Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »मुजफ्फरनगर : ऐसा सेक्युलर गांव शायद ही आपने देखा हो, जहां एक ही..

मुजफ्फरनगर : ऐसा सेक्युलर गांव शायद ही आपने देखा हो, जहां एक ही..

उत्तर प्रदेश भारत का एक बड़ा राज्य है, जो अपने बृहद आकर और पौराणिक-ऐतिहासिक स्थलों के लिए जाना जाता है। आप यहां हर तरह के पर्यटन स्थलों (धार्मिक, प्राचीन, सांस्कृतिक, प्राकृतिक) का भ्रमण कर सकते हैं। राजधानी शहर लखनऊ के अलावा वाराणसी, इलाहाबाद, गोरखपुर, मथुरा, झांसी आदि शहरों को देखने के लिए साल भर बड़ी संख्या में पर्यटक आते हैं।

इन्हीं बड़े शहरों में मुजफ्फरनगर का भी नाम आता है। दिल्ली-हरिद्वार सड़क मार्ग पर स्थित यह शहर राज्य का एक महत्वपूर्ण व्यापारिक केंद्र है। इसके अलावा मुजफ्फरनगर अपने पर्यटन स्थलों के लिए भी प्रसिद्ध है। इस लेख के माध्यम से जानिए पर्यटन के लिहाज से उत्तर प्रदेश का यह शहर आपको किस प्रकार आनंदित कर सकता है।

गणेश धाम

गणेश धाम

मुजफ्फरनगर अपने धार्मिक स्थानों के लिए काफी जाना जाता है, आप यहां के प्रसिद्ध गणेशधाम के दर्शन कर सकते हैं। यहां स्थित गणेश भगवान की 35 फीट ऊंची प्रतिमा मुख्य आकर्षण का केद्र है। माना जाता है कि यह विशाल मूर्ति लाला सुखबीर सिंह और लाला लक्ष्मी चंद सिंघल द्वारा दान में दी गई थी।

ये दोनो यहां के स्थानीय निवासी थे। यहां आसपास और भी कई दर्शनीय स्थान हैं, जिसमें वटवृक्ष, शुखदेव टीला आदि शामिल है। शुखदेव टीला यहां की एक कुत्रिम झील के पास स्थित है। यहां रोजाना श्रद्धालुओं का आना जाना लगा रहता है।

बाबा भैरव का मंदिर

बाबा भैरव का मंदिर

PC- Redtigerxyz

मुजफ्फरनगर के प्रसिद्ध मंदिरों में आप यहां के बाबा भैरव के मंदिर के दर्शन भी कर सकते हैं। यह शहर के मध्य में स्थित है। मुख्य मंदिर में ग्यारह शिवलिंग मौजदू हैं जिन्हें सामूहिक रूप से एकादश शिवलिंग कहा जाता है। यहां आने वाली श्रद्धालु मंदिर के चारों तरफ भ्रमण कर अपना भाव भरा नमन भगावन को अर्पित करते हैं।

इस मंदिर में दैनिक पूजा संबंधी गतिविधियां यहां के एक पालीवाल ब्राह्मण परिवार द्वारा देखी जाती है। शिवरात्रि के खास अवसर पर यहां भव्य आयोजन किया जाता है, जिसमें शामिल होने के लिए दूर-दूर से सैलानी आते हैं।

वहलना (एक सेक्युलर गांव)

वहलना (एक सेक्युलर गांव)

PC- Jainvaibhav1307

मुजफ्फरनगर के मुख्य आकर्षणों में आप यहां के वहलना गांव का भ्रमण कर सकते हैं। हर गांव की तरह यहां भी खेतीबाड़ी ज्यादा पैमाने पर की जाती है। बता दें कि इस गांव को एक सेक्युलर गांव भी कहा जाता है। यह गांव हिन्दू, इस्लाम और जैन धर्म का एक अद्भत संगम प्रदर्शित करता है। जहां इन धर्मों से जुड़े पवित्र स्थान न सिर्फ एक भूमि बल्कि एक दीवार भी साझा करते हैं। यहां स्थित जैन मंदिर दिगंबर संप्रदाय को संबंध रखता है।

गांव में भगवान पार्श्वनाथ की मौजूद 31 फीट प्रतिमा मुख्य आकर्षण का केंद्र है। इसके अलावा यहां एक प्रसिद्ध शिव मंदिर और एक मस्जिद भी स्थित है। आसपास के क्षेत्रों में यह गांव काफी ज्यादा लोकप्रिय है जहां आपको एक नेचुरोपैथी हॉस्पिटल और शोध केंद्र भी देखने मिलेगा। इन अनोखे गांव की सैर हर किसी को करनी चाहिए।

जूलॉजिकल पार्क

जूलॉजिकल पार्क

धार्मिक स्थलों के अलावा आप यहां के अन्य स्थलों का भ्रमण कर सकते हैं, यहां स्थित जूलॉजिकल पार्क मुख्य पर्यटन स्थलों में गिना जाता है, जहां आप विभिन्न स्थलीय और जलीय जीवों को देख सकते हैं। इस जूलॉजिकल पार्क की स्थापना 1970 में यहां के संतोष धर्म कॉलेज में की गई थी।

विज्ञान के छात्रों के लिए यह महत्वपूर्ण स्थान है। यहां की प्रसिद्ध लाइब्रेरी में किताबों का भंडार है जो न सिर्फ छात्रों बल्कि शोधकर्ताओं के भी काम आती है।

अक्षयवट वाटिका

अक्षयवट वाटिका

PC- Manojkhurana

उपरोक्त स्थानों के अलावा आप यहां अक्षयवट वाटिका की सैर कर सकते हैं। यहां 5100 साल पुराना वृक्ष मुख्य आकर्षण का केंद्र है, जिसे देखने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं। इस विशाल वृक्ष की ऊंचाई लगभग 150 फीट की है जिसकी जड़े एक बड़े क्षेत्र में फैली हैं।

यह स्थल संत सुखदेव से संबंध रखता है, माना जाता है कि वे इस वट वृक्ष के नीचे श्रीमद भागवत पुराण का पाठ करते थे। जिन्हें काफी लोग सुना करते थे। यह एक धार्मिक स्थल की तरह पूजा जाता है, जिसे देखने के लिए दूर-दूर से श्रद्धालु आते हैं।

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X