• Follow NativePlanet
Share
» »हेली टैक्सी के बाद, अब ह्यूमनॉइड रोबोट करेगा यात्रियों को वेलकम

हेली टैक्सी के बाद, अब ह्यूमनॉइड रोबोट करेगा यात्रियों को वेलकम

Written By:

भारत का समर्द्ध शहर बेंगलुरु दिन-ब-दिन तरक्की की ओर अग्रसर है, हाल ही में पर्यटकों के समय को ध्यान में रखते हुए यहां हेली टैक्सी लांच की गयी थी, इतना ही नहीं बेंगलुरु के पास अपना लोगो और लंडन की तरह टाइम्स स्क्वायर भी है, अब इसी बीच अब बेंगलुरु के पास कैम्पा भी आ गया है।

कैम्पा ये क्या होता है, और ये है क्या? यही सोच रहे हैं ना आप। तो बता दूं कैम्पा है एक ह्यूमनॉइड रोबोट। जो अब कैंपेगौड़ा हवाई अड्डे (केआइए) आने-जाने वाले यात्रियों का कर्नाटक के बारे में जानकारी प्रदान करेगा। खास बात यह है कि,यह रोबोट आपका हवाई अड्डे पर स्वागत करते हुए आपको कन्नडा या अंग्रेजी में कर्नाटक पर्यटन की जानकारी प्रदान करेगा, और आपसे आपकी यात्रा के बारे में फीडबैक मांगेगा। बता दें, यह एक ह्यूमनॉइड यानी कृत्रिम बुद्धिमत्ता वाला रोबॉट है, जो बिल्कुल मानव की तरह व्यवहार करने में सक्षम है।

खबरों की माने तो, इस ह्यूमनॉइड को बेंगलूरु की ही एक स्टार्टअप कंपनी ने बनाया है और इसका परीक्षण करने के लिए इसे केआइए पर तैनात किया जा रहा है। यह रोबोट यात्रियों को विभिन्न पर्यटन स्थलों के बारे में जानकारी देने में सक्षम है। वह आपसे पूछेगा कि राज्य में आपकी यात्रा कैसी रही और अन्य ऐसी ही बातें भी बोलेगा।

इतना ही नहीं यह ह्यूमनॉइड रोबोट यात्रियों को चैक-इन की सूचनाएं और हवाई अड्डे पर अन्य सुविधाओं के बारे में दिशा-निर्देश भी प्रदान करेगा। बता दें, बेंगलुरु में भारत पहला शहर होगा, जहां हवाई अड्डे पर रोबोट को आने जाने वाले यात्रियों को राज्य के पर्यटन से रूबरू कराएगा।

जहां हवाई अड्डे पर ह्यूमनॉइड रोबोट को देखना भारतीयों के लिए थोड़ा सा नया होगा, तो वहीं विदेशों में हवाई अड्डों पर यात्रियों की मदद के लिए ऐसे ह्यूमनॉइड रोबॉट्स का दिखना अब एक आम बात हो चुकी है। इसी क्रम में जानते हैं, कर्नाटक में घूमने की खास जगहों के बारे में

बैंगलोर

बैंगलोर

कर्नाटक की राजधानी बैंगलोर समृद्ध ऐतिहासिक पृष्ठभूमि और आधुनिकता के मिश्रण के साथ भारत का पांचवां सबसे बड़ा और एक बेहद सुन्दर शहर है। एक ही स्थान पर बहुत कुछ होने के कारण पर्यटकों द्वारा भी इसे बहुत पसंद किया जाता है। बैंगलोर भारत का वो शहर है जहां के एमजी रोड में लाइन से आपको डिस्क और पब मिलेंगे तो वहीं दूसरी तरफ आपकी भेंट समृद्ध सांस्कृतिक विरासतों और चुनिंदा मंदिरों से होगी। यहाँ के इन खूबसूरत मंदिरों में आप चोल राजवंश के समय की वास्तुकला देख सकते हैं।

 हम्पी

हम्पी

जब आप हम्पी का नाम सुनते हैं, तो आप तुरंत प्रसिद्ध अवशेषों के बीच विजयनगर के विशाल शहर की सुंदर वास्तुकला के बारे में सोचते हैं। विजयनगर साम्राज्य की राजधानी और शान से होयसल की परंपरागत वास्तुकला शैली को प्रदर्शित करता विजयनगर या हम्पी पत्थर की एक गाथा है। हालांकि हम्पी एक प्राचीन शहर है और इसका जिक्र रामायण में भी किया गया है और इतिहासकारों के अनुसार इसे किष्किन्धा के नाम से बुलाया जाता था, वास्तव में 13वीं से 16वीं सदी तक यह शहर विजयनगर राजाओं की राजधानी के रुप में समृद्ध हुआ। कर्नाटक के उत्तरी भाग में स्थित हम्पी बेंगलुरु से केवल 350 किलोमीटर दूर है, और सड़क मार्ग द्वारा बेंगलुरु से हम्पी तक केवल कुछ घंटों में पहुंचा जा सकता है।Pc: Joel Godwin

कूर्ग

कूर्ग

स्कॉटलैंड ऑफ़ इंडिया के नाम से मशहूर कूर्ग अपने कॉफ़ी बगानों और यहां पाई जाने वाली हरियाली के कारण प्रसिद्ध है। यहां की सुंदर घाटियां, रहस्‍यमयी पहाडि़यां, बड़े - बड़े कॉफी के बागान, चाय के बागान, संतरे के पेड़, बुलंद चोटियां और तेजी से बहने वाली नदियां, पर्यटकों का मन मोह लेती है।Pc: flicker

येलागिरी

येलागिरी

येलागिरी को एलागिरी भी कहते है, यह तमिलनाडु के वेल्लोर जिले में बसा हुआ छोटा सा हिल स्टेशन है और इसको पर्यटकों का स्वर्ग भी कहा जाता है। येलागिरी की पहाड़ियां साहसिक खेल प्रेमी के बीच एक प्रसिद्द जगह हैं। पुनगनुर झील येलागिरी के सबसे लोकप्रिय स्थलों में से एक है। यहाँ नौकाविहार करने पर आप पहाड़ियों से घिरी प्राकृतिक सुंदरता का आनंद उठा सकते है।Pc:Ashwin Kumar

मैसूर

मैसूर

मैसूर कर्नाटक की सांस्कृतिक राजधानी होने के साथ-साथ राज्य का दूसरा सबसे बड़ा शहर भी है। दक्षिण भारत का यह प्रसिद्ध पर्यटन स्थल अपने वैभव और शाही परिवेश के लिए जाना जाता है। मैसूर शहर की पुरानी चमक-दमक, खूबसूरत गार्डन, हवेलियां और छायादार जगह यहां आने वाले पर्यटकों को मंत्रमुग्ध कर देते हैं।Pc:Jim Ankan Deka

अगुम्बे

अगुम्बे

दक्षिण भारत का सबसे अधिक वर्षा वाला स्थान अगुम्बे शिमोगा जिले के तीर्थहल्ली तालुक में स्थित है। इस स्थल को मलनाड प्रदेश भी कहा जाता है। अगुम्बे अपनी खूबसूरती, हरियाली के लिए पर्यटकों को खासा पसंद आता है। इस स्थल पर आप घने जंगल और उन जंगलों में पशु-पक्षी और अनेकों जड़ी-बूटियां देख सकते हैं। फोटोग्राफर और एडवेंचर प्रेमियों की फेवरेट जगह है। इसे "साउथ के चेरापुंजी" के नाम से भी पुकारा जाता है।Pc:Mylittlefinger

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स