• Follow NativePlanet
Share
» »काउंटर मैग्नेट सिटी या इस्पात के शहर हिसार में क्या है एक टूरिस्ट और ट्रैवलर के लिए

काउंटर मैग्नेट सिटी या इस्पात के शहर हिसार में क्या है एक टूरिस्ट और ट्रैवलर के लिए

Written By: Staff

यदि भारत में मौजूद पर्यटन के बिन्दुओं पर नज़र डालें तो यहां ऐसा बहुत कुछ है जिस कारण देश दुनिया के लोग यहां मौजूद अलग अलग राज्यों की तरफ आकर्षित हो रहे हैं। इसी क्रम में आज हम आपको बताने जा रहे हैं उस शहर के बारे में जिसे इस्पात के शहर के रूप में जाना जाता है। जी हां, हम बात कर रहे हैं हरियाणा के हिसार की। हिसार नई दिल्ली के पश्चिम में 164 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह प्रवासियों को आकर्षित करने और दिल्ली के लिए विकास का एक वैकल्पिक केंद्र बन चुका है जिसको राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र का काउंटर मैग्नेट सिटी भी कहा जाता है। हिसार अपने इस्पात उद्योग के लिए जाना जाता है और इसलिए इसे "इस्पात का शहर" भी कहते हैं।

यदि बात इस खूबसूरत शहर में घूमने की हो तो यहां आने वाले पर्यटक सेंट थॉमस चर्च, अग्रोहा धाम या अग्रोहा मंदिर, लोहारी राघो, बाबा पन्निर बादशाह की कब्र, बरसी गेट की यात्रा अवश्य करें। आइये इस लेख के माध्यम से जानें कि हिसार की यात्रा पर ऐसा क्या है जो आपको वहां अवश्य देखना चाहिए।

Read : सूबेदार की बेटी और गरीब लकड़हारे के अनोखे प्यार को दर्शाता है ये तालाब

अग्रोहा धाम

अग्रोहा धाम या अग्रोहा मंदिर, जो की नाम से ही पता चलता है, हिसार जिले के एक गांव अग्रोहामें स्थित है। इसका निर्माण 1976 में शुरू किया और 1984 में आठ साल में पूरा हुआ। मंदिर परिसर को तीन हिस्सों में बांटा गया है। बीच वाला भाग देवी महालक्ष्मी को समर्पित है, जो मंदिर के मुख्य देवी है।

वहीं पश्चिमी और पूर्वी हिस्से में कुछ तीन हजार साल पहले की देवी सरस्वती और महाराजा अग्रसेन, अग्रोहा राज्य के शासक को समर्पित हैं। शक्ति सरोवर नामक एक बड़ा तालाब मंदिर के पीछे है। तालाब को 1988 में भारत की 41 पवित्र नदियों से लाये गए पानी के साथ पवित्र किया गया था।

फिरोज शाह महल का परिसर

हिसार में स्थित, फिरोज शाह का महल 1354 ई. में फिरोज शाह तुगलक ने बनवाया था। हिसार के मूल शहर किले के अंदर एक दीवारों के बंदोबस्त के बीच बसा था जिसमें चार दरवाजे थे, दिल्ली गेट, मोरी गेट, नागौरी गेट और तलाकी गेट। महल में एक मस्जिद है जिसका नाम 'लाट की मस्जिद' है। यह लगभग 20 फुट ऊंची बलुआ पत्थर के स्तंभों बने गयी है।

परिसर में भी भूमिगत अपार्टमेंट है जिनको दीवान ए आम भी कहा जाता है। इसके पास एक और महल है जिसको गुजरी महल कहते है। इस महल को फिरोज शाह ने अपनी पत्नी गुजरी के लिए बनाया गया था। यह माना जाता है की, गुजरी सम्राट की मालकिन थी।

बरसी गेट

बरसी गेट, हांसी शहर के दक्षिण में स्थित है जो हिसार से 26 किमी पूर्व में है। यह गेट शहर के लिए पांच मुख्य प्रवेश द्वार में से एक है, अन्य चार दिल्ली गेट, हिसार गेट, गोसाई गेट और उमरा गेट हैं। यह शाही गेट शहर के व्यस्त बाजार में हांसी किले की बाहरी रक्षा दीवार पर बना है।

 हरियाणा के हिसार में क्या देखें आप

यह अपने सुनहरे दिनों में हांसी के प्राचीन किले में प्रवेश द्वार हुआ करता था। इस गेट का निर्माण वर्ष 1304-1305 ई. हुआ था और उसके दरवाजे पर एक फारसी शिलालेख है। माना जाता है की किल्हाना, प्रसिद्ध राजपूत योद्धा राजा पृथ्वीराज के एक क्षत्रप द्वारा बनाया गया था।

सेंट थॉमस चर्च

हरियाणा के हिसार शहर में राष्ट्रीय राजमार्ग नं .10 पर स्थित है, सेंट थॉमस चर्च चार साल में बना था दिसंबर, 1860 से मई, 1864। यह चर्च सेंट थॉमस को समर्पित है को यीशु मसीह के बारह शिष्यों में से एक थे। उन दिनों में इसका निर्माण में 4500 रूपए की लागत आई थी। पवित्र चर्च को कलकत्ता के बिशप, जॉर्ज एडवर्ड लिंच कॉटन द्वारा 31 दिसंबर 1865 को प्रतिष्ठित किया था। चर्च के डिजाइन और निर्माण में विक्टोरियन शैली वास्तुकला की मुख्य विशेषताएं मौजूद है।

चर्च में वेदी, उपदेश के लिए एक व्यासपीठ, एक वेस्ट्री और बपतिस्मा है जहाँ ईसाई को नाम दिए जाते हैं। व्यासपीठ को मखमल पर्दे के साथ सजाया गया है। चर्च का मुख्या हाल दो फुट मोटी दीवारों से घिरा हुआ है जो 1325 वर्ग मीटर के क्षेत्रफल में बनाया गया था और लगभग 40 लोग के बैठने की सीट भी है।

कैसे जाएं हिसार

फ्लाइट द्वारा : हिसार का अपना खुद का कोई हवाई अड्डा नहीं है। निकटतम हवाई अड्डा दिल्ली हवाई अड्डा है। यहाँ से आप हिसार के लिए एक्सप्रेस ट्रेन ले सकते हैं और दिल्ली से हिसार की दूरी 165 किमी है।

रेल द्वारा : हिसार प्रमुख शहरों जैसे दिल्ली, जयपुर, अमृतसर और इलाहाबाद से रेल मार्ग से जुड़ा हुआ है।दिल्ली से हिसार के लिए कई गाड़ियों है जैसे लाल किला एक्सप्रेस, यूए तूफान एक्सप्रेस, गोरखधाम एक्सप्रेस, किसान एक्सप्रेस, और विक्रमशिला एक्सप्रेस हैं।

सड़क मार्ग द्वारा : हिसार अच्छी तरह से दिल्ली और हरियाणा जैसे प्रमुख शहरों और पड़ोसी राज्यों से सड़क मार्ग से जुड़ा हुआ है। दिल्ली से सड़क मार्ग से 2 घंटे, 40 मिनट का समय है। सार्वजनिक और निजी दोनों बसों सेवा मौजूद रहती है।

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स