहजहां द्वारा अपनी बेटी जहांनारा बेगम के लिए बनवाया गया था। औरंगजेब द्वारा शाहजहां को कैद करने के दौरान जहांनारा ने ही उनकी देखभाल की थी।

ये मस्जिद लाल बलुआ पत्‍थर से बनी है और इसे सफेद संगमरमर से सजाया गया है। शहर के मध्‍य में स्थित जामा मस्जिद के आसपास बाज़ार भी लगता है।PC: Varun Shiv Kapur

खास महल

खास महल

आगरा के किले में स्थित है खास महल और आगरा आने वाले पर्यटकों को ये जगह जरूर देखनी चाहिए। इसे शाहजहां द्वारा अपनी बेटियों जहांआरा और रोशनआरा के लिए बनवाया गया था। सफेद संगमरमर से बने इस खूबसूरत महल के एक ओर अंगूरी बाग तो दूसरी ओर बहती हुई नदी है।

महल की छत पर बड़े पैमाने पर भित्ति चित्र और नक्काशी की गई है। महल को पेंट करने के लिए सोने और नीले रंग के शाही रंगों का उपयोग किया गया है।PC: A.Savin

चीनी का राउजा

चीनी का राउजा

इसका निर्माण शाहजहां के राज दरबार के प्रधानमंत्री और अल्‍लामी के महान कवि मौलाना शुक्ररल्‍लाह शिराजी द्वारा करवाया गया था। उन्‍हें स्‍वयं के मकबरे का निर्माण करवाने का शौक था और इसलिए उन्‍होंने 1635 में चीनी का राउजा का निर्माण करवाया।

इसे चीन का किला भी कहा जाता है। प्रधानमंत्री ने इस इमारत के निर्माण के लिए चमकीला टाइलों को चुना था। इस मकबरे की वास्तुकला को अपरंपरागत माना जाता है क्योंकि इसमें एक अप्राकृतिक गुंबद है।

 पंच महल

पंच महल

फतेहपुर सीकरी के पश्चिमी छोर पर स्थित पांच मंजिला इमारत है पंच महल। इस महल को अकबर की रानियों के लिए बनवाया गया था। यहां से वो ठंडी हवा का मज़ा लेती थीं।

मुगल परिवार की महिलाओं के लिए इसमें 176 खंभे भी लगाए गए थे ताकि वे बाहर के खूबसूरत नज़ारे और ठंडी हवा का लुत्‍फ उठा सकें। ये पूरी इमारत हवादार है और गर्मी के मौसम में आगरा के इस महल का मज़ा ही कुछ और है। कहा जाता है कि इस महल के आंगन में अकबर लड़कियों का नृत्‍य देखते हुए चेकर बोर्ड खेलते थे।PC:Akhil213

सुर सरोवर पक्षी अभ्‍यारण्‍य

सुर सरोवर पक्षी अभ्‍यारण्‍य

आगरा का ये छोटा सा अभ्‍यारण्‍य उत्तर प्रदेश के पक्षी अभ्‍यारण्‍यों में बहुत खास है। इसमें कीथम झील का मीठा पानी भी है।

सुर सरोवर का यह नाम मशहूर हिंदी कवि सूरदास के नाम पर रखा गया है। उनका जन्‍म इसी क्षेत्र के आसपास हुआ था एवं इसे 1991 में अभ्‍यारण्‍य घोषित किया गया था। इस अभ्‍यारण्‍य के परिसर में आपको स्‍लोथ बीयर भी देखने को मिलेंगें। अभ्‍यारण्‍य की झील में आप बोटिंग का मज़ा भी ले सकते हैं।PC:Martin Mecnarowski

जहांगीर महल

जहांगीर महल

आगरा के किले का विशाल हिस्‍सा है जहांगीर पैलेस। अकबर ने इस महल को अपने बेटे जहांगीर के लिए बनवाया था। जहांगीर की पत्‍नी नूर जहां इस महल में रहा करती थीं। ये महल मुगल स्‍थापत्‍यकला का खूबसूरत उदाहरण है। लाल रंग के बलुआ पत्‍थरों से बने इस जहांगीर महल पर हिंदू और इस्‍लामकि शैली में चित्र बनाए गए हैं।

जहांगीर के बेटे शाहजहां ने इस किले के अधिकांश भाग को बर्बाद कर दिया था। इस महल के सभी हिस्‍सों में से हौज-ई-जहांगीरी सबसे ज्‍यादा बेहतर स्थित में है। इसे पानी एकत्रित करने के लिए एक ही पत्‍थर से बनाया गया है।PC:Sanyam Bahga

अंगूरी बाग

अंगूरी बाग

1637 में अंगूरी बाग को शाहजहां द्वारा बनवाया गया था। अंगूरी बाग का मतलब है अंगूरों का बाग। यह बाग खास महल और लाल बलुआ पत्‍थर की दीवारों से घिरा हुआ। अंगूरी बाग में मुख्‍य रूप से रानियां रहा करती थीं।

यह बगीचा सालभर में रसदार और रसीले अंगूरों और फूलों की फसल के लिए प्रसिद्ध था। इस बाग के साथ ही शाही महिलाओं के लिए हमाम यानि नहाने का स्‍थान बनाया गया था। जहांगीर महल के पास स्थित कई टैंकों से इस बाग में पानी की आपूर्ति की जाती थी।PC: Wiki-uk

मोती मस्जिद

मोती मस्जिद

मोती मस्जिद को भीतर से सफेद संगमरमर और बाहर से लाल बलुआ पत्‍थरों से बनाया गया है। इस मस्जिद के बाहर सूर्य घड़ी स्थित है। मस्जिद की पूर्वोत्तर की ओर विशाल और मुख्‍य प्रवेश द्वार है।

मुख्‍य प्रार्थना कक्ष के एक ओर महिलाओं के लिए अलग से प्रार्थना कक्ष बनाया गया है। मुख्य प्रार्थना कक्ष में तीन घुमावदार गुंबदों का मुकुट है।

PC: Mnyaseen

Please Wait while comments are loading...