Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »मध्य प्रदेश के राजसी महल, जिन्होंने अपने शाही ठाट-बाट और विलासिता से लिखा है एक अलग इतिहास!

मध्य प्रदेश के राजसी महल, जिन्होंने अपने शाही ठाट-बाट और विलासिता से लिखा है एक अलग इतिहास!

सच कहूँ तो मध्य प्रदेश किसी यात्री के लिए ख़ज़ाने की तिजोरी से कम नहीं है। भले ही आप चाहे विरासतों और इतिहास के उतने दीवाने ना हों पर मध्य प्रदेश के इन बारीकी से किये गए जटिल कारीगरी को एक खूबसूरत शक्ल दिए गए नमूनों को देख मंत्रमुग्ध होते हुए अपने आपको बचा नहीं पाएंगे, ऐसी है मध्य प्रदेश की विरासतों और धरोहरों की खूबसूरती। कहते हैं कई वीर योद्धाओं ने यहाँ राज कर अपनी निशानी के तौर पर ऐसी-ऐसी रचनाएँ बना कर गए जिन्हें आज के समय में ऐसा रूप देना शायद ही मुमकिन होता है।

[खजुराहो में कामुक मूर्तियों के दर्शन!]

ऐसी अनमोल रचनाएँ भारत के उस शाही दौर की यात्रा पर हमें ले जाती हैं जब हमारा देश सोने की चिड़िया कहलाता था। ऐसी समृद्ध रचनाओं को देखना हमेशा से ही हमारे लिए गर्व की और उत्साह की बात रही है। सदियों पहले ऐसी तकनीक इस्तेमाल करके राजाओं के वासस्थल को बनाया गया जो शायद ही आज के इंजीनियर सोच भी पाएं। और सबसे बड़ी बात प्रकृति को बिना हानि पहुंचाएं रचनाओं को ऐसा रूप दिया जो आज तक समय की कसौटी पर खरे उतर बड़ी से बड़ी आधुनिक इमारतों को मात देते हैं।

[मदिरापान करते काल भैरव बाबा!]

चलिए आज हम आपको मध्यप्रदेश के इसी ख़ज़ाने की सैर पर लिए चलते हैं जिनको देख आप सोच में पड़ जायेंगे कि आज तक इनकी मजबूती से खड़े रहना का कारण क्या है। और शायद यहाँ की यात्रा कर आपको अपने ऐसे ही कई सवालों का जवाब भी मिल जाये। इसलिए निकल पढ़िए इन समृद्ध, शाही,ठाट-बाट वाली दुनिया की सैर करने!

[महल की छत पर बना उस समय का स्विमिंग पुल!]

जय विलास महल

जय विलास महल

जय विलास महल मध्य प्रदेश में स्थित यूरोपीय स्थापत्य शैली के बने महलों में से एक है। इस शानदार महल का निर्माण मध्य प्रदेश के ऐतिहासिक समृद्ध राज्य ग्वालियर में करवाया गया।

Image Courtesy: Shobhit Gosain

जय विलास महल

जय विलास महल

यह ऐतिहासिक महल मराठा सिन्धिया वंश से ताल्लुक रखता है। आज महल का कुछ भाग जीवाजी राव सिंधिया संग्रहालय में तब्दील कर दिया गया है।

Image Courtesy: Shobhit Gosain

जय विलास महल

जय विलास महल

लेफ्टिनेंट कर्नल सर माइकल फ़िलोस इसके वास्तुकार थे। महल का निर्माण कार्य सन् 1874 ईसवीं में तब पूरा हुआ जब महारानी विक्टोरिया भारत की साम्राज्ञी के रूप में अपनी सत्ता शक्ति के चरम पर थी।

Image Courtesy: Shobhit Gosain

जय विलास महल

जय विलास महल

महल में लगभग 400 कमरे हैं जिनमें से 40 कमरे संग्रहालय के रूप में हैं।

Image Courtesy: Shobhit Gosain

जय विलास महल

जय विलास महल

40 कमरों के इस संग्रहालय में पुराने अस्त्र शस्त्र, डोली बग्घियां और बहुत सारे शाही परिवार से सम्बन्ध रखने वाली चीजों को आज तक संरक्षित रखा गया है।

