• Follow NativePlanet
Share
» »इन गर्मियों बनाएं अलाप्पुझा के इन खास स्थानों का प्लान

इन गर्मियों बनाएं अलाप्पुझा के इन खास स्थानों का प्लान

पूर्व के वेनिस के रूप में विख्यात अलाप्पुझा हमेशा से ही केरल के समुद्री इतिहास को जानने का एक महत्वपूर्ण केंद्र रहा है। आज यह खूबसूरत गंतव्य अपने नौका दौड़, बैकवॉटर, समुद्री तटों, समुद्री उत्पादों और कॉयर उद्योग के लिए काफी ज्यादा प्रसिद्ध है। यह शहर कोट्टायम से 46 किमी, कोच्चि से 53 और त्रिवेन्द्रम के 155 किमी दूरी पर स्थित है। केरल के साथ यह भारत के भी मुख्य पर्यटन गंतव्यों में गिना जाता है। केरल में अलाप्पुझा के बैकवाटर सबसे लोकप्रिय पर्यटक आकर्षण हैं।

इन बैकवाटरों में एक हाउसबोट क्रूज बुक किया जा सकता है। यह स्थल कुमारकोम और कोचीन को उत्तरी और कोल्लम से दक्षिण में जोड़ता है। अलाप्पुझा के बीच परिवार और दोस्तों के साथ पिकनिक मनाने के लिए सबसे खास स्थान माने जाते हैं। इस खास लेख में जानिए आप इन गर्मियों अलाप्पुझा में कौन-कौन से स्थानों का भ्रमण कर जी भरकर मौज-मस्ती कर सकते हैं। 

कुट्टानाड बैकवॉटर

कुट्टानाड बैकवॉटर

PC- Augustus Binu

कुट्टानाड केरल राज्य का एक खूबसूरत उष्णकटिबंधीय क्षेत्र है, जो अपने जलमार्गो, नहर, झीलों, नदियों और छोटी सहायक नदियों के लिए जाना जाता है। यह पूरा क्षेत्र समुद्र और पहाड़ियों से घिरा हुआ है जो यहां आने वाले सैलानियों को एक यादगार अवकाश बिताने का मौका प्रदान करता है।

पर्यटन के मामले में कुट्टानाड भारत का बैकवाटर पैराडाइज कहा जाता है। जहां आप एक आरामदायक क्वालिटी टाइम स्पेंड कर सकते हैं। कुट्टानाद की भौगोलिक विशेषताओं के साथ यहां के धान के खेत इसे एक शानदार गंतव्य बनाने का काम करते हैं।

फोटोग्राफी के लिए यह एक आदर्श स्थान है। यहां की चार प्रमुख नदियां मीचिल, अचंकोविल, पम्पा और मणिमाला प्रवाह इस स्थान को ट्रैवलर्स के लिए एक हब बनाने का काम करती हैं। प्राकृतिक सुंदरता में चार चांद लगाते यहां के नारियल के पेड़ काफी मनोरम दृश्य प्रदान करन का काम करते हैं।

कृष्णापुरम पैलेस

कृष्णापुरम पैलेस

PC- Appusviews

कृष्णापुरम पैलेस अलाप्पुझा के सबसे खूबसूरत और लोकप्रिय स्थानों में गिना जाता है। यह जगह उन लोगों के लिए है जो दक्षिण भारत की कला-संस्कृति, जीवन और रहन सहन को देखना और समझना चाहते हैं। यहां आप एक दिन बिताकर काफी आनंद की अनुभूति कर सकते हैं। यहां बिताया थोड़ा समय आपके मन, शरीर और आत्म का कायाकल्प कर सकता है। दरअसल कृष्णापुरम दक्षिण भारत का एक संग्रहालय और महल है, जिसका इतिहास 18 वीं शताब्दी से जुड़ा हुआ है। इस महल का निर्माण अनिझम थिरुनल मार्थंद वर्मा ने करवाया था।

यह महल त्रावणकोर राज्य का प्रमुख केंद्र था। इसकी वास्तुकला शैली में संकीर्ण गलियारे और नक्काशीदार खिड़कियां शामिल हैं, जो दक्षिण भारत के क्लासिक आर्किटेक्चर की याद ताजा कराते हैं।अद्भुत : यहां मंदिर में अंडे फेंकने से पूरी होती है भक्तों की मनोकामनाएं

