» »इस गर्मी की छुट्टी ना मनाली..ना शिमला..सिर्फ उत्तराखंड

इस गर्मी की छुट्टी ना मनाली..ना शिमला..सिर्फ उत्तराखंड

Written By: Goldi

उत्तर भारत में आने वाले दो महीने बेहद गर्मी के होने वाले हैं..ऐसे में सभी लोग गर्मी से निजात पाने के ठंडे और प्राकृतिक हिल स्टेशन की तलाश करते हैं। अगर आप इस गर्मी किसी ठंडी जगह जाने की प्लानिंग कर रहें है तो उत्तराखंड एकदम बेस्ट प्लेस है।

भारत में रहकर इनके चक्कर में नहीं पड़े तो...आपने जीवन में कुछ नहीं किया

उत्तराखंड में आपको प्रकृति की अनंत सुंदरता में देवत्व नजर आएगा। हरेभरे मैदान और खूबसूरत पहाडि़यां, ऐसा लगता है जैसे प्रकृति ने यहां अपने अनुपम सौंदर्य की छटा दिल खोल कर बिखेरी है। यही वजह है कि देशी और विदेशी पर्यटक यहां अनायास खिंचे चले आते हैं और सुकून अनुभव करते हैं। अपनी इन्हीं खूबियों के चलते उत्तराखंड घुमक्कड़ों की चहेती जगह है। आइये जानते हैं उत्तराखंड की 15 खूबसूरत जगहों के बारें में

फूलों की घाटी

फूलों की घाटी

उत्तराखंड के हिमालय क्षेत्र में स्थित वैली ऑफ फ्लावर्स जिसे आमतौर पर ‘फूलों की घाटी' कहा जाता है,यह भारत का राष्ट्रीय उद्यान है।नंदा देवी राष्ट्रीय उद्यान और फूलों की घाटी राष्ट्रीय उद्यान सम्मिलित रूप से विश्व धरोहर स्थल है। फूलों की घाटी में पर्यटक बर्फ से ढके पर्वतऔर फूलों की पांच सौ से अधिक प्रजातियों से सजा इस खूबसूरत नजारे को देख सकते हैं।
PC:Mahendra Pal Singh

औली

औली

औली को भारत का छोटा स्विट्जर्लेंड भी कहते हैं। यहां आप दूर दूर तक फैली हुई प्राकृतिक सौन्दर्यता को देख सकते हैं।बर्फ से ढकी चोटियों और ढलानों को देखकर मन प्रसन्न हो जाता है। यहां पर कपास जैसी मुलायम बर्फ पड़ती है, जिसमे आप स्किंग आदि का लुत्फ उठा सकते हैं।
नंदा देवी के पीछे सूर्योदय देखना एक बहुत ही सुखद अनुभव है। नंदा देवी राष्ट्रीय उद्यान यहां से 41 किमी. दूर है। इसके अलावा बर्फ गिरना और रात में खुले आकाश को देखना मन को प्रसन्न कर देता है। शहर की भागती-दौड़ती जिंदगी से दूर औली एक बहुत ही बेहतरीन पर्यटक स्थल है।PC:Amit Shaw

रूपकुंड

रूपकुंड

रूपकुंड या कंकाल झील भारत उत्तराखंड राज्य में स्थित एक हिम झील है जो अपने किनारे पर पाए गये पांच सौ से अधिक कंकालों के कारण प्रसिद्ध है। यह स्थान निर्जन है और हिमालय पर लगभग 5029 मीटर (16499 फीट) की ऊंचाई पर स्थित है। पर्यटन की दृष्टि से रूपकुंड, हिमालय की गोद में स्थित एक मनोहारी और खूबसूरत पर्यटन स्थल है, यह हिमालय की दो चोटियों त्रिशूल (7120 मीटर) और नंदघुंगटी (6310 मीटर). के तल के पास स्थित है।
PC:Tapas Biswas

देवरिया ताल

देवरिया ताल

रूद्रप्रयाग से 49 किमी की दूरी पर स्थित देवरिया ताल एक सुंदर पर्यटन स्थल है। हरे भरे जंगलों से घिरी हुई यह एक अद्भुत झील है। इस झील के जल में गंगोत्री, बद्रीनाथ, केदारनाथ, यमुनोत्री और नीलकंठ की चोटियों के साथ चौखम्बा की श्रेणियों की स्पष्ट छवि प्रतिबिंबित होती है। यह झील यहाँ आने वाले यात्रियों को नौका विहार, कांटेबाजी और विभिन्न पक्षियों को देखने के अवसर प्रदान करती है।PC: wikimedia.org

रुद्रनाथ ट्रेक

रुद्रनाथ ट्रेक

रुद्रनाथ मन्दिर भारत के उत्तराखण्ड राज्य के चमोली जिले में स्थित भगवान शिव का एक मन्दिर है जो कि पञ्चकेदार में से एक है।यह समुद्रतल से 2290 मीटर की ऊंचाई पर स्थित रुद्रनाथ मंदिर भव्य प्राकृतिक छटा से परिपूर्ण है।पर्यटक यहां ट्रेकिंग का लुत्फ उठा सकते हैं। ट्रेकर्स आमतौर पर चोपटा से चढ़ाई शुरू करते हैं, जो अपहिल ट्रैक से देवरिया ताल को और पास वाले ट्रैक से तुंगनाथ और चंद्रशिला को जोड़ता है।PC: Cvashisth

चोपता तुंगनाथ ट्रेक

चोपता तुंगनाथ ट्रेक

चोपता उत्तराखंड का बेहद ही खूबसूरत हिल स्टेशन है...चोपता समुद्र तल से बारह हजार फुट की ऊंचाई पर स्थित है। यहां से तीन किलोमीटर की पैदल यात्रा के बाद तेरह हजार फुट की ऊंचाई पर तुंगनाथ मन्दिर है, जो पंचकेदारों में एक केदार है। यहां पहुंचकर पर्यटक प्रकृति का भरपूर मजा ले सकते हैं।
PC: Stephenekka

