Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »वो खास बातें जो आपको उत्तरकाशी आने के लिए जरूर मजबूर करेंगी

वो खास बातें जो आपको उत्तरकाशी आने के लिए जरूर मजबूर करेंगी

उत्तराखंड के प्राकृतिक खजानों के मध्य स्थित उत्तरकाशी राज्य का एक खूबसूरत पर्यटन स्थल है, जिसे प्यार से देवभूमि के नाम से भी संबोधित किया जाता है। समुद्र तल से 1158 मीटर की ऊंचाई पर स्थित यह पहाड़ी शहर सैलानियों के मध्य काफी ज्यादा लोकप्रिय है। गर्मियों के दौरान यहां सैलानियों को आराम फरमाते देखा जा सकता है। सर्दियों के दौरान यह पूरा शहर बर्फीला हो जाता है, साहसिक ट्रैवलर्स इस बीच रोमांचक एहसास के लिए यहां प्रवेश करते हैं।

कुल मिलाकर यहां एक यादगार छुट्टी परिवार या दोस्तों के साथ मनाई जा सकती है। यहां से आप बर्फीली चोटियों के अद्भुत दृश्यों का आनंद ले सकते हैं। इसके अलावा पवित्र स्थानों के भी दर्शन कर सकते हैं। इस लेख में जानिए यहां के कुछ प्रसिद्ध स्थल और उन खास बातों को जिन्हें जानने के बाद आप यहां एक बार आने के लिए जरूर मजबूर हो जाएंगे।

विश्वनाथ मंदिर

विश्वनाथ मंदिर

PC- Atudu

उत्तरकाशी न सिर्फ एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है बल्कि एक प्रसिद्ध तीर्थ स्थान भी है, यहां कई धार्मिक स्थल मौजूद हैं , जिनके दर्शन करने के लिए श्रद्धालू दूर-दूर से आते हैं । उत्तरकाशी स्थित विश्वनाथ मंदिर यहां के सबसे पवित्र तीर्थ स्थलों में गिना जाता है। यह मंदिर देवो के देव महादेव को समर्पित है, जहां शिवलिंग 90मीटर की चौड़ाई और 15इंच लंबाई के साथ विराजमान हैं।

यह धार्मिक स्थल उन लोगों के लिए अनिवार्य दर्शन स्थल है जो चार धाम यात्रा के लिए आगे बढते हैं। यहां सैकड़ो की संख्या में शिवभक्तों का प्रवेश होता है। इसके अलावा यहां के प्राकृतिक दृश्य देखने लायक हैं। यहां के बहती भागीरथी नदी इस स्थल को खास बनाने के काम करती है।

गंगोत्री

गंगोत्री

PC- Debabrata Ghosh

उत्तरकाशी के नजदीक आप विश्व प्रसिद्ध धार्मिक स्थानों की सैर का प्लान बना सकते हैं। शहर से बिलकुल नजदीक पवित्र नदी गंगा का स्रोत गंगोत्री है, जहां से गंगा पहाड़ों से होती हुई उत्तर भारत से अपना सफर तय करती है। उत्तरकाशी आने वाली सैलानी यहां दर्शन करने के लिए जरूर आते हैं। गंगा का प्राचीन नाम भागिरथी है, देवप्रयाग में आकर भागिरथी और अलकनंदा का मिलन होता है।

देवप्रयाग वो स्थान है जहां से पवित्र नदी गंगा का नाम धारण करती है। यहां गंगोत्री मंदिर भी स्थित है, जहां भारी संख्या में श्रद्दालुओं का आगमन होता है। बता दें भारत के पवित्र चार धामों में भी सम्मिलित है।

यमुनोत्री

यमुनोत्री

PC- Harisharma.atc

गंगोत्री के बाद आप उत्तरकाशी के नजदीक यमुनोत्री स्थल के दर्शन कर सकते हैं। वित्र चार धामों में सम्मिलित इस तीर्थस्थल पर असंख्य श्रद्धालुओं का आगमन होता है। यह वो स्थल है जहां से पवित्र यमुना नदी निकलती है। पौराणिक मान्यता के अनुसार यमुना यमराज की बहन है, इसलिए माना जाता है कि इस स्थल पर स्नान करने से मौत पीड़ादायक नहीं होती है।

यह स्थान एक धार्मिक स्थल होने के साथ-साथ एक शानदार पर्यटन गंतव्य भी है, जहां आप मनमोहक प्राकृतिक दृश्यों का आनंद उठा सकते हैं। यहां से आप गढ़वाल चोटियों के अद्भुत दृश्य देख सकते हैं। इसके अलावा यह स्थान ट्रैवलर्स के मध्य भी काफी ज्यादा प्रसिद्ध है, जहां ट्रेकिंग जैसी रोमांचक गतिविधियों का अनुभव लिया जा सकता है।

हर की दून

हर की दून

PC-Metanish

उत्तरकाशी के निकट धार्मिक स्थानों के अलावा आप अद्भुत प्राकृतिक स्थलों की सैर का भी आनंद उठा सकते हैं। उत्तरकाशी के निकट हर की दून प्रकृति प्रेमियों से लेकर साहसिक एडवेंचर के शौकीनों के लिए भी काफी ज्यादा मानये रखता है। हर की दून घाटी विश्व भर के ट्रैवलर्स को अपनी ओर आकर्षित करती है। यहां की बर्फ से ढकी पहाड़ियां रोमांचक एहसास कराती हैं।

आप यहां से स्वर्गारोहिणी पहाड़ और जौनधार ग्लेशियर के अद्बुत दृश्यों का आनंद ले सकते हैं। हर की दून की तरफ आगे बढ़ते ही आपका स्वागत यहां के घने जंगल और पहाड़ करेंगे। कुछ अनोखा अनुभव करने के लिए आप यहां आ सकते हैं।

हरसिल

हरसिल

PC- Debrupm

उपरोक्त स्थानों के अलावा उत्तरकाशी से लगभग 72 किमी की दूरी पर स्थित हरसिल की सैर का आनंद ले सकते हैं। यह राज्य का एक शानदार पर्यटन स्थल है, जहां दूर-दूर से सैलानी सुकून की सांस लेने के लिए आते हैं। पहाड़ी खूबसूरती से भरा यह स्थल सैलानियों को आनंदित और रोमांचित दोनों करता है।

आप यहां से हिमालय की अद्भुत बर्फीली चोटियों को देख सकते हैं। परिवार या दोस्तों के साथ एक शानदार वक्त गुजारने के लिए यह एक आदर्श गंतव्य है।

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X