• Follow NativePlanet
Share
» »एमपी के खजुराहो के बाद अब जानिये टूरिज्म की दृष्टि से क्यों ख़ास है होशंगाबाद

एमपी के खजुराहो के बाद अब जानिये टूरिज्म की दृष्टि से क्यों ख़ास है होशंगाबाद

Posted By: Staff

मध्य प्रदेश का शुमार भारत के उन चुनिंदा राज्यों में है जो अपनी सभ्यता संस्कृति से विश्व पटल पर एक ख़ास मुकाम रखता है। यहां घूमने लायक़ बहुत कुछ ऐसा है जो देश के अलावा दुनिया भर के पर्यटन प्रेमियों को अपनी तरफ आकर्षित कर रहा है। इसी क्रम में आज अपने इस आर्टिकल के जरिये हम आपको अवगत कराने वाले हैं मध्य प्रदेश के एक बेहद खूबसूरत शहर होशंगाबाद से।

होशंगाबाद नर्मदा नदी के उत्तरी तट पर तथा देश के केन्द्र में स्थित है। इस स्थान का राज्य तथा देश के इतिहास में महत्वपूर्ण स्थान है। पहले इसका नाम नर्मदा नदी के नाम पर नर्मदापुरम् रखा गया था लेकिन बाद में नर्मदापुरम् के शासक होशंग शाह के नाम पर इसका नाम होशंगाबाद पड़ा। प्राचीन काल से ही यह शहर अपने सुन्दर प्राकृतिक, आध्यात्मिक और दर्शनीय स्थलों के कारण हर साल बड़ी संख्या में पर्यटकों को आकर्षित करता रहा है।

Read : उस अयोध्या की चुनिंदा तस्वीरें जहां BJP वादे के मुताबिक बनवा सकती है राम मंदिर

बात यदि पर्यटन की हो तो शहर में पर्यटकों के लिये कई आकर्षण हैं। चाहे सतपुड़ा नेशनल पार्क हो या आदमगढ़ की पहाड़ियों पर प्राचीन नक्काशी या बान्द्राभान हो, पर्यटक भारी संख्या में इन स्थानों पर आते हैं। सल्कानपुर, होशंग शाह किला, खेड़ापति हनुमान मन्दिर, रामजी बाबा समाधि कुछ ऐसे आकर्षण हो जो होशंगाबाद की सुन्दरता को दर्शाते हैं। आइये जानें क्या क्या कर सकते हैं आप होशंगाबाद में। PICS : तस्वीरों में हॉट एंड सेक्सी खजुराहो

सतपुड़ा नेशनल पार्क

सतपुड़ा नेशनल पार्क खासतौर से बाघ संरक्षण केन्द्र के रूप में विख्यात होने को साथ-साथ विभिन्न प्रकार के जीव-जन्तुओं और पेड़-पौधों का घर है। यह भारत के सभी वन्यजीव अभ्यारण्यों में से सबसे कम देखा गया है। प्रारम्भ में इसे बाघों के संरक्षण के उद्देश्य से स्थापित किया गया था। पार्क की जमीन काफी पथरीली होने के साथ-साथ इसमें कई घाटियाँ, झरने और पगडण्डिया हैं। पार्क में टहलते समय रेतीले पत्थर वाली चोटियों, घने साखू के जंगलों और विशाल तवा जलाशय को देखकर अचम्भित नहीं होना चाहिये। सतपुड़ा नेशनल पार्क आने पर पर्यटक चितकबरे हिरण, साही, बाघ, तेन्दुआ और दलदल वाले मगरमच्छ आदि को आसानी से देख सकते हैं। यहां कई ऐसे दुर्लभ जानवर हैं जो आपने पहले कभी न देखें होंगे।

रामजी बाबा समाधी

रामजी बाबा समाधी होशंगाबाद का एक मुख्य आकर्षण है। समाधी में एक बहुत प्रसिद्ध सन्त रामजी बाबा की कब्र है। स्थानीय लोगों द्वारा रामजी बाबा की समाधि पर एक महीने चलने वाले वार्षिक मेले का आयोजन किया जाता है। आस-पास और दूर-दराज़ से भारी संख्या में भक्त समाधी पर आते हैं। होशंगाबाद में रहने वाले लोगों के लिये रामजी बाबा की समाधी ही आध्यात्म केन्द्र बिन्दु है। समाधी पर आने वाले लोगों की संख्या इस बात को दर्शाती है कि बाबा के भक्त न केवल राज्य भर में फैले हैं बल्कि पूरे देश में व्याप्त हैं। इसलिये आध्यात्मिक रूप से महत्वपूर्ण रामजी बाबा की समाधी होशंगाबाद शहर की सुन्दरता बढ़ाती है।

सेठानी घाट

होशंगाबाद में क्या देखें आप

सेठानी घाट होशंगाबाद का एक अन्य प्रमुख आकर्षण है जहां हर साल हज़ारों लोग घूमने आते हैं। आपको बताते कि इस घाट का शुमार उन घाटों में है जो आकार के हिसाब से बड़े हैं। ज्ञात हो ज्ञात हो कि नर्मदा जयंती महोत्सव के दौरान यहां देश भक्त से भक्त आते हैं जो नर्मदा नदी में स्नान करते हैं। इस घाट का नाम जानकी बाई सेठानी के नाम पर है जिन्होंने इस घाट का निर्माण कराया था।

होशंग शाह का किला

होशंग शाह के किले का शुमार यहां के सबसे पुराने स्मारकों में है जिसका निर्माण मालवा शासक होशंग शाह ने करवाया था। आपको बता दें कि ये किला नर्मदा नदी के किनारे बना हुआ है। हालांकि ये एक प्राचीन स्मारक है मगर वास्तुकला ऐसी है कि आने वाले किसी भी पर्यटक को मन्त्र मुग्ध कर सकती है। आपको बता दें कि ये स्थान फोटोग्राफर के लिए स्वर्ग है तो यदि आप यहां आ रहे हों तो अपने साथ कैमरा ले आना न भूलिए।

कैसे जाएं होशंगाबाद

फ्लाइट द्वारा

होशंगाबाद के लिये निकटतम हवाईअड्डा राज्य की राजधानी भोपाल में स्थित राजा भोज हवाईअड्डा है। होशंगाबाद और भोपाल के बीच की दूरी लगभग 70 किमी है। भोपाल से होशंगाबाद आने वाले यात्रियों के लिये टैक्सियाँ सुविधाजनक विकल्प हैं। यात्री बस द्वारा भी भोपाल से होशंगाबाद आ सकते हैं।

ट्रेन द्वारा

होशंगाबाद का अपना सुव्यवस्थित रेलवे स्टेशन है जहाँ निरन्तर गाड़ियों की आवाजाही लगी रहती है। होशंगाबाद रेलवेस्टेशन शहर के केन्द्र में स्थित है। मध्यप्रदेश के प्रमुख शहरों से इस स्थान के लिये अच्छी रेल सेवायें उपलब्ध हैं। इस शहर में आने के लिये रेल एक अच्छा विकल्प है।

सड़क मार्ग द्वारा

होशंगाबाद मध्यप्रदेश के सभी प्रमुख शहरों से अच्छी सड़कों के माध्यम से जुड़ा हुआ है। चूँकि यह शहर मध्यप्रदेश की राजधानी से दूर नहीं है इसलिये सड़कमार्ग द्वारा यहाँ तक यात्रा करना सुविधाजनक है। यात्री टैक्सी या बस लेकर होशंगाबाद शहर तक पहुँच सकते हैं।

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स