• Follow NativePlanet
Share
» »छुट्टियों में करना कुछ खास, तो चलें आयें अमृतधारा

छुट्टियों में करना कुछ खास, तो चलें आयें अमृतधारा

Posted By:

मध्यप्रदेश से अलग होकर बना छत्तीसगढ़ भारत के पर्यटन के मामले में अभी भी धीरे धीरे विकसित हो रहा है। नक्सलवादियों की भूमि के नाम से प्रसिद्ध छत्तीसगढ़ को जंगलों की भूमि भी कहा जाता है, छत्तीसगढ़ में भरपूर मात्रा में दुर्गम पहाडियां और जंगल पाएं जाते है। यह राज्‍य, सदाबहार जंगलों, घुमावदार पहाडि़यों, और चट्टानी पठारों के लिए भी अच्‍छे से जाना जाता है। राज्‍य में कुछ खूबसूरत झरने भी है।

छत्तीसगढ़ के इन्ही झरनों में से एक है अमृतधारा झरना, जिसकी आपको सैर इन छुट्टियों अवश्य करनी चाहिए। ये झरना छत्तीसगढ़ का बेहद खूबसूरत झरना है। लोगो की नजरों से दूर आज भी यह राज्य पर्यटन भारत में पर्यटन उद्योग का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है क्योंकि नदी के कैसकेड, छोटी पहाड़ियों और प्राचीन स्मारकों की उपस्थिति है। तो,आइये जनते हैं अमृतधारा के बारे में खास..

कैसे पहुंचे अमृतधारा?

कैसे पहुंचे अमृतधारा?

हवाई जहाज द्वारा
पर्यटक अमृतधारा पहुँचने के लिए देश के किसी भी हिस्से से रायपुर के लिए फ्लाइट ले सकते हैं, इसके बाद हवाई अड्डे पहुँचने के बाद कैब के जरिये आसानी से अमृतधारा झरना पहुंचा जा सकता है। रायपुर से अमृतधारा झरने की दूरी करीबन 30 किमी है।

ट्रेन द्वारा
अमृतधारा का नजदीकी स्टेशन चिरमिरी है, जोकि झरने से करीबन 17 किमी की दूरी पर स्थित है।

सड़क द्वारा
कोरिया जिले में स्थित अमृतधारा झरना सड़क द्वारा आसानी से पहुंचा जा सकता हैं।

कब जायें अमृतधारा झरना

कब जायें अमृतधारा झरना

छत्तीसगढ़ में मौसम गर्म रहता है, इसलिए इसे गर्मी में घूमने से बचना चाहिए। लेकिन इस जगह की सैर मानसून और सर्दियों में अक्टूबर से अप्रैल तक के बीच में अच्छे से की जा सकती है, इस दौरान यहां का मौसम सुहावना रहता है।

अमृतधारा झरना

अमृतधारा झरना

छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले में हस्देओ नदी पर स्थित अमृतधारा झरना नब्बे फीट की ऊंचाई से गिरने वाला झरना छत्तीसगढ़ के सबसे बड़े झरनों में से एक है।

झरने के पास ही शिव मंदिर स्थित है, जिस कारण इस झरने को बेहद शुभ माना जाता है, शिवरात्रि के मौके पर यहां हर वर्ष मेला भी आयोजित किया जाता है, जिसमे भारी तादाद में श्रद्धालु पहुंचते हैं।

बताया जाता है कि, झरने के पास मेले का आयोजन पहली बार वर्ष 1936 में कोरिया के राजा ने शुरू किया था, जिसके बाद से यहां हर साल मेला आयोजित होता है। वर्तमान में अमृतधारा झरना पर्यटकों और स्थानीय लोगों के बीच पिकनिक स्पॉट के लिए जाना जाता है।Pc:uday

आखिर अमृतधारा क्यों जायें?

आखिर अमृतधारा क्यों जायें?

अगर आप छत्तीसगढ़ के प्राकृतिक चमत्कारों को देखन चाहते हैं, तो इस झरने की यात्रा आपको अवश्य करनी चाहिए। अमृतधारा झरना ना केवल छत्तीसगढ़ का प्रमुख आकर्षण बल्कि, यहां की निर्जन खुबसुरती और शांति का भी एकदम सही मिश्रण है। आप इस झरने के किनारे बैठकर आपको प्रकृति के करीब महसूस कर सकते हैं।

जाने! दक्षिण भारत की मंत्रमुग्ध कर देने वाली घाटियों के बारे में

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स