Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »भारत के 10 शानदार और दिलकश डेस्टिनेशन

भारत के 10 शानदार और दिलकश डेस्टिनेशन

By Belal Jafri

भारत एक शब्द जिसकी कल्पना मात्र से ही व्यक्ति उसकी खूबसूरती में खो जाता है। जैसे ही आप इस शब्द के बारें में सोचेंगे कई सारे मंज़र, कई दृश्य, कई सभ्यताएं खुद-ब-खुद आपकी आँखों के सामने आ जाएंगी। अतः भारत विविधताओं और विचित्रताओं का देश है।शायद भारत इसलिए भी विविधताओं से भरा देश कहा जाता है क्योंकि यहां के जैसी कला, संस्कृति और भोजन आप को किसी और देश में बड़ी ही मुश्किल से मिलेगा।

भारत में जहां एक तरफ कश्मीर की ठिठुरन भरी सर्दी है तो वहीँ दूसरी तरफ चेरापूंजी में होने वाली सर्वाधिक बारिश है। यहां आपको थार के भी दर्शन होंगे जी हां वही थार जिसका शुमार विश्व के सबसे सूखे क्षेत्रों में है। इसके अलावा भारत का लगभग आधे से ज्यादा हिस्सा सुन्दर बीचों और शांत नीले समुन्द्र से घिरा है। अगर आप भारत के उत्तरी हिस्से पर एक नज़र डालें तो आपको मिलेगा कि भारत का ये हिस्सा सफ़ेद संगमरमरी बर्फ से ढंके पहाड़ों से घिरा है।

भारत में,कश्मीर से लेके कन्याकुमारी और राजस्थान से लेके असम और अरुणाचल प्रदेश की यात्रा पर ऐसा आपको बहुत कुछ मिलेगा जिसको आप भुला के भी नहीं भूल सकते हैं।आइये अब हम आपको अवगत कराते हैं अतुलनीय भारत की उन दस खूबसूरत जगहों से जिनकी यात्रा अगर आपने नहीं की तो समझिये आपने कुछ हद तक जीवन का लुत्फ़ नहीं लिया।

कश्मीर: धरती का स्वर्ग

कश्मीर: धरती का स्वर्ग

कश्मीर अपनी अपार प्राकृतिक सुंदरता के कारण पृथ्वी का स्वर्ग माना जाता है। भारत के उत्तर- पश्चिमी क्षेत्र में स्थित कश्मीर घाटी हिमालय और पीर पंजाल पर्वत श्रृंखला के बीच बसी है।

कश्मीर के मुख्य आकर्षण

कश्मीर के मुख्य आकर्षण

अगर आप कश्मीर में हैं तो आपको प्रसिद्द डल झील के किनारे स्थित हज़रत बल मस्ज़िद अवश्य देखनी चाहिए जिसे पहले साजिद जहां के इशरत महल या ‘प्लेज़र हाउस' के नाम से जाना जाता था।

चरार-ए-शरीफ, कश्मीर के सबसे पुराना धार्मिक और लोकप्रिय पर्यटन स्थल है अतः आप यहां भी अवश्य जाएं। अगर आप रोमांच के शौक़ीन हैं तो यहां आप घुड़ सवारी, पैरा ग्लाइडिंग, ट्रैकिंग, स्कीइंग का भी आनंद ले सकते हैं।

आगरा: मुहब्बत बयां करता शहर

आगरा: मुहब्बत बयां करता शहर

राजधानी दिल्ली से 200 किमी दूर उत्तरप्रदेश का शहर आगरा ताजमहल के लिए जाना जाता है। यहां स्थित ताजमहल के अलावा आगरा का किला और फतेहपुर सिकरी भी यूनेस्को विश्व धरोहर स्थल में शामिल है।

आगरा का इतिहास 11वीं शताब्दी से मिलता है। गुजरते समय के साथ यहां हिन्दू और मुस्लिम दोनों शासकों ने शासन किया। इसलिए यहां दो तरह की संस्कृति का संगम देखने को मिलता है।

