India
Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »मानसून में देखने लायक बनती है भारत के इन बांधों की खूबसूरती

मानसून में देखने लायक बनती है भारत के इन बांधों की खूबसूरती

भारत की खूबसूरती किसी से छिपी नहीं है, यहां पर मंदिर, पहाड़, नदियां और झील काफी कुछ है, जो आपका मनमोह लेगी। इनमें से ही एक है इन नदियों पर बना खूबसूरत बांध (Dams), जिसकी खूबसूरती के दीवाने हजारों है। मानसून के दिनों में यहां पर्यटकों का तांता लगा रहता है, आसपास की हरियाली और पहाड़ों के बीच बना ये बांध बारिश के बूंदों के साथ किसी का भी मनमोह सकते हैं।

मानसून के दिनों में बांधों के आसपास का क्षेत्र काफी हरा-भरा हो जाता है। पहाड़ों से घिरे क्षेत्रों में बने इन बांधों को देखने का मजा बारिश के दिनों में ही है। इन दिनों बांध के गेट भी खुले रहते हैं तो पानी के बहाव को भी करीब से देखा जा सकता है। भारत के कुछ चुनिंदा बांधों के बारे में यहां बताया गया है जो बारिश के दिनों में बेहद आकर्षक लगते है।

टिहरी बांध, उत्तराखंड

टिहरी बांध, उत्तराखंड

उत्तराखंड का टिहरी बांध भारत का सबसे ऊंचा और काफी विशालकाय बांध है। भागीरथी नदी पर बने इस बांध की ऊंचाई 261 मीटर है। जबकि इसकी लंबाई 575 मीटर है। इस बांध से 2400 मेगावाट बिजली का उत्पादित की जाती है। दुनिया के आठवें सबसे बड़े बांध में शुमार यह बांध एक बेहद ही खूबसूरत है। मानसून के दिनों में इस बांध का दृश्य मनमोह लेने वाला होता है।

भाखड़ा बांध, हिमाचल प्रदेश

भाखड़ा बांध, हिमाचल प्रदेश

हिमाचल प्रदेश का भाखड़ा बांध देश का दूसरा सबसे बड़ा बांध है, जो सतजल नदी पर बना है। इस बांध की ऊंचाई 225 मीटर है। हिमाचल और पंजाब की सीमा पर सतलज नदी पर बने इस बांध की बनावट और खूबसूरती देखने लायक है। अरावली और शिवालिक पहाड़ों की हरियाली इसकी खूबसूरती में चार-चांद लगाने का काम करती है। यहां आने वाले सैलानी ना सिर्फ प्रकृतिक नजारों का लुत्फ उठा सकेंगे बल्कि पास में स्थित नैना देवी मंदिर और आनन्द पुर साहिब जैसे जगहों पर भी घूम सकेंगे। बारिश के दिनों में यह स्थान भी काफी हरा-भरा और मनमोहक दिखाई देता है।

हीराकुंड बांध , उड़ीसा

हीराकुंड बांध , उड़ीसा

उड़ीसा का हीराकुंड बांध देश का सबसे लंबा बांध है, जो महानदी बना है और 26 किमी. तक फैला है। संबलपुर, उड़ीसा मे बना है। इस बांध के वजह से काफी खूबसूरत झील का निर्माण हुआ है, जो पर्यटकों के लिए आकर्षण का केन्द्र बना रहता है। मानसून में इसकी खूबसूरती देखने लायक बनती है।

नागार्जुन सागर बांध, आंध्र प्रदेश

नागार्जुन सागर बांध, आंध्र प्रदेश

कृष्णा नदी पर बना नागार्जुन सागर बांंध एक बहुत ही महत्वपूर्ण और आधुनिक तकनीक से बनाया हुआ बांंध है। आंध्र प्रदेश में सिंचाई के लिए इस बांध का अहम योगदान रहता है। इसकी ऊंचाई 490 फीट एवं लम्बाई 1.6 किमी है, जिसकी खूबसूरती को देखने के लिए काफी दूर-दूर से लोग आते हैं। मानसून के दिनों में इस बांध के आसपास का क्षेत्र देखने लायक होता है। ऊंचे-ऊंचे पहाड़, जगंल वाले रास्ते आपकी इस यात्रा बेहद रोमांचक बना देते हैं। इसमें 42 फीट चौड़े व 45 फीट लंबे कुल 26 फाटक हैं।

