Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »सिंधु दर्शन महोत्सव 2022, जानें फेस्टिवल की सभी जानकारी

सिंधु दर्शन महोत्सव 2022, जानें फेस्टिवल की सभी जानकारी

सिंधु दर्शन महोत्सव भारत में सिंधु नदी के तट पर मनाया जाता है। वहीं इस दिन भारत के विभिन्न हिस्सों से लोग आकर सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आनंद लेते हैं। बताया जाता है की सिंधु दर्शन महोत्सव का आयोजन 1997 से किया जा रहा है। इस दिन सिंधु नदी की विशेष पूजा-अर्चना की जाती है। साथ ही सिंधु दर्शन महोत्सव के कई तरह के कलाकारों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किए जाते हैं।

sindhu festival

सिंधु दर्शन फेस्टिवल लेह से लगभग 8 किलोमीटर दूर शे मनला में सिंधु नदी के किनारे मनाया जाता है। इस आयोजन को देखने सैकड़ों पर्यटक आते हैं। इस महोत्सव में अनेक प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। यह महोत्सव पूर्णिमा के दिन शुरू होता है। इस बार यह महोत्सव 12 जून से 14 जून के बीच मनाया जाएगा।
यह महोत्सव 3 दिनों तक मनाया जाता है। यह सिंधु नदी के तट पर सभ्यता और संस्कृति के संगम को दर्शाता है। जानकारी के लिए आपको बता दें यह नदी तिब्बत के दक्षिण-पश्चिम भाग से निकलती है और लद्दाख वाले के रास्ते भारत में प्रवेश करती है।

महोत्सव के दिन लोग सिंधु नदी की पूजा-अर्चना करके उन्हें धन्यवाद देते हैं। इस त्योहार में शामिल होने वाले लोग अपने राज्य के नदी के पानी से भरे मिट्टी के बर्तन लाते हैं और उन्हें सिंधु नदी में विसर्जित करते हैं। नदी के तट पर 50 से भी अधिक वरिष्ठ लामा प्रार्थनाओं को अनुष्ठान के रूप में करते हैं।

leh


महोत्सव का इतिहास

लाल कृष्ण आडवाणी और एक अनुभवी पत्रकार तरुण विजय ने जनवरी 1996 में लेह की यात्रा के दौरान लद्दाख से बहने वाली सिंधु नदी की फिर से खोज की। विजय ने अपने तट पर एक त्योहार के विचार की कल्पना की क्योंकि नदी भारत के लिए पहचान का स्रोत है। भारत, भारतीय, हिंदू और हिंदुस्तान सिंधु और सिंधु से निकले हैं। तब से, यह त्योहार जीवन के सभी क्षेत्रों, जातियों, धर्मों और स्थानों से लोगों को आकर्षित कर रहा है, विशेष रूप से सिंधी हिंदुओं के लिए तीर्थयात्रा बन गया है, जो पूर्व-विभाजन के दिनों में, सिंध की अपनी मातृभूमि , अब पाकिस्तान में नदी की पूजा करते थे। लाल कृष्ण आडवाणी, 1996 में, स्वयं एक सिंधी, चोगलमसारी गए थे(लेह से 8 किमी) और कुछ अन्य सिंधियों के साथ सिंधु दर्शन अभियान शुरू किया। यह आयोजन पहली बार सिंधु दर्शन महोत्सव के रूप में अक्टूबर, 1997 में आयोजित किया गया था।

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X