मुनस्यारी

मुनस्यारी

उत्तराखंड के पर्यटन में मुनस्यारी एक निहायत ही ख़ूबसूरत पर्यटक स्थल हैं।यहाँ के बुग्याल,ग्लेशियर व् झरनें न सिर्फ़ मन को बरबस लुभाते हैं बल्कि यहाँ की हरी भरी वादिया भी पर्यटकों को कम आकर्षित नहीं करती?
PC:solarshakti

हेमकुंड साहिब

हेमकुंड साहिब

चमोली की खूबसूरत वादियों में बसे सिखों के प्रसिद्ध तीर्थ स्थल हेमकुंड साहिब की यात्रा इन गर्मियों जरुर करनी चाहिए।चमोली जिले में सात पर्वतों के बीच बसा हेमकुंड साहिब गुरुद्वारा अद्भुत है। यह सिखों का प्रमुख तीर्थ है और पवित्र सरोवर लाखों सिख तीर्थयात्रियों की आस्था का प्रमुख केंद्र है। 4329 मीटर की ऊंचाई पर स्थित यह पवित्र स्थान छह माह तक बर्फ से ढका रहता है।PC: Kp.vasant

ग्वालधाम

ग्वालधाम

ग्वालधाम उत्तराखंड की वादियों में छुपा हुआ एक छोटा सा हिल स्टेशन है जोकि समुद्री ऊंचाई से 1829 फीट पर स्थित है। यह छोटा सा शहर चारो ओर से बागों से घिरा हुआ है।PC: Biswajit Majumdar

चार धामयात्रा (बद्रीनाथ-केदारनाथ-गंगोत्री-यमनोत्री )

चार धामयात्रा (बद्रीनाथ-केदारनाथ-गंगोत्री-यमनोत्री )

हिंदुयों में चार धाम यात्रा को काफी महत्व दिया गया है...उत्तराखंड में स्थित चार बदरीनाथ-केदारनाथ,गंगोत्री-यमनोत्री को छोटा चारधाम यात्रा कहा गया है। गढ़वाल हिमालय की पश्चिम दिशा में उत्तरकाशी ज़िले में स्थित यमुनोत्री चार धाम यात्रा का पहला पड़ाव है।चार धाम के दर्शन एक ही यात्रा में करने पर धार्मिक आधार पर पहले यमुनोत्री फिर गंगोत्री उसके बाद केदारनाथ और आखिर में बद्रीनाथ जाया जाता है।
PC: Raghu praveera mahanakali

 लैंसडाउन

लैंसडाउन

लैंसडाउन, उत्तराखण्ड के पौडी जिले में स्थित एक सुन्दर हिल स्टेशन है। इस खूबसूरत हिल स्टेशन लैंसडाउन को अंग्रेजों ने वर्ष 1887 में बसाया था। उस समय के वायसराय ऑफ इंडिया लॉर्ड लैंसडाउन के नाम पर ही इसका नाम रखा गया। यहां की प्राकृतिक छटा सम्मोहित करने वाली है। यहां का मौसम पूरे साल सुहावना बना रहता है। हर तरफ फैली हरियाली आपको एक अलग दुनिया का एहसास कराती है।
PC: Chinchu2

मसूरी

मसूरी

मसूरी देहरादून से 34 किमी. दूर स्थित है। यह गढ़वाल की पहाड़ी पर समुद्र तल से 2003 मी. ऊंचाई पर है। मसूरी देश के सबसे आकर्षक हिल स्टेशनों में से एक है। हिंदुओं के प्रमुख तीर्थस्थल, जैसेः केदारनाथ, गंगोत्री, बद्रीनाथ, हरिद्वार, यमुनोत्री और ऋषिकेश यहां से ज्यादा दूर नहीं हैं।
PC: Paul Hamilton

रानीखेत

रानीखेत

राजा सुधारदेव की रानी पद्मावती उत्तराखंड के रानीखेत पर कभी मोहित हो गई थीं। उन्होंने यह जगह देखने के बाद इसे ही अपना आवास बना लिया था। इसीलिए इस जगह को रानीखेत के नाम से जाना गया। इस स्थान से नंदा देवी (7817 मी.) समेत हिमाच्छादित मध्य हिमालय की चोटियां और जंगली जानवरों से भरा घना जंगल स्पष्ट देखा जा सकता है।
PC: Love2god

कौसानी

कौसानी

भारत का खूबसूरत पर्वतीय पर्यटक स्‍थल है।हिमालय की खूबसूरती के दर्शन कराता कौसानी पिंगनाथ चोटी पर बसा है।यहां से बर्फ से ढके नंदा देवी पर्वत की चोटी का नजारा बडा भव्‍य दिखाई देता है.कोसी और गोमती
नदियों के बीच बसा कौसानी भारत का स्विट्जरलैंड कहलाता है।
PC: sushanta mohanta

पिथौरागढ़

पिथौरागढ़

उत्तराखंड का छोटा कश्मीर के नाम से प्रसिद्ध पिथौरागढ़ में आपको हर वह चीज मिलेगी जो कश्मीर में मिल सकती है। पिथौरागढ़ के आस पास बहुत सी झीलें, हरी-भरी पहाड़ियाँ और ऊँचे-नीचे घुमावदार रास्ते मन को एक नजर में ही भा जाते हैं। ठंडी हवाओं के झोंके दिल्ली, लखनऊ, भोपाल की गर्मी को भुला देते हैं।PC: P K Gupta VNS

 
Please Wait while comments are loading...