Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »सभी धर्मों का समायोजन हैं पटना, पर्यटन के लिहाज से भी बेहतर

सभी धर्मों का समायोजन हैं पटना, पर्यटन के लिहाज से भी बेहतर

पटना, बिहार की राजधानी होने के साथ-साथ राज्य का एक खूबसूरत पर्यटन स्थल भी है। जहां धार्मिक व ऐतिहासिक दोनों स्थलों का समायोजन देखने को मिलता है। यह शहर गंगा नदी के दक्षिणी किनारे पर स्थित है। पटना (पुराना नाम - पाटलिपुत्र या पाटलिग्राम) एक ऐसा शहर है, जहां सभी धर्मों (हिंदू, सिक्ख, बौद्ध, जैन व इस्लाम) का समायोजन देखने को मिलता है। ये शहर कई विद्वान महापुरुषों का जन्मस्थान व कई योद्धाओं की कर्मभूमि भी रही है।

सिक्खों के आस्था का केंद्र है पटना

सिक्ख धर्म के 10वें गुरु 'गोविंद सिंह' जी का जन्म यही हुआ था। इसके अलावा यहां उनकी समृति में बना एक गुरुद्वारा भी है, जिसे महाराजा रणजीत सिंह ने बनवाया था। इस गुरुद्वारे का नाम है- 'तख्त श्री हरमंदिर साहिब'...। यह गुरुद्वारा 18वीं शाताब्दी में बनना शुरू हुआ था, जो 19 नवम्बर 1954 को बनकर तैयार हुआ था। इसकी वास्तुकला भी काफी सुंदर है, जो पर्यटकों को आकर्षित करती है।

patna sahib gurudwara

सभी धर्मों का समायोजन है पटना

सिक्ख धर्म के अलावा यहां हिंदू, बौद्ध, जैन व इस्लाम धर्म से संबंधित भी धार्मिक स्थल है, जो बिहार के प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों में से एक है। इसके अलावा यह शहर आचार्य चाणक्य, वात्स्यायन, पाणिनी स्थलाभद्र, आर्यभट्ट और अश्वघोष जैसे महान ज्योतिषियों और विद्वानों की कर्मभूमि भी रही है।

पटना में घूमने वाले स्थान

1. इस्कैप आईलैंड
2. नमामि गंगे घाट
3. ट्रेंपोलाइन पार्क
4. संजय गांधी बायोलॉजिकल पार्क
5. सभ्यता द्वार
6. बिहार म्यूजियम
7. इंदिरा गांधी तारामंडल
8. गोलघर
9. पटना साहिब गुरुद्वारा (तख्त श्री हरमंदिर साहिब)
10. बुद्ध स्मृति पार्क
11. महावीर मंदिर
12. कृष्णा साइंस सेंटर
13. इको पार्क
14. आगम कुआं
15. पाटन मंदिर

patna view

पटना का इतिहास

इस शहर का इतिहास करीब 2500 साल से भी पुराना है। यह शहर चंद्रगुप्त मौर्य से लेकर सम्राट अशोक तक की कर्मभूमि रही है। चंद्रगुप्त मौर्य के शासनकाल में यहां के अधिकांश महल लकड़ियों के बने थे, जो आगे चलकर सम्राट अशोक के शासनकाल में शिलाओं की संरचना में तब्दील हो गया।

patna view

पटना का प्रसिद्ध उत्सव

पटना में यूं तो कई पर्व मनाए जाते हैं। लेकिन यहां का सोनपुर मेला इस शहर के लोगों के बीच काफी प्रसिद्ध है। यह पर्व हर साल नवम्बर के महीने में मनाया जाता है, जो मौर्य काल से लगातार मनाया जा रहा है। यह पर्व मुख्य रूप से पशुओं पर आधारित है, जो एशिया भर के पर्यटकों को आकर्षित करता है। इस मेले में पशुओं की लगभग सभी प्रजातियां देखी जा सकती है।

अपनी यात्रा को और भी दिलचस्प व रोचक बनाने के लिए हमारे Facebook और Instagram से जुड़े...

Read more about: पटना patna
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X