Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »जोधपुर की इस संरचना को मेवाड़ का ताजमहल कहा जाता है, जानिए क्यों

जोधपुर की इस संरचना को मेवाड़ का ताजमहल कहा जाता है, जानिए क्यों

राजस्थान में आपने बहुत सी ऐतिहासिक संरचनाओं को देखा होगा, जो अपनी भव्यता के लिए जानी जाती हैं, लेकिन आज हम जिस प्राचीन आकर्षण की बात करने जा रहे हैं उसकी खूबसूरती आपको सच में आश्चर्यचकित कर देगी। यह खूबसूरत संरचना राजस्थान के जोधपुर में सें स्थित है, जो जसवंत थड़ा नाम से जानी जाती है। दरअसल यह संगमरमर की बनी एक स्मारक है, जिसकी खूबसूरती को देखकर इसे मेवाड़ का ताजमहल कहा जाता है।

झील और हरे-भरे पेड़ों से घिरे इस आकर्षण को जोधपुर आने वाले पर्यटक देखना ज्यादा पसंद करते हैं। इस लेख के माध्यम से जानिए पर्यटन की दृष्टि से यह स्मारक आपको किस प्रकार आनंदित कर सकती है, जानिए इससे जुड़े ढेर सारे दिलचस्प तथ्यों के बारे में।

 ये जानना है जरूरी

ये जानना है जरूरी

PC-Ashrujit swar

जसवंत थड़ा को मेवाड़ का ताजमहल इसलिए कहा जाता है क्योंकि इसके निर्माण में शुद्ध संगमरमर का इस्तेमाल किया गया है। हालांकी आगरे का ताजमहल वास्तुकला की मामले में इससे अलग है। जसवंत थड़ा में भी आपको छोटे-छोटे गुंबद देखने को मिलेंगे।

जसवंत थड़ा का नाम यहां के महाराजा जशवंत सिंह द्वितीय के नाम पर रखा गया था। इस स्मारक का निर्माण उनके पुत्र महाराजा सदर सिंह द्वारा 1899 में करवाया गया था। इस स्मारक के अंदर आप मेवाड़ के भूतकालीन राजाओं की तस्वीर देख सकते हैं।

इस स्मारक के निर्माण में न सिर्फ सफेद मार्बल का इस्तेमाल किया गया है बल्कि यहां आपको लाल रंग का अद्भुत मेल भी देखने को मिलेगा। जसवंत थड़ा के पास बने जलाशय का इस्तेमाल शाही रीति-रिवाजों के लिए किया जाता था, लेकिन अब यहां ऐसा कुछ नहीं होता। झील में आप कुछ खूबसूरत जलीय जीवों को देख सकते हैं।

राजस्थानी संरचना

राजस्थानी संरचना

PC- Ashrujit swar

इस ऐतिहासिक धरोहर की सीढ़ियों पर आपको स्थानीय लोक-संगीत कलाकर स्वागत करते मिलेंगे। कुछ राजस्थानी अंदाज में ये कलाकार आगंतुकों का आदर सत्कार करते हैं। स्मारक का आंतरिक भाग खूबसूरत नक्काशी और कलाकृतियों से सजाया गया है। स्मारक के आसपास बनाए गए मेहराव और स्तंभ पर्यटकों को काफी ज्याद प्रभावित करने का काम करते हैं। इसके अंदर आप प्रारंभिक शासकों से जुड़ी कुछ चित्रकारियां भी देख सकते हैं।

संगमरमर की बनी इस संरचना को राजस्थानी शैली में बनाकर तैयार किया गया था। दूर से दिखाई देते गुंबद मुगल वास्तुकला से प्रभावित मिलते हैं। इस संरचना के कई भागों में आप मुगल शैली का खूबसूरत मिश्रण देख सकते हैं।

देखने लायक चीजें

देखने लायक चीजें

PC- Flying Pharmacist

स्मारक की वास्तुकला अद्भुत है, एक पर्यटक के तौर पर आप यहां आकर्षक नक्काशियों को देख सकते हैं। आप संरचना के पास बनी झील को देख सकते हैं। स्मारक परिसर का भ्रमण कर आप भारतीय इतिहास के कई पहलुओं के समझ सकते हैं। जसवंत थड़ा परिसर में एक बड़ा लॉन भी है, जहां आप थोड़ी देर बैठ कर इस अद्भुत संरचना को निहार सकते हैं।

स्मारक के पास एक श्मशान भी मौजूद है, जहां राज परिवार के सदस्यों का अंतिम संस्कार किया जाता था। यहां आज भी जली हुई लकड़ियों के अवशेष देखे जा सकते हैं।

आसपास के आकर्षण

आसपास के आकर्षण

PC- Knowledge Seeker

जसवंत थड़ा के अलावा आप यहां आसपास के आकर्षण भी देख सकते हैं। आप इस स्मारक से कुछ ही दूरी पर स्थित मेहरानगढ़ का किला देख सकते हैं। जिस पहाड़ी पर यह किला बना है आप उसके नीचे शहर का मुख्य बाजार भी देख सकते हैं। इसके अलावा आप यहां से खेजड़ला किला, गणेश मंदिर, उम्मेद भवन पैलेस पाल बालाजी मंदिर, गुलाब सागर झील आदि स्थलों का भ्रमण कर सकते हैं।

कैसे करें प्रवेश

कैसे करें प्रवेश

PC- Abhishekchhatwani

जोधपुर राजस्थान का एक बड़ा शहर है जहां आप परिवहन के तीनों साधनों से पहुंच सकते हैं, यहां का नजदीकी हवाईअड्डा जोधपुर एयरपोर्ट है। रेल मार्ग के लिए आप जोधपुर रेलवे स्टेशन का सहारा ले सकते हैं। अगर आप चाहें तो यहां सड़क मार्ग से भी पहुंच सकते हैं, बेहतर सड़क मार्गों से जोधपुर उत्तर भारत के बड़े शहरों से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है।

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X