Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »शीशे सा चमकता है हिमाचल की चंद्रताल झील का पानी

शीशे सा चमकता है हिमाचल की चंद्रताल झील का पानी

देवभूमि के नाम से प्रसिद्ध हिमाचल प्रदेश भारत का एक खूबसूरत पहाड़ी राज्य है, जो जम्मू-कश्मीर, पंजाब, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड राज्यों से घिरा हुआ है। यह राज्य अपनी प्राकृतिक सौंदर्यता के लिए जाना जाता है, विश्व भर से सैलानी यहां के पर्यटन स्थलों की सैर करने के लिए आते हैं। एक प्रकृति प्रेमी से लेकर रोमांच का शौक रखने वालों के लिए यहां बहुत कुछ उपलब्ध है। यहां की बर्फीली चोटियां, नदी-झरने व घास के मैदान आगंतुको को आनंदित व रोमांचित करने का काम करते हैं। यहां के प्राकृतिक आकर्षणों में आप यहां की पहाड़ियों से घिरी झीलों को देख सकते हैं। इस लेख में आज हम आपको हिमालच की खूबसूरत चंद्राताल लेक के बारे में बताने जा रहे हैं, जानिए यह झील आपको किस प्रकार आनंदित कर सकती है।

चंद्रताल झील

चंद्रताल झील

PC- Christopher L Walker

चंद्रताल हिमाचल प्रदेश की एक आकर्षक झील है, जो लाहौल-स्पीति जिले के अंतर्गत समुद्र तल से 4250 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। इस झील का आकार अर्धचांद की तरह है, इसलिए इसका नाम चंद्रताल पड़ा यानी चांद की झील। यह एक साफ पानी की झील है, जिसका पानी शीशे की तरह चमकता है और पूरी तरह प्रदूषण मुक्त है। माना जाता है कि झील का यह क्षेत्र कभी स्पीति और कुल्लू जाने वाले तिब्बत और लद्दाखी व्यापारियों का महत्वपूर्ण स्थल हुआ करता था। लेकिन अब यह झील पूरे विश्व को अपनी ओर आकर्षित करती है। यहां साल भर एडवेंचर के शौकीनों का आवागमन लगा रहता है। इस झील से एक पौराणिक किवदंती भी जुड़ी है, माना जाता है कि यह वो स्थान है जहां भगवान इंद्र के रथ ने युधिष्ठिर को उठाया था, युधिष्ठिर पांच पांडवों में से सबसे बड़े थे।

आने का सही समय

आने का सही समय

PC-No machine

चूंकि यह एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है, इसलिए यहां साल भर सैलानियों का आवागमन लगा रहता है। अगर आप रोमांच का शौक रखते हैं, तो यहां किसी भी समय आ सकते हैं। वैसे यहां आने का सही समय जून से अक्टूबर तक का माना जाता है। यहां सर्दियों के दौरान मौसम काफी प्रतिकूल हो जाता है, और बर्फीले तूफान का खतरा रहता है। सितंबर महीने के दौरान झील की खूबसूरती दुगनी हो जाती है, आप इस दौरान यहां आ सकते हैं।

क्यों आएं चंद्रताल ?

क्यों आएं चंद्रताल ?

PC-Sair18791

चंद्रताल की यात्रा आपके लिए कई मायनों में खास हो सकती है। यह एक आकर्षक झील है, जिसका चमचमाता पानी पर्यटकों को काफी ज्यादा आनंदित और रोमांचित करता है। यह झील पहाड़ियों और बर्फीली चोटियों से घिरी है, जो आपको काफी ज्यादा उत्साहित करने का काम करेंगी। इसके अलावा चंद्रताल लेक साहसिक ट्रेकिंग के लिए भी जानी जाती है। दूर-दूर से ट्रैवलर यहां ट्रेकिंग का रोमांच भरा आनंद लेने के लिए आते हैं। हैम्पटा पास से चंद्रताल एक प्रसिद्ध ट्रेक है। इस मार्ग में सफर के दौरान आप शानदार पहाड़ी आकर्षणों का आनंद ले सकते हैं। झील के आसपास आप कैंपिग का आनंद भी ले सकते हैं।

आसपास के आकर्षण

आसपास के आकर्षण

PC-Anaesthetist

चंद्रताल झील की खूबसूरती का आनंद लेने के अलावा आप लाहौल स्पीति के अन्य स्थलों की सैर का प्लान बना सकते हैं। आप चंद्रताल से की मठ, कुंजुम पास, सूरज ताल झील, पिन वैली नेशनल पार्क, धनकर मठ, किब्बर, ताबो मठ, त्रिलोकीनाथ मंदिर, धनकर झील आदि स्थलों की सैर का आनंद ले सकते हैं।

कैसे करें प्रवेश

कैसे करें प्रवेश

PC-Nitinram Velraj

चंद्रताल झील ट्रेकर्स और कैंपर्स के लिए एक प्रसिद्ध जगह है। झील तक आप बाटल या कुंजुम पास से पैदल मार्ग के जरिए पहुंच सकते हैं। इसके अलावा मोटर बाइक के जरिए भी आप बाटल से यहां तक पहुंच सकते हैं। कुंजुम से चंद्रताल का सफर लगभग 2 घंटों का है। आप सूरज ताल से भी यहां आ सकते हैं। कुल्लू मनाली यहां का निकटवर्ती हवाईअड्डा है। रेल मार्ग के लिए आपको जोगिंदर नगर रेलवे स्टेशन का सहारा लेना होगा।

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X