Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »भारत के राष्‍ट्रीय राजमार्गों से जुड़ी दिलचस्‍प बातें

भारत के राष्‍ट्रीय राजमार्गों से जुड़ी दिलचस्‍प बातें

By Namrata Shastry

P.C: Stage 7 Photography

खूबसूरती को नीले आकाश और खुली सड़क पर ही महसूस किया जा सकता है। अपने जीवन के अधिकतर यादगार लम्‍हों को हम रोड़ ट्रिप के दौरान ही जीते हैं। खुली सड़कों पर बाइक या कार से घूमते हुए ऐसा लगता है कि हम खुले आकाश में उड़ रहे हैं। खुले आकाश के नीचे तेज हवा में उड़ते हुए बाल हमें हमारी स्‍वतंत्रता का अहसास दिलाते हैं। ये सब अनुभव आपको भारत के राजमार्गों पर मिल सकते हैं।

आपने भी भारतीय राजमार्गों पर सफर तो किया ही होगा लेकिन क्‍या आप इनसे जुड़ी जरूरी जानकारी के बारे में जानते हैं।

कई बार हाईवे हमारी यात्रा का महत्‍वपूर्ण हिस्‍सा बन जाते हैं और आज हम आपको इस लेख के ज़रिए भारतीय राजमार्गों के बारे में कुछ जरूरी बातें बताने जा रहे हैं।

बुलंद राजमार्गों का निर्माण भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा किया जाता है। प्राधिकरण राजमार्गों के रख-रखाव का वित्त पोषण भी करता है। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग को पूर्व माननीय प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी द्वारा शुरू किया गया था एवं यह सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय के अंतर्गत आता है। अटल बिहारी बाजपेयी की अध्यक्षता में शुरू की गई राष्ट्रीय राजमार्ग विकास परियोजना (NHDP) भारत की सबसे बड़ी राजमार्ग परियोजना है जिसका उद्देश्य राजमार्गों का उचित रख-रखाव और उन्नयन है।

क्या आप जानते हैं कि ये राजमार्ग भारतीय सड़कों का केवल 1.8% हिस्‍सा हैं लेकिन इनकी मदद से देश में सड़क यातायात का 40% ट्रैफिक कम होता है।

आइए जानते हैं भारत के राजमार्गों के बारे में दिलचस्‍प बातें एवं तथ्‍य।

कुल लंबाई

कुल लंबाई

P.C: Stage 7 Photography

वर्तमान में एक्सप्रेसवे, ग्रामीण और जिला सड़कों से बंधे भारतीय राजमार्गों की कुल लंबाई लगभग 33 किलोमीटर है।

सबसे लंबा हाईवे

सबसे लंबा हाईवे

P.C: Bruno Bergher

नेशनल हाईवे नेटवर्क ऑफ इंडिया कई शहरों, कस्बों, जिलों और यहां तक कि गांवों को जोड़ने वाले राजसी विस्तृत राजमार्गों का एक जटिल संपर्क है। जम्मू और कश्मीर में श्रीनगर से तमिलनाडु के सुदूर दक्षिण कन्याकुमारी तक चलने वाला एनएच 44, भारत का सबसे लंबा राष्ट्रीय राजमार्ग है जिसकी कुल दूरी 3,745 किलोमीटर है। इस राजमार्ग से कश्मीर से कन्याकुमारी तक विविध परिदृश्यों के माध्यम से पहुंचा जा सकता है।

सबसे छोटा हाईवे

सबसे छोटा हाईवे

P.C: Tobias Freeman

देश के सबसे छोटे राष्ट्रीय राजमार्ग एनएच 118 और एनएच 548 हैं। एनएच 118 महज़ 5 किमी लंबे ये हाईवे पूर्व झारखंड राज्य के कस्बों आसनबनी और जमशेदपुर को जोड़ता है। एनएच 548 लगभग 5 किमी लंबा महाराष्ट्र राज्य का हाईवे है। यह वास्तव में एनएच 48 का प्रेरित रोड़ है।

कुल राजमार्गों की संख्‍या

कुल राजमार्गों की संख्‍या

P.C: NeONBRAND

दुनिया के दूसरे सबसे बड़े सड़क नेटवर्क के रूप में लोकप्रिय है भारत का राजमार्ग एवं इस देश में 200 से अधिक राष्ट्रीय राजमार्ग हैं। लगभग 101,011 कि.मी की संचयी लंबाई के साथ भारतीय सड़क नेटवर्क की कुल लंबाई 1,31,899 किलोमीटर है।

सबसे लंबा संगम इंटरचेंज

सबसे लंबा संगम इंटरचेंज

P.C:Zainal Azrin Mohamad Saari

अद्भुत भारतीय सड़क नेटवर्क में क्लोवरलीफ़ इंटरचेंज भी शामिल हैं। सभी क्लोवरलीफ़ इंटरचेंजों में सबसे लंबा तमिलनाडु के चेन्नई में है। काठीपारा जंक्शन या काठीपारा का क्लोवरलीफ़ देश का सबसे लंबा क्लोवरलीफ़ इंटरचेंज है और इसे एशिया में भी सबसे बड़े क्लोवरलीफ़ फ्लाईओवर के रूप में दर्ज दिया गया है।

उच्चतम ऊंचाई वाला राजमार्ग

उच्चतम ऊंचाई वाला राजमार्ग

P.C: Jose Antonio Jiménez Macías

ऊबड़-खाबड़ हिमालयी तिरछी पहाड़ियों पर भारतीय सड़क नेटवर्क की सर्पीली पटरियां हमें पर्वतीय शहरों और शहरों से जुड़े रहने में मदद करती हैं। लेह-मनाली राजमार्ग उच्चतम ऊंचाई वाला मोटर राजमार्ग है जो हिमाचल प्रदेश के शिमला शहर को जम्मू और कश्मीर के लेह से जोड़ता है। यह मोटरेबल हाईवे दुनिया का दूसरा सबसे ज्यादा ऊंचाई वाला मोटर हाईवे भी है।

मील के पत्‍थर

मील के पत्‍थर

P.C: Matt Batchelor

सड़क मार्ग से यात्रा करते हुए राजमार्गों पर पड़ने वाले अलग-अलग रंगों मील के पत्थर को तो आपने देखा ही होगा। भारतीय राजमार्ग में तीन अलग-अलग रंग के मील के पत्थर लगाए गए हैं। राष्ट्रीय राजमार्गों के लिए पीले और सफेद रंग का कोड दिया गया है, राज्य राजमार्गों के लिए हरे और सफेद और अंतिम रूप से शहर के राजमार्गों के लिए काले और सफेद रंग का कोड है। मीलों की संख्या इंगित करने वाले ये छोटे-छोटे मील के पत्थर आपकी यात्रा को सुगम बनाते हैं।

कुल राजमार्गों की संख्‍या

कुल राजमार्गों की संख्‍या

P.C: Jason Blackeye

भारतीय राजमार्ग सड़क नेटवर्क के प्राथमिक राजमार्गों को दो अंकों में गिना जाता है। उत्तर से दक्षिण की ओर चलने वाले राजमार्ग को युग्‍म (ईवन) नंबर दिए गए हैं जबकि पूर्व से पश्चिम तक चलने वाले राजमार्गों को विषम संख्या दी गई है। इसके अलावा, तीन अंकों की संख्या वाले सभी राजमार्ग शाखाएं हैं, जो प्राथमिक दो अंकों वाले राजमार्ग से जुड़ती हैं।

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Nativeplanet sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Nativeplanet website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more