आगरा के मुख्य आकर्षण

आगरा के मुख्य आकर्षण

ऐतिहासिक स्मारक और भवन आगरा के मुख्य आकर्षण हैं। ताजमहल के अलावा आप यमुना नदी के किनारे बने आगरा के किले और अकबर का मकबरा भी घूम सकते हैं।

चीनी का रोजा, दीवान-ए-आम और दीवाने खास का भ्रमण करने पर हमें मुलग शासन की बारीकियों के बारे में पता चलता है।

इसके अलावा एतमादुद दौला का मकबरा, मरियम जमानी का मकबरा, जसवंत की छतरी, चौसठ खंभा और ताज संग्राहालय घूमना भी अच्छा अनुभव साबित हो सकता है।

गोवा : फ़न ऑन सैंड

गोवा : फ़न ऑन सैंड

सालों से गोवा, भारत में पश्चिमी तट का आकर्षण रहा है। सस्ती शराब से लेकर प्राचीन समुद्र किनारों तक, यहाँ की स्वच्छता ओर सर्वदेशीय ताज ने अनेक युवाओं और बुजु़र्गों को भी आकर्षित किया है।

गोवा में एक उष्णकटिबंधीय जगह पर छुट्टियों जैसा मज़ा लिया जा सकता है जबकि भारत के किसी अन्य तटीय शहर में यह अहसास कर पाना बहुत मुश्किल है।

गोवा के मुख्य आकर्षण

गोवा के मुख्य आकर्षण

कई सारे चर्च, बीच, पब, बार यहां आने वाले लोगों के लिए आकर्षण का मुख्य केंद्र हैं। गोवा के बारे में ध्यान देने योग्य सबसे पहली बात यह है कि यहाँ की जीवनशैली पुर्तगाल से बहुत प्रभावित है।

यहां कई सारे बीच हैं जो आपका ध्यान अपनी ओर आकर्षित करेंगे तो अब पैक करिये अपना बैग और इस बार छुट्टियों के लिए गोवा का चुनाव करें।

पांडिचेरी - औपनिवेशिक भव्यता का शहर

पांडिचेरी - औपनिवेशिक भव्यता का शहर

आधिकारिक तौर पर 2006 के बाद से पुडुचेरी नाम से जाना जाने वाला पांडिचेरी, इसी नाम से प्रसिद्ध संघ क्षेत्र की राजधानी है। यह शहर और क्षेत्र, दोनों ही फ्रेंच उपनिवेशवाद से प्राप्त विरासत में समृद्ध है जिसका इस क्षेत्र की अद्वितीय संस्कृति और विरासत में महत्वपूर्ण योगदान है।

यात्रा के विविध अनुभव लेने की इच्छा रखने वाले यात्री के लिए पांडिचेरी एक उत्कृष्ट स्थान है। इस शहर में चार बेहतरीन तट हैं- प्रोमनेड तट, पैराडाइस तट, सेरेनिटी तट तथा आरोविले तट जो यहाँ आने वाले यात्रियों को छुट्टियों का एक नया अनुभव प्रदान करते हैं।

पांडिचेरी के मुख्य आकर्षण

पांडिचेरी के मुख्य आकर्षण

इस जगह का एक अन्य प्रमुख आकर्षण, श्री अरबिंदो आश्रम, भारत का प्रसिद्ध आश्रम और योग केंद्र है। प्रातःकाल के शहर के नाम से भी प्रसिद्ध ऑरोविल शहर अपनी अद्वितीय संस्कृति, विरासत रूपी स्मारक और वास्तुकला से पर्यटकों को आकर्षित करता है।

इस शहर के अन्य आकर्षण हैं- पांडिचेरी संग्रहालय, जवाहर खिलौना संग्रहालय, बॉटनिकल गार्डन, ऑसटेरी वैटलैंड, भारथिदसन संग्रहालय तथा राष्ट्रीय पार्क, अरिकामेडु, डुपलीक्स की मूर्ति तथा राज निवास।

