• Follow NativePlanet
Share
» »होली में घर जाने लिए पैलेस क्वीन करेगी आपकी मदद

होली में घर जाने लिए पैलेस क्वीन करेगी आपकी मदद

भारत में लंबी यात्रा के लिए एक बड़ी आबादी 'भारतीय रेलवे' पर आश्रित है। क्योंकि रेल अपेक्षाकृत सस्ती और सुविधाजनक यात्रा मुहैया कराती है, जिसमें समाज का हर वर्ग आसानी से सफर कर सकता है। रेल यात्रा इसलिए काफी सुविधाजनक मानी जाती है, क्योकि इसमें हवाई यात्रा के दौरान दिमाग थका देने वाली प्रक्रियाओं से गुजरना नहीं पड़ता। वर्तमान में भारतीय जनसंख्या लगभग 127 करोड़ (अनुमानित) के करीब है। इतनी बड़ी जनसंख्या का भार संभालने में भारत का बृहद रेल तंत्र असक्षम माना जाता है। 

रूट्स में ट्रेन और जनरल-स्लीपर डिब्बों की कमी के कारण यात्रियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इसलिए अकसर भारतीय रेलवे सवालों के घेरे में रहती है। ट्रेन का बुरा हाल त्योहारों के समय ज्यादा देखने को मिलता है, यात्रियों से खचाखच भरी ट्रेन कभी-कभी बड़े हादसों का शिकार भी हो जाती है। इसी को ध्यान रखकर सरकार स्पेशल ट्रेन्स का इंतजाम करती है, जिससे यात्रियों को कम मुसीबत का सामना करना पड़े। विंटर से लेकर समर के साथ विभिन्न त्योहारों के लिए अलग-अलग स्पेशल ट्रेन भारत में चलना शुरू हुई हैं।  

पैलेस क्वीन हमसफर एक्सप्रेस

पैलेस क्वीन हमसफर एक्सप्रेस

PC-PIVISO

आपको जानकर खुशी होगी कि हाल ही में भारतीय सरकार ने एक स्पेशल ट्रेन को हरी झंडी दिखाई है। इस ट्रेन का नाम है 'पैलेस क्वीन हमसफर' । यह एक स्पेशल ट्रेन है, जो खासकर त्योहार व विभिन्न अवसरों के वक्त घर जाने वाले कामकाजी लोगों व पर्यटन पर निकले सैलानियों को ध्यान में रखकर शुरू की गई है। आप इस ट्रेन की पूरी जानकारी लेकर अपनी यात्रा को आसान बना सकते हैं।

इन राज्यों से होकर गुजरेगी पैलेस क्वीन

इन राज्यों से होकर गुजरेगी पैलेस क्वीन

PC- Christopher Kray

पैलेस क्वीन हमसफर एक्सप्रेस भारत के पांच बड़े राज्यों से होकर गुजरेगी। जिसमें कर्नाटक, महाराष्ट्र, गुजरात, मध्य प्रदेश और राजस्थान शामिल हैं। यह ट्रेन अपना सफर कर्नाटक के मैसूर से शुरू करेगी और राजस्थान के उदयपुर( ट्रेन का अंतिम स्टेशन) तक पहुंचेगी।

इन क्षेत्रों को जोड़ने का काम

इन क्षेत्रों को जोड़ने का काम

पैलेस क्वीन हमसफर एक्सप्रेस मांड्या, बेंगलुरु, दवानगेरे, हुब्बल्ली, बेलगावी, पुणे, कल्याण, सूरत, वडोदरा, रतलाम, चित्तौड़गढ़ समेत 30 निर्वाचित क्षेत्रों को जोड़ने का काम करेगी। जिसमें से 14 कर्नाटक के हैं। अगर कर्नाटक राज्य आपका वर्किंग प्लेस है तो यह आपके लिए सबसे बड़ी खुशखबरी है। बता दें कि इस ट्रेन के 14 हॉल्ट होंगे और 347 छोटे -बड़े स्टेशन।

ट्रेन का समय

ट्रेन का समय

यह आपके लिए जानना जरूरी है कि ट्रेन किस दिन और कितने बजे अपना सफर शुरू करेगी । बता दें कि पैलेस क्वीन हमसफर एक्सप्रेस मैसूर से (सोमवार) को दोपहर 3.30 बजे रवाना होगी और बुधवार को सुबह 11.30 बजे उदयपुर पहुंचेगी। इस ट्रेन का नं है '19667'। और पूरा नाम उदयपुर-मैसूर क्वीन हमसफर एक्सप्रेस।

सुविधाएं और किराया

सुविधाएं और किराया

हमसफर एक्सप्रेस के कुल 16 कोच है और ये सभी 3 टियर एसी सुविधा से लैस हैं। इसके साथ ही ट्रेन की स्पीड, गंतव्यों व अन्य जानकारी के लिए जीपीएस कंट्रोल्ड एलईडी की सुविधा भी ट्रेन में उपलब्ध होगी। वहीं ट्रेन की किराए की बात करें तो इसका न्यूनतम किराया करीब 2032 रुपए होगा।

पर्यटन को नया आयाम

पर्यटन को नया आयाम

इस ट्रेन के शुरू होने से भारतीय पर्यटन को एक नया आयाम मिला है। यह रेल भारत के मुख्य पर्यटन राज्यों को जोड़ने का काम करेगी। सैलानी आराम इस ट्रेन का सफर कर अपने पर्यटन गंतव्य तक पहुंच सकते हैं। ट्रेन की आधुनिक सुविधाएं सफर को आरामदायक बनाने में पूरी मदद करेंगी। अगर आप इस बीच यात्रा का प्लान बना रहे हैं तो इस ट्रेन का सफर कर सकते हैं।

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स