Image Courtesy: HarshAJ

मान मंदिर महल

मान मंदिर महल

ग्वालियर के किले के बारे में कौन नहीं जनता और मान मंदिर महल उसी अद्भुत रचना का एक हिस्सा है।

Image Courtesy: Varun Shiv Kapur

मान मंदिर महल

मान मंदिर महल

महल का निर्माण महाराजा मान सिंह द्वारा अपनी पत्नी रानी मृगनयनी के लिए तोहफे के रूप में करवाया गया था। इस महल की सबसे रोचक चीज़ है इसमें चित्रित परिष्करण।

Image Courtesy: Varun Shiv Kapur

मान मंदिर महल

मान मंदिर महल

दिलचस्प बात तो यह है कि इसका निर्माण कई विभिन्न प्रकार के टाइल्स को मिलाकर किया गया है। यह आलीशान महल ग्वालियर के किले के प्रमुख आकर्षणों में से एक है।

Image Courtesy: Varun Shiv Kapur

मान मंदिर महल

मान मंदिर महल

यह हिंदू वास्तुकला के साथ मिश्रित मध्ययुगीन वास्तुकला का अच्छा उदाहरण है। इसे पेंटेड हाउस भी कहा जाता है जिसमें फूलों, पत्तियों, जानवरों, मनुष्यों के रंगबिरंगे चित्र बने हुए हैं। महल के अंदर एक गोलाकार कारागृह है।

Image Courtesy: Gyanendra_Singh

मान मंदिर महल

मान मंदिर महल

यहीं पर औरंगज़ेब ने अपने भाई मुराद की हत्या की थी। यहीं पर एक तालाब भी है जिसे जौहर तालाब कहते हैं और यहीं पर राजपूत पत्नियों को सती बनाने की प्रथा निभाई जाती थी।

Image Courtesy: Ashish Thapar

होलकर महल

होलकर महल

होलकर महल का प्रवेश द्वार ही किसी यात्री को अपनी ओर खींचने के लिए काफी है।

Image Courtesy: Viraat Kothare

होलकर महल

होलकर महल

होलकर महल, जिसे राजवाड़ा के नाम से जाना जाता है, मध्य प्रदेश में इंदौर(खान पान की राजधानी) के प्रमुख पर्यटन केंद्रों में से एक है।

Image Courtesy: Viraat Kothare

होलकर महल

होलकर महल

इस राजवाड़े का निर्माण कुछ कुछ मराठा वास्तुशैली में किया गया। और सबसे दिलचस्प बात यह है कि महल का निर्माण महिला शासक अहिल्याबाई ने करवाया है।

Image Courtesy: Bernard Gagnon

होलकर महल

होलकर महल

इसकी खूबसूरत सजावट, झरोखे,कला के नमूने और इसकी पूरी की पूरी अद्भुत वास्तुकला किसी चमकते हुए आकर्षण से कम नहीं है।

Image Courtesy: Viraat Kothare

होलकर महल

होलकर महल

लकड़ी और लोहे से निर्मित राजसी संरचना से बना महल का प्रवेश द्वार यहां आने वाले हर पर्यटक का स्‍वागत करता है। यह पूरा महल लकड़ी और पत्‍थर से निर्मित है।

Image Courtesy: Bernard Gagnon

होलकर महल

होलकर महल

महल का निर्माण लगभग 200 साल पहले हुआ था और आज तक यह महल पर्यटकों के लिए एक विशेष आकर्षण रखता है।

Image Courtesy: Mohit8soni

दतिया महल

दतिया महल

मंत्रमुग्ध करता दतिया महल राजा बीर सिंह देव द्वारा 1614 ईसवीं में बनवाया गया था।

Image Courtesy: Vivek Shrivastava

दतिया महल

दतिया महल

इस 7 मंज़िला रचना का निर्माण किसी भी लकड़ी और लोहे के बिना, पत्थर और ईंटों द्वारा किया गया है। इसका मतलब यह पूरी सात मंज़िला इमारत बिना किसी धातु या लकड़ी के सहारे आज तक खड़ी है।

Image Courtesy: Ravi9889

दतिया महल

दतिया महल

दोस्ती की मिसाल, यह ऐतिहासिक इमारत बुन्देला शासकों द्वारा बनाई गई सबसे बेहतरीन इमारतों में से एक है।

