• Follow NativePlanet
Share
» »धन की कमी से जूझ रहे हैं, तो फ़ौरन दर्शन करें देवी मां लक्ष्मी के अद्भुत मन्दिरों के

धन की कमी से जूझ रहे हैं, तो फ़ौरन दर्शन करें देवी मां लक्ष्मी के अद्भुत मन्दिरों के

Written By:

ब्रह्मा, विष्णु ,महेश की तरह हिन्दू धर्म में देवी लक्ष्मी प्रमुख देवी देवतायों में से एक हैं, जिन्हें धन धान्य की देवी माना जाता है। भारत में देवी लक्ष्मी को समर्पित कई मंदिर है, जहां देवी लक्ष्मी के विभिन्न स्वरूपों की पूजा की जाती है।

मुख्य रूप से, देवी लक्ष्मी की उपासना धन की देवी के रूप में की जाती है। खासकर कि, उत्तर पर पश्चिमी भारत में माना जाता है कि, देवी लक्ष्मी दिवाली के तीसरे दिन अपने भक्तों के घर का दौरा करती हैं। इस दौरान घर को साफ रखा जाता है, देवी लक्ष्मी की उपासना की जाती है, और उनकी प्रतिमा के समक्ष दिया भी प्रज्वलित किया जाता है। पूर्ण भारतवर्ष में देवी महालक्ष्मी के कई मंदिर है, जहां उनके भक्त धन-सम्रद्धि की मन्नते मांगने पहुंचते हैं।

लक्ष्मी नारायण मंदिर (बिड़ला मंदिर), दिल्ली

लक्ष्मी नारायण मंदिर (बिड़ला मंदिर), दिल्ली

दिल्ली के प्रसिद्ध मन्दिरों में से एक लक्ष्मी नारायण मंदिर का निर्माण वर्ष 1939 में देश के बसे बड़े व्यवसायी आर.बिरला और विजय त्यागी ने कराया था। यह मंदिर मुख्य रूप से देवी लक्ष्मी और भगवान विष्णु को समर्पित है।

इस मंदिर से जुड़ा दिलचस्प तथ्य यह है कि, इस मंदिर का उद्घाटन राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने किया था, आज यह जगह दिल्ली के प्रसिद्ध धार्मिक स्थान के साथ पर्यटन स्थल भी है। दिवाली और कृष्ण जन्माष्टमी के उत्सव के दौरान यहां भक्तों का तांता लगा रहता है। इस मंदिर में देवी लक्ष्मी और भगवान विष्णु के अलावा भगवान गणेश, हनुमान, देवी दुर्गा ,महादेव की प्रतिमा भी स्थापित है।Pc:Ashishbhatnagar72

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई

मायानगरी मुंबई में स्थित महालक्ष्मी मंदिर मुंबई के प्रसिद्ध मन्दिरों में से एक है। इस मंदिर के निर्माण के पीछे एक बेहद ही दिलचस्प कहानी है, कहा जाता है कि, जब यहा निर्माण कार्य चल रहा था तब दोनों क्षेत्रों को जोड़ने वाली दीवार बार-बार गिर जा रही थी। ब्रिटिश इंजीनियरों के सारे प्रयास बेकार जा रहे थे, तब प्रोजेक्ट के चीफ इंजीनियर को सपने में महालक्ष्मी माता ने दर्शन दिए और कहा की वर्ली के पास समुद्र में तुम्हे मेरी मूर्ति दिखाई देगी। माता के निर्देशानुसार खोज करने पर यह मूर्ति उन्हें उसी जगह मिल गई, जहां माता ने बताया था। इस घटना के बाद चीफ इंजीनियर ने इसी जगह पर एक छोटे से मंदिर का निर्माण करवाया और उसके बाद यह निर्माण कार्य बड़ी आसानी से संपन्न हो गया।Pc:Suyogaerospace

महालक्ष्मी मंदिर कोल्हापुर

महालक्ष्मी मंदिर कोल्हापुर

महाराष्ट्र स्थित कोल्हापुर अपने महा लक्ष्मी मंदिर के लिए जाना जाता है, यह शक्तिपीठ भारत के प्रामुख धार्मिक स्थानों में एक है। कि महालक्ष्मी का यह मंदिर 1800 साल पुराना है और इस मंदिर में आदि गुरु शंकराचार्य ने देवी महालक्ष्मी की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा की थी। कोल्हापुर स्थित महालक्ष्मी मंदिर का निर्माण कर्नाटक के चालुक्य वंशज ने कराया था।Pc:Tanmaykelkar

 लक्ष्मी देवी मंदिर, हासन

लक्ष्मी देवी मंदिर, हासन

कर्नाटक के हासन में डोदगादवल्ली में स्थापित लक्ष्मी देवी मंदिर का निर्माण होयसल के शासन काल में हुआ था, यह मंदिर होयसल वास्तुशिल्प शैली के सबसे पुराने मंदिर में से एक है।इस मंदिर में देवी लक्ष्मी के अलावा कई अन्य हिंदु भगवानों की प्रतिमा स्थापित है। अगर आपको इतिहास से प्यार है, तो आपको इस मंदिर की प्राचीन और जटिल वास्तुकला को जरुर देखना चाहिए।Pc:Dineshkannambadi

 अष्टलक्ष्मी मंदिर, चेन्नई

अष्टलक्ष्मी मंदिर, चेन्नई

चेन्नई में स्थित इस मंदिर के देवी लक्ष्मी के आठों स्वरूपों की पूजा की जाती है। इलियट समुद्र तट के पास स्थति यह मंदिर यह मंदिर लगभग 65 फ़ीट लम्बा और 45 फ़ीट चौड़ा है। मंदिर में देवी लक्ष्मी के आठ स्वरुप 4 मंजिल में बने 8 अलग-अलग कमरों में स्थापित है। इस मंदिर में देवी लक्ष्मी अपने पति और भगवान विष्णु के साथ मंदिर की दूसरी मंजिल में विराजित है।Pc:Sudharsun.j

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स