» »बिहार के इस मंदिर में मूर्तियां करती हैं आपस में बात..वैज्ञानिकों ने भी जताई सहमती

बिहार के इस मंदिर में मूर्तियां करती हैं आपस में बात..वैज्ञानिकों ने भी जताई सहमती

Written By: Goldi

भारत में यात्रा कहीं भी करें आपको प्रायः हर गली हर मुहल्ले हर चौराहे पर मंदिर दिख ही जाएंगे। गौरतलब है कि भारत के मंदिर जहां एक तरफ वास्तुशिल्प और मूर्तियों के मामले में बेजोड़ है।

भारत में कई ऐसे मंदिर भी है,जो अपने वैभव के कारण प्रसिद्ध है तो कोई भक्तों की आस्था के कारण। भारतीयों में आस्था और विश्वास की पकड़ इतनी मजबूत है कि वो इसके सहारे बड़ी से बड़ी बाधा को भी पार कर जाते हैं। भारत में मथुरा, काशी, हरिद्वार, अयोध्या और द्वारका जैसे कई प्रसिद्ध तीर्थ स्थल तो हैं ही लेकिन कुछ ऐसे भी हैं जिनकी अद्भुत नक्काशी उनको अछूता नहीं रखती जहाँ दूर दूर से भक्तों की कतार उमड़ी रहती है।

तवांग के कुछ खूबसूत पर्यटक स्थल

इसी क्रम में आज हम आपको एक ऐसे मंदिर के बारे में बताने जा रहें है....जहां साधकों की हर मनोकामना पूरी होती है। तंत्र साधना के लिए प्रसिद्ध बिहार के इकलौते राज राजेश्वरी त्रिपुर सुंदरी मंदिर में में प्रधान देवी राज राजेश्वरी त्रिपुर सुंदरी के अलावा बंगलामुखी माता, तारा माता के साथ दत्तात्रेय भैरव, बटुक भैरव, अन्नपूर्णा भैरव, काल भैरव व मातंगी भैरव की मूर्तियां भी स्थापित हैं।

उत्तर प्रदेश में यात्रा करने के लिए10 खूबसूरत स्थल

डुमरांव इलाके में बने इस मंदिर से अनेक मान्यताएं और रहस्य जुड़े हैं। मंदिर में देवताओं के आपस में बात करने की भी आवाज लोगों को सुनाई पड़ती है। ।तो आइये बिना देरी किये इस मंदिर में जानते हैं स्लाइड्स में

राज राजेश्वरी त्रिपुर सुंदरी मंदिर

राज राजेश्वरी त्रिपुर सुंदरी मंदिर

तंत्र साधना के लिए प्रसिद्ध बिहार के इकलौते राज राजेश्वरी त्रिपुर सुंदरी मंदिर में साधकों की हर मनोकामना पूरी होती है। देर रात तक साधक इस मंदिर में साधना में लीन रहते हैं।

राज राजेश्वरी त्रिपुर सुंदरी मंदिर

राज राजेश्वरी त्रिपुर सुंदरी मंदिर

यह मंदिर करीब 400 साल पुराना माना जाता है। इसकी स्थापना एक तांत्रिक ने की थी। उसका नाम भवानी मिश्र था। मंदिर में देवी की विभिन्न प्रतिमाएं तंत्र साधना के लिए स्थापित की गई हैं। भवानी मिश्र के बाद उनके वंशज इस मंदिर में पुजारी बनते रहे हैं।

राज राजेश्वरी त्रिपुर सुंदरी मंदिर

राज राजेश्वरी त्रिपुर सुंदरी मंदिर

इस मंदिर में त्रिपुर सुंदरी की आराधना की जाती है। इसके अलावा बगलामुखी, तारा देवी, भगवान भैरव आदि की आराधना भी होती है। मंदिर में देवी-देवताओं की कई प्राचीन मूर्तियां स्थापित हैं। तंत्र साधक इनकी आराधना करते हैं।

राज राजेश्वरी त्रिपुर सुंदरी मंदिर

राज राजेश्वरी त्रिपुर सुंदरी मंदिर

मान्यता है कि जब रात को यहां पूरी तरह खामोशी होती है तो विशेष प्रकार की आवाज सुनाई देती है। तंत्र साधकों और श्रद्धालुओं का मानना है कि ये आवाजें इन मूर्तियों से आती हैं।

राज राजेश्वरी त्रिपुर सुंदरी मंदिर

राज राजेश्वरी त्रिपुर सुंदरी मंदिर

मंदिर के करीब से गुजरने वाले कई राहगीर भी यह मानते हैं कि तंत्र साधना से सिद्ध इन मूर्तियों से रात को विशेष प्रकार की आवाजें आती हैं। वहीं, कुछ लोगों का यह मानना है कि मंदिर की बनावट इस प्रकार है कि यहां सूक्ष्म ध्वनि काफी देर तक गूंजती रहती है। यही कारण है कि शब्द यहां के वातावरण में भ्रमण करते रहते हैं।

राज राजेश्वरी त्रिपुर सुंदरी मंदिर

राज राजेश्वरी त्रिपुर सुंदरी मंदिर

वैज्ञानिकों के मुताबिक ये किसी तरह का वहम नहीं है, बल्कि सच में मंदिर के अंदर से कुछ लोगों के बोलने की आवाज़ें आती हैं।

राज राजेश्वरी त्रिपुर सुंदरी मंदिर

राज राजेश्वरी त्रिपुर सुंदरी मंदिर

दरअसल इस बात की पुष्टि के लिए वैज्ञानिकों की एक टीम भी बनाई गई थी, जिन्होंने रिसर्च करने के बाद कहा कि यहां पर कोई आदमी नहीं है। इस कारण यहां पर शब्द भ्रमण करते रहते हैं।वैज्ञानिकों ने यह भी माना, कि यहां पर कुछ न कुछ अजीब घटित होता है, जिससे कि यहां पर आवाज़ें सुनाई देती हैं।

Please Wait while comments are loading...