» »अब हिमाचल के इस गांव में कभी नहीं जा सकेंगे पर्यटक

अब हिमाचल के इस गांव में कभी नहीं जा सकेंगे पर्यटक

Written By: Goldi

उत्तर भारत में स्थित हिमाचल प्रदेश एक ऐसा राज्य है, जो पर्यटकों को हर सीजन में अपनी ओर आकर्षित करता है।जहां पर्यटक गर्मी में यहां उत्तर भारत की गर्मी से बचने के लिए पहुंचते हैं तो वहीं सर्दियों में पर्यटक बर्फबारी का जमकर मजा लेते हैं।

ये हैं भारत की अनसुनी जगहें..जिनके बारे में शायद ही अपने सुना हो

हिमाचल प्रदेश की घूमने की सैकड़ों जगह है, लेकिन इन्ही जगहों के बीच एक ऐसी जगह है,जहां अब टूरिस्ट का जाना बैन हो गया है। जी हां और इस गांव का नाम मलाना,मलाना गांव अपनी अनोखी परंपरा और सुंदरता के ल‍िए जाना जाता है, लेक‍िन अब यहां पर टूर‍िस्‍ट के ल‍िए बैन लग गया।

 

Malana

PC: Anees Mohammed KP

इस गांव की खासियत यह है कि यहां पर अपना अलग कानून है। इसकी खूबसूरती और रस्मों-रिवाजों को देखने के लिए लोग दूर-दूर से यहां आते हैं। इस गांव की आबादी 2500 के करीब है। यहां के लोग जामलू देवता की पूजा करते हैं। यह माना जाता है कि इस देवता का आदेश है कि यहां पर देश और विदेश के किसी नागरिक को रूकने न दिया जाए।

कहा जा रहा है पयर्टकों पर बैन लगाने के पीछे यहां के कुल देवता जमालू का आदेश है। मलाना गांव के कुल देवता ने आदेश द‍िया है क‍ि अब गांव का कोई भी नागर‍िक अपने यहां पर क‍िसी देशी-विदेशी पयर्टक को नहीं रुकने देगा।इसके अलावा अलावा यहां पर बने सारे गेस्‍ट हाउस और होटल भी बंद क‍र द‍िए जाएं। बता दें क‍ि इससे पहले अभी इस वर्ष की शुरुआत में, ग्रामीणों ने पर्यटकों को यहां की तस्वीरें क्लिक करने पर भी प्रतिबंध लगा दिया था।

Malana

PC:Sooraj Krishnan

मलाना के अलावा क्या घूम सकते?
पर्यटक मलाना के अलावा कसोल और तोश घूम सकते हैं,कसोल मलाना से 22 किमी की दूरी पर स्थित है और तोश 42 किमी से दूरी पर है।

खुजराओ को टक्कर देते भारत के ये मंदिर

कसोल 
कसोल हिमाचल प्रदेश का बेहद ही खूबसूरत पर्यटन स्थल है...यह जगह इज़राइली पर्यटकों के चलते खासा लोकप्रिय है..इज़राइली पर्यटकों की भीड़ के चलते यहां कई इज़राइली रेस्तरां आदि देखे जा सकते है। पर्यटक इस खूबसूरत गांव में ट्रेकिंग का लुत्फ उठा सकते हैं।

Malana

PC: BenSalo

तोश
7 9 00 फीट की ऊंचाई पर कसोल के पास एक पहाड़ी पर स्थित तोश चारो और पहाड़ों से घिरा हुआ है।कसोल और मलाना में अप कई विदशो पर्यटकों को देख सकते हैं...चारों और पहाड़ियों से घिरा हुआ यह हिलस्टेशन बेहद ही सुखद और मनोरम नजार प्रदान करता है।

एडवेंचर्स से है भरपूर-स्टोक कांगड़ी ट्रैकिंग

कैसे जाएँ 
वायु से: कसोल का नजदीकी हवाई अड्डा कुल्लु में भुनाडार हवाई अड्डा है जो कसोल से 31 किमी दूर स्थित है। हवाई अड्डे से दिल्ली, शिमला और पठानकोट से नियमित उड़ानें हैं।

ट्रेन से: कसोल का नजदीकी प्रमुख रेलवे स्टेशन पठानकोट है, जो यहां से करीब 150 किमी दूर है।पर्यटक टैक्सी के जरिये यहां आराम से पहुंच सकते हैं।

सड़क मार्ग से: कसोल सभी राज्यमार्गो से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है..पर्यटक हिमाचल प्रदेश राज्य की ओर से संचालित की गयी बसों से भी पहुंच सकते हैं।

Please Wait while comments are loading...