एलेप्पी बीच

एलेप्पी बीच

PC- Kainjock

चमकदार रेत, क्रिस्टल की तरह साफ पानी, खूबसूरत तरंगें, मनमोहक सूर्योदय और सूर्यास्त अलाप्पुझा बीच को एलेप्पी में का सबसे खास स्थान बनाने का काम करते हैं। यह खूबसूरत समुद्री तट अपने विशाल, अंतहीन तटीय विस्तार के लिए जाना जाता है। परिवार और दोस्तों के साथ यह खास गंतव्य एक यादगार समय बिताने के लिए आदर्श विकल्प है। इसके अलावा अलाप्पुझा बीच ट्रैवलर्स और प्रकृति प्रेमियों के लिए भी खास स्थान माना जाता है।

इतिहास के पन्नों पर नजर डालें तो पता चलता है कि अलाप्पुझा कभी केरल का प्रसिद्द बंदरगाह हुआ करता था। यहां से भारी समान अन्य जगहों तक ले जाया जाता था। यहां के समुद्र तट की यात्रा काफी उत्साही और सुखद है। इसके आसपास कई खास स्थान मौजूद हैं जिन्हें भी आप अपनी यात्रा डायरी का हिस्सा बना सकते हैं।

करूमडी

करूमडी

PC- Sanandkarun

आलप्पुषा से कुछ किमी की दूरी पर स्थिति है करूमडी गांव जो एलेप्पी घूमने आए सैलानियों के मध्य काफी लोकप्रिय है। यह स्थान बौद्ध धर्म के लिए ज्यादा जाना जाता है। जानकारी के अनुसार बौद्ध धर्म के बनने के इतिहास और इसके विकास में इस स्थान की भूमिका बताई जाती है। यह स्थान ब्लैक ग्रेनाइट पत्थर की बनी बौद्ध प्रतिमा के लिए प्रसिद्ध है। पर्यटक खासकर इस स्थान पर इस विशाल मूर्ति को ही देखने के लिए आते हैं।
इस मूर्ति का बायां हाथ गायब है। इस गायब हाथ को लेकर कई मत प्रस्तुत किए गए हैं। बहुतों का कहना है कि यह हाथ किसी ने काट लिया या फिर समय के साथ यह अपने आप टूट गया। यह व्यापक रूप से माना जाता है कि बुद्ध की यह मूर्ति स्नेही है और इसमें कई रहस्यवादी शक्तियां मौजूद हैं।

यहां आने वाले बहुत से ट्रैवलर्स बुद्ध की इस मूर्ति के पैर को स्पर्श करते हैं, माना जाता है कि इस मूर्ति में हिलिंग पावर भी है जो दुख - दर्द को कम कर देती है। इसके अलावा यह गंतव्य कई स्थानीय रेस्तरां से भी भरा है जहां आप लजीज सी-फूड्ड का आनंद ले सकते हैं।

मारारी बीच

मारारी बीच

PC- Mahendra M

यदि आप प्रकृति के साथ पूरी तरह से खुलना चाहते हैं, तो मारारी बीच आपके लिए एक आदर्श गंतव्य है। इस बीच से पास बसा एक छोटा सा गांव है जो दूर-दूराज को ट्रैवलर्स और पर्यटकों को अपनी ओर काफी ज्यादा आकर्षित करता है। यहां आप दक्षिण भारत की कला-संस्कृति व रहन-सहन को अच्छी तरह समझ सकते हैं। यहां के समुद्री तट का साफ पानी और मुलायम रेत सैलानियों को चैन की सांस लेने का अवसर प्रदान करते हैं।
यहां से सूर्योदय और सूर्यास्त देखना अपने आप में काफी आनंददायक अनुभव कराता है। खासकर यहां आपको प्रेमी जोड़े ज्यादा दिखेंगे। मारारी बीच भारत के सबसे खास समद्री तटों में गिना जाता है। ट्रैवलर्स, प्रकृति प्रेमियों के साथ यह आकर्षक समुद्र तट हर तरह के पर्यटकों का स्वागत करता है। परिवार और दोस्तों के साथ एक यादगार समय बिताने के लिए यह स्थान काफी खास है।

यहां झंडा चढ़ाने से झमाझम होती है बारिश, अद्भुत है मां शारदा का मंदिर

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स