इस शहर में धार्मिक स्थानों का एक रोचक मिश्रण है जिसमें चर्च और हिंदू मंदिर सम्मिलित हैं। पांडिचेरी के सबसे ज़्यादा पसंद किए जाने वालेधार्मिक स्थान हैं- एगलाइस दि नोत्रे देस एंजल्स(जो चर्च ऑफ आवर लेडी ऑफ एंजल्स के नाम से भी प्रसिद्ध है), दि चर्च ऑफ सैक्रेड हार्ट ऑफ जीसस,दि कैथेड्रल ऑफ आवर लेडी ऑफ इम्मेक्यूलेट कॉनसेप्शन, श्री मनाकुला विनयागर मंदिर, वरदराजा पेरुमल मंदिर तथा कन्निगा परमेश्वरी मंदिर।

दिल्ली : बस इश्क मोहब्बत और प्यार

दिल्ली : बस इश्क मोहब्बत और प्यार

भारत की यात्रा अपने आप में एक अनोखा अनुभव है, और इसकी राजधानी दिल्ली की सैर एक अमित संस्मरण साबित होगी। भारत के सबसे बडे शहरों में से एक दिल्ली, प्राचीनता और आधुनिकता का सही संयोजन है, जो आज एक उद्योगिक गोले की जादुई दुनिया बन गई है। दिल्ली के इतिहास की तरह दिल्ली की संस्कृति भी बडी विविध है।

दिल्ली के मुख्य आकर्षण

दिल्ली के मुख्य आकर्षण

यहाँ दिवाली, महावीर जयंती, होली, लोहडी, कृष्ण जन्माष्टमी जैसे कई हिन्दू त्योहार तो मनाए जाते ही हैं, साथ ही यहाँ क़ुतुब त्योहार, वसंत पंचमी, विश्व पुस्तक मेला और अंतराष्ट्रिय आम फेस्ट जैसे कई लोकप्रिय और अनूठे त्योहार भी मनाए जाते हैं।

दिल्ली वह स्थान है जहाँ मुग्लई व्यंजनों का प्रारंभ हुआ, जिसका प्रभाव हम दिल्ली के व्यंजनों में देखते हैं। इनके अलावा यहाँ कई भारतीय व्यंजन भी काफी लोकप्रिय है।

दिल्ली में बनी कई स्मारके और पर्यटक स्थल प्राचीन काल की याद दिलाते हैं। यहाँ का प्रसिद्ध क़ुतुब मीनार, लाल किला, इंडिया गेट, लोटस मंदिर और अक्षरधाम मंदिर दिल्ली की वास्तुकला के उत्कृष्ट कृतियों में से एक है।

मैसूर: कर्नाटक की सांस्कृतिक राजधानी

मैसूर: कर्नाटक की सांस्कृतिक राजधानी

मैसूर कर्नाटक की सांस्कृतिक राजधानी होने के साथ-साथ राज्य का दूसरा सबसे बड़ा शहर भी है। दक्षिण भारत का यह प्रसिद्ध पर्यटन स्थल अपने वैभव और शाही परिवेश के लिए जाना जाता है।

मैसूर शहर की पुरानी चमक-दमक, खूबसूरत गार्डन, हवेलियां और छायादार जगह यहां आने वाले पर्यटकों को मंत्रमुग्ध कर देते हैं। मैसूर की हवा में घुली चंदन की लकड़ी, गुलाब और दूसरी तरह की खुशबू ने इसे संडलवुड सिटी भी कहा जाता है। साथ ही इसे आइवरी सिटी और सिटी ऑफ पैलेसेस के नाम से भी जाना जाता है।

मैसूर के मुख्य आकर्षण

मैसूर के मुख्य आकर्षण

मैसूर शहर के कुछ प्रमुख आकर्षणों में मैसूर जू, चामुंडेश्वरी मंदिर, महाबलेश्वर मंदिर,सेंट फिलोमेना चर्च, वृंदावन गार्डन, जगनमोहन महल आर्ट गैलरी, ललिता महल,जयलक्ष्मी विलास हवेली, रेलवे म्यूजियम, करणजी झील और कुक्करहल्ली झील प्रमुख है।