Image Courtesy: Reema

दतिया महल

दतिया महल

सबसे ज़्यादा आश्चर्य करने वाली बात तो यह है कि किसी भी शाही परिवार ने आज तक इसमें वास नहीं किया है, यहाँ तक कि खुद राजा बीर सिंह देव ने भी नहीं।

Image Courtesy: Ravi9889

दतिया महल

दतिया महल

महल में आज भी कई सुन्दर और बेशकीमती मूर्तियां स्थापित हैं और महल के छत से नगर का खूबसूरत दृश्य देखने को मिलता है।

Image Courtesy: Politvs

दतिया महल

दतिया महल

यह ऐतिहासिक महल पहाड़ी पर ग्वालियर से लगभग 67 किलोमीटर दूर स्थित है। बीर सिंह देव महल की दीवारें खूबसूरत और अद्भुत चित्रों से सजी हुई हैं।

Image Courtesy: Politvs

दतिया महल

दतिया महल

चित्रों को जैविक रंगों से बनाया गया था,फलों और सब्जियों से तैयार किये गए रंगों से। महल की रचना से लेकर महल की कहानी भी आपको उत्साह से भर देगी।

Image Courtesy: Politvs

ओरछा का राजा महल

ओरछा का राजा महल

राजा महल ओरछा के किले में ही बना एक आलीशान महल है जो खास तौर पर राजा के लिए अलग से बनवाया गया था।

Image Courtesy: Arian Zwegers

ओरछा का राजा महल

ओरछा का राजा महल

यहाँ की खूबसूरती नक्काशी और शाही सजावट उस समय की बेहतरीन कारीगरी को बखूबी दर्शाते हैं।

Image Courtesy: Yann

ओरछा का राजा महल

ओरछा का राजा महल

पर अब यह शानदार महल राम राजा मंदिर के रूप में तब्दील हो गया है जहाँ भगवान राम जी को कुल देवता के रूप में पूजा जाता है।

Image Courtesy: Yann

ओरछा का राजा महल

ओरछा का राजा महल

दिलचस्प बात यह है कि यहाँ पर स्थापित राम जी के मंदिर को चतुर्भुज मंदिर में ले जाकर स्थापित करना था पर कोई भी इस मूर्ति को इस महल से हिला भी नहीं पाया। और इस तरीके से महल का एक हिस्सा मंदिर के रूप में तब्दील हो गया जहाँ राम जी को राजा की तरह पूजा जाने लगा।

Image Courtesy: Yann

ओरछा का राजा महल

ओरछा का राजा महल

महल के बाहरी स्तर पर पूरा परिसर लाटों से सजा है जबकि आन्तरिक सज्जा में सर्वश्रेष्ठ भित्तिचित्रों की भव्यता है।

Image Courtesy: Yann

जहाज़ महल, मांडू

जहाज़ महल, मांडू

जहाज़ महल का साधारण पर अद्भुत नज़ारा हर यात्री का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करने में सफल रहता है।

Image Courtesy: Shrikrishna gokhale

जहाज़ महल, मांडू

जहाज़ महल, मांडू

यह मांडू के सबसे प्राचीन रचनाओं में से एक है इस खूबसूरत नमूने को दो तालाबों के बीच इस तरह से बनवाया गया था जिससे कि यह जहाज़ की भांति लोगों को नज़र आये।

Image Courtesy: Yashasvi nagda

जहाज़ महल, मांडू

जहाज़ महल, मांडू

वास्तुकला की इस अद्भुत रचना का निर्माण सन् 1469-1500 ईसवीं के बीच खिलजी राजवंश के सुल्तान घियास-उद-दिन खिलजी द्वारा करवाया गया।

Image Courtesy: Adityabansal

जहाज़ महल, मांडू

जहाज़ महल, मांडू

महल की लंबाई लगभग 120 मीटर के करीब है। महल के निर्माण के लिए प्रमुख तौर पर अफगानिस्तान के आर्किटेक्चर को नियुक्त किया गया।

Image Courtesy: Abhishek727

जहाज़ महल, मांडू

जहाज़ महल, मांडू

जहाज़ महल मध्यप्रदेश के इतिहास का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। कहा जाता है कि यह व्याभिचारी राजाओं की विभिन बीवियों का वास स्थल हुआ करता था।

Image Courtesy: Varun Shiv Kapur

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स

Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Nativeplanet sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Nativeplanet website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more