इंदिरा सागर बांध, मध्यप्रदेश

इंदिरा सागर बांध, मध्यप्रदेश

मध्य प्रदेश का इंदिरा सागर बांध एशिया की सबसे प्रतिष्ठित जल विद्युत परियोजना है। इस बहुउद्देशीय बांध को नर्मदा नदी के ऊपर बनाया गया है, जो खंडवा के नर्मदा नगर में बहती है। इस बांध की उदारता इसे एक पर्यटक स्थल के रुप में विकसित करता है। मानसून के दिनों में इस बांध की खूबसूरती पर्यटकों को खूब भांति है।

भवानी सागर बांध, तमिलनाडु

भवानी सागर बांध, तमिलनाडु

तमिलनाडु का भवानी सागर बांध, भवानी नदी पर स्थित है और यह बांध राज्य का दूसरा सबसे बड़ा बांध है। इस बांध की ऊंचाई करीब 32 मीटर है। इस बांध को देखने आने वाले पर्यटक पेरियार स्मारक हाउस, वेलोड पक्षी विहार, राजकीय संग्रहालय, कराडियूर व्यू पॉइन्ट, भवानी और बन्नारी आदि को भी देख सकते हैं। मानसून के दिनों यहां का माहौल काफी खुशनुमा नजर आता है।

बिसलपुर बांध, राजस्थान

बिसलपुर बांध, राजस्थान

राजस्थान का बिसलपुर बांध, दो पहाड़ों के बीच बनस नदी पर बनाया गया है। इस बांध की ऊंचाई 39 मीटर है। यहां पर प्रवासी पक्षियों की विशाल विविधता को देखा जा सकता है। इस काल में बने सबसे सुंदर बांधों में से एक यह बांध पर्यटन स्थल के रूप में भी काफी प्रसिद्ध है।

कोयना बांध, महाराष्ट्र

कोयना बांध, महाराष्ट्र

महाराष्ट्र का कोयना बांध, कोयना नदी पर बनाया गया है, जिसकी ऊंचाई 103 मी. है। यह पश्चिमी घाटों में स्थित महाराष्ट्र के सबसे बड़े बांधों में से एक है। कोयना बांध द्वारा स्थापित झील को शिवाजी झील कहा जाता है, यह क्षेत्र सह्याद्री पर्वत श्रृंखलाओं के प्राकृतिक सौंदर्य से घिरा हुआ है, जिसके कारण पर्यटकों का आना-जाना लगा रहता है। मानसून के दिनों में यहां की खूबसूरती देखने लायक होती है, जिसे देखने के बाद शायद आपको और कोई बांध पसंद ना आए। तो आप एक बार यहां जरूर जाएं।

रिहंद बांध, उत्तर प्रदेश

रिहंद बांध, उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश का रिहंद बांध, सोना नदी की एक सहायक नदी रिहंद नदी पर बना है, जिसकी ऊंंचाई 91 मीटर है। सोनभद्र जिले में बने रिहंद बांध द्वारा बनाई गई जलाशय गोविंद बल्लभ पंत (जीबीपी) जलाशय के रूप में जानी जाती है।

तुंगाभद्रा बांध, कर्नाटक

तुंगाभद्रा बांध, कर्नाटक

कर्नाटक का तुंगाभद्रा बांध, कृष्णा नदी की सहायक नदी तुंगभद्रा नदी पर बनाई गई है, जिसकी ऊंचाई 50 मी. है। यह कर्नाटक का सबसे बड़ा बांध है और इसे पंपा सागर बांध के नाम से भी जानते हैं। यहां प्रकृति की अपार सुंदरता को निहारा जा सकता है, जो मानसून में प्यारा दिखता है।

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X