• Follow NativePlanet
Share
» »जाने! एक ऐसे मंदिर के बारे में, जिसे भूकम्प भी नहीं कर सका ध्वस्त

जाने! एक ऐसे मंदिर के बारे में, जिसे भूकम्प भी नहीं कर सका ध्वस्त

Written By: Goldi

भारत में कई हजारों साल पुराने मंदिर है, जो आज भी ज्यों के त्यों खड़े हुए, प्रकृति ने भी कई बार इन मन्दिरों की नींव हिलाने की कोशिश की लेकिन कामयाबी नहीं मिली। आज हम एक ऐसे ही मंदिर के बारे में बात करने जा रहे हैं,जो गुजरात से करीबन 333 किमी की दूरी पर स्थित है। यह मंदिर गुजरात के भुज में स्थित है,जिसे हम सभी श्री स्वामीनारायण मंदिर, के नाम से जानते हैं।

दिल्ली के टॉप 10 मंदिर जिनकी सुन्दरता और वास्तु कर देगा एक ट्रैवलर को मंत्र मुग्ध

कई साल पहले भूकम्प ने भुज ने तबाही मचाई थी, जिस में यह मंदिर थोड़ा सा क्षतिग्रस्त हुआ था, जिसका पुनर्निर्माण किया गया लेकिन इसकी चमक आज भी वैसी ही बरकरार है।

कहीं जलती हुई सिगरेट, तो कहीं रॉयल इंफील्ड , ये हैं इन मंदिरों के प्रमुख देवता

इस मंदिर का पुननिर्माण संगमरमर और सोने से किया गया, जिसकी चमक देखकर आपकी आँखें खुली की खुली रह जायेंगी। स्वामी नारायण मंदिर शहर से थोड़ी दूरी पर स्थित है, जिसके चलते आप यहां एक असीम शांति का एहसास कर सकते हैं। आइये आपको तस्वीरों के जरिये इस मंदिर की खूबसूरती का दीदार कराते हैं।

स्वामीनारायण मंदिर

स्वामीनारायण मंदिर

स्वामी नारायण मंदिर का निर्माण स्वामीनारायण संप्रदाय ने कराया था, जो भुज में लोकप्रिय है। नया मंदिर पुराने मंदिर के बहुत करीबहै, और इसमें स्वामीनारायण सहित कई मूर्तियां है।

स्वामीनारायण का सिंहासन

स्वामीनारायण का सिंहासन

मंदिर के द्वार और उसके दरवाजे सोने से बने हैं, जबकि स्तंभ और छत संगमरमर से। वर्ष 2001 में भूकम्प ने मंदिर को पूरी तरह बर्बाद कर दिया था,लेकिन बाद में इसे पुननिर्माण कराकर नये मंदिर में मूर्तियों को स्थापित किया गया।Pc:http://www.swaminarayan.info

5 एकड़ में फैला

5 एकड़ में फैला

मंदिर परिसर 5 एकड़ जमीन में फैला हुआ है। झिलमिलाता ढांचे और एक मुख्य गुंबद के साथ 7 शिखर हैं, 25 छोटे गुंबद और शुद्ध संगमरमर से बने 258 नक्काशीदार खंभे हैं। मंदिर में राधा कृष्ण, गणेश और अन्य देवताओं की मूर्तियां भी हैं।Pc:Bhargavinf

मुख्य मंदिर के अलावा, अन्य आकर्षण

मुख्य मंदिर के अलावा, अन्य आकर्षण

मंदिर का निर्माण , विशेष रूप से महिलाओं के लिए किया गया है। संत निवास संतों के लिए एक ध्यान कक्ष हैं। यहां स्थित भोजन हॉल में एक बार में करीबन 2000 व्यक्ति भोजन कर सकते हैं। श्रद्धालु मंडप में बैठकर कीर्तन आदि भी सुन सकते हैं।Pc:Wheredevelsdare

गुजरात के सबसे महंगे और आकर्षक मन्दिर

गुजरात के सबसे महंगे और आकर्षक मन्दिर

स्वामी नारायण मंदिर गुजरात के सबसे महंगे और आकर्षक मन्दिरों में से एक है। मंदिर के पुननिर्माण में करीबन 600 मूर्तिकारों ने इस प्रोजेक्ट को करीबन 7 साल में पूरा किया।Pc: Vijay8808

कब आयें

कब आयें

गर्मी के दौरान यहां की यात्रा से बचना चाहिए..क्योंकि गर्मी के दौरान यहां का तापमान काफी अधिक रहता है। सर्दियों (अक्टूबर-मार्च )के दौरान यहां की यात्रा करना सुखद रहता है।Pc:Bhargavinf

मंदिर का समय

मंदिर का समय

मंदिर भक्तों के लिए 6 बजे से शाम 7 बजे तक खुला रहता है।

मंदिर तक कैसे पहुंचे

मंदिर तक कैसे पहुंचे

गुजरात के किसी भी हिस्से से भुज आसानी से पहुंचा जा सकता है। शहर तक पहुंचने के लिए गाड़ियों, बसों और यहां तक ​​कि उड़ानें उपलब्ध हैं।Pc:AroundTheGlobe

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स