 कन्याकुमारी : जितनी खूबसूरत सुबह उतनी ही खूबसूरत शाम

कन्याकुमारी : जितनी खूबसूरत सुबह उतनी ही खूबसूरत शाम

कन्याकुमारी, जो कि पूर्व में केप कैमोरिन के नाम से प्रसिद्ध था, भारत के तमिलनाडु में स्थित है। यह भारतीय प्रायद्वीप के सबसे दक्षिणी छोर पर स्थित है।

कन्याकुमारी ऐसे स्थान पर स्थित है जहाँ पर हिन्द महासागर, बंगाल की खाड़ी और अरब सागर मिलते हैं। कन्याकुमारी में कई मन्दिर और समुद्रतट हैं जो भारी संख्या में तीर्थयात्रियों और रोमांच पसन्द पर्यटकों को आकर्षित करते हैं।

कन्याकुमारी के मुख्य आकर्षण

कन्याकुमारी के मुख्य आकर्षण

शहर के मुख्य आकर्षणों में विवेकानन्द रॉक मेमोरियल, वट्टाकोटाई किला, पद्मनाभपुरम पैलेस, थिरूवल्लूवर प्रतिमा, वावाथुराइ, उदयगिरि किला और गाँधी संग्रहालय शामिल हैं।

शहर के प्रसिद्ध पवित्र स्थलों में कन्याकुमारी मन्दिर, चिथराल हिल मन्दिर और जैन स्मारक, नागराज मन्दिर, सुब्रमण्यम मन्दिर और थिरुनन्धिकाराइ गुफा मन्दिर शामिल हैं।

कन्याकुमारी के समुद्रतट उन रोमांच पसन्द लोगों के लिये प्रमुख आकर्षण हैं जो यहाँ अपने परिवार और मित्रों के साथ मनोरंजन के लिये आते हैं। शहर के समीप प्रसिद्ध समुद्रतटों में संगुथुराई तट, थेंगापट्टिनम तट और सोथाविलाइ तट प्रमुख हैं।

जयपुर : गुलाबी नगरी

जयपुर : गुलाबी नगरी

जयपुर, भारत के पुराने शहरों में से एक है जिसे पिंक सिटी के नाम से जाना जाता है। राजस्‍थान राज्‍य की राजधानी कहा जाने वाला जयपुर शहर एक अर्द्ध रेगिस्‍तान क्षेत्र में स्थित है।

इस खूबसूरत शहर को अम्‍बेर के राजा महाराजा सवाई जय सिंह द्वितीय द्वारा बंगाल के एक वास्‍तुकार विद्याधर भट्टाचार्य की मदद से बनाया गया था। यह भारत का पहला शहर है जिसे वास्‍तुशास्‍त्र के अनुसार बनाया गया था।

जयपुर शहर, अपने किलों, महलों और हवेलियों के विख्‍यात है, दुनिया भर के पर्यटक भारी संख्‍या में भ्रमण करने आते है।

जयपुर के मुख्य आकर्षण

जयपुर के मुख्य आकर्षण

दूर-दराज के क्षेत्रों के लोग यहां अपनी ऐतिहासिक विरासत की गवाह बनी इस समृद्ध संस्‍कृति और पंरपरा को देखने आते है। अम्‍बेर किला, ना‍हरगढ़ किला, हवा महल, शीश महल, गणेश पोल और जल महल, जयपुर के लोकप्रिय पर्यटक स्‍थलों में से हैं। महलों और किलों के अलावा जयपुर शहर मेले और त्‍यौहारों के लिए भी काफी प्रसिद्ध है।

मनाली: एक रोमेंटिक स्‍थल

मनाली: एक रोमेंटिक स्‍थल

मनाली,हिमाचल प्रदेश राज्‍य में समुद्र स्‍तर से 1950 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। यह पर्यटकों की पहली पसंद है और ऐसा हिल स्‍टेशन है जहां पर्यटक सबसे ज्‍यादा आते है।

मनाली, कुल्‍लु जिले का एक हिस्‍सा है जो हिमाचल की राजधानी शिमला से 250 किमी. की दूरी पर स्थित है। हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार, मनाली का नाम मनु से उत्‍पन्‍न हुआ है जिन्‍हे सृष्टि के रचयिता भगवान ब्रहमा ने बनाया था।

मनाली आपे पर