» »अगर देखनी है बर्फ..बिना देरी किये चले आओ सोनमार्ग

अगर देखनी है बर्फ..बिना देरी किये चले आओ सोनमार्ग

Written By: Goldi

सोनमार्ग जम्मू कश्मीर का एक खूबसूरत सा हिल स्टेशन है..जोकि घने देवदार के पेड़ों से भरपूर है।सोनमार्ग का अर्थ है, 'सोने के मैदान' जो इसे एक अनोखा नाम देता है। इस स्थान के आस पास के क्षेत्रों में कश्मीर की घाटी के हिमालय ग्लेसियर्स मौजूद है..जो देखने में काफी मनोरम प्रतीत होते हैं।

इसी बाग़ में शुरू हुई थी अमिताभ-रेखा की प्रेमकहानी 

पहाड़ों की ऊँची चोटियों पर जब सूर्य की किरणें पड़ती हैं तो वे भी सुनहरी दिखती हैं। सोनमार्ग उन यात्रियों के लिए उचित गंतव्य है जो साहसिक गतिविधियों जैसे ट्रेकिंग या पैदल लंबी यात्रा में रूचि रखते हैं। यह स्थान अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए जाना जाता है जिसमें झीलें, दर्रे और पर्वत शामिल हैं। सोनमार्ग अमरनाथ जाने वाले तीर्थयात्रियों के लिए प्रारंभ बिंदु की तरह है।

जाने देश के सबसे ऊँचे पर्वतों को 

सोनमार्ग एक अल्पाइन घाटी है जो कि श्रीनगर से 90 किमी की दूरी पर स्थित है। ये स्थान समुद्र तल से 2800 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। सोनामर्ग से जोजी ला पास करीबन 15 किमी की दूरी पर स्थित है जोकि लद्दाख का गेटवे भी कहा जाता है। सोनामर्ग के आसपास घूमने की जगह

निलागर्द नदी

निलागर्द नदी

सोनमार्ग से 6 किमी. की दूरी पर स्थित है और अपने लाल पानी के लिए प्रसिद्द है। ऐसा विश्वास है कि इस नदी के लाल पानी में औषधीय गुण हैं। यह पिकनिक बनाने के लिए एकदम परफेक्ट प्लेस है।
PC:Mehrajmir13

कृष्णासर झील

कृष्णासर झील

कृष्णासर झील सुंदर हिमाच्छन्न पहाड़ों और घने जंगलों से भरपूर है..यह झील सोनमार्ग से करीबन 20 किमी की दूरी पर स्थित है। सर्दियों के दौरान यह झील पूरी तरह जम जाती है। समुद्री तल से 3800 मीटर की ऊंचाई पर पर स्थित यह झील पर्यटकों के बीच खासी लोकप्रिय है,इस झील में फिशिंग का आनन्द भी उठाया जा सकता है। PC: Mehrajmir13

बलटाल

बलटाल

बलटाल सोनमार्ग से करीब 15 किमी की दूरी पर स्थित एक रोमांचक रास्ता है..यह रास्ता अमरनाथ यात्रा के दौरान श्रधालुयों द्वारा इस्तेमाल किया जाता है।इस रास्ते से अमरनाथ गुफा में दर्शन करके सिर्फ एक दिन में ही वापस कैंप पर लौटा जा सकता है।

खीर भवानी मंदिर

खीर भवानी मंदिर

खीर भवानी मंदिर देवी खीर भवानी को समर्पित है..इस मंदिर की वास्तु कला बस देखते है बनती है।PC: akshey25

विश्नाशर झील

विश्नाशर झील

विश्नाशर झील सोनमार्ग से करीब 18 किमी की दूरी पर स्थित झील है,विश्नाशर का मतलब है "विष्णु की झील"। इस झील के किनारे में प्राकृतिक खूबसूरती को बखूबी निहारा जा सकता है । PC: Mehrajmir13

गंगाबल झील

गंगाबल झील

गंगाबल झील समुद्र सतह से 3570 मीटर की ऊँचाई पर स्थित गंगाबल झील हरमुख पर्वत की तलहटी में स्थित है जो कश्मीर घाटी की सबसे ऊँची छोटी है। हरमुक गंगा के नाम से प्रसिद्द यह झील 2.5 किमी. लंबी और 1 किमी. चौड़ी है तथा झेलम नदी का मुख्य स्त्रोत है। अगस्त के तीसरे सप्ताह में यहाँ एक वार्षिक मेला भरता है जो इस स्थान का सबसे बड़ा आकर्षण है। यह मेला कश्मीरी हिंदुओं द्वारा आयोजित किया जाता है और सोनमर्ग की यात्रा पर जाने वाले पर्यटकों को इस मेले की सैर अवश्य करनी चाहिए।PC: aehsaan

 थजिवास ग्लेशियर

थजिवास ग्लेशियर

थजिवास ग्लेशियर समुद्र सतह से 3000 किमी. की ऊँचाई पर स्थित है और पूरे वर्ष बर्फ से ढंका हुआ रहता है। इस स्थान पर पहुँचने के लिए पर्यटक सोनमर्ग से टट्टू (छोटे घोड़े) किराये पर ले सकते हैं।
PC: flickr.com

निचिंई दर्रा

निचिंई दर्रा

निचिंई दर्रा ट्रेकिंग का बेस(प्रारंभ स्थान) है और सोनमार्ग से 13 किमी.की दूरी पर स्थित है। यह समुद्र सतह से 4139 मीटर की ऊँचाई पर प्रकृति के बीच स्थित है। इस स्थान के पास कृष्णासर झील और विशंसर झील स्थित है।
PC: wikimedia.org

कैसे पहुंचे

कैसे पहुंचे

हवाईजहाज द्वारा
सोनमार्ग का सबसे नजदीकी एयरपोर्ट श्रीनगर है जोकि सोनमार्ग से 70 किमी की दूरी पर है..पर्यटक एयरपोर्ट से बस या टैक्सी या द्वारा आसानी से सोनमार्ग पहुंच सकते हैं।

ट्रेन द्वारा
ट्रेन द्वारा हाल ही में श्रीनगर में रेलवे स्टेशन बन गया है, व रेल सेवा भी आरंभ हो चुकी है। निकटतम स्टेशन है श्रीनगर। पर्यटक स्टेशन से बस या टैक्सी या द्वारा आसानी से सोनमार्ग पहुंच सकते हैं।

कब आयें सोनमर्ग

कब आयें सोनमर्ग

सर्दियों के दौरान सोनमर्ग में भारी मात्रा में बर्फबारी देखने को मिलती है..यहां आने का सबसे उचित समय अक्टूबर से अप्रैल तक है।

Please Wait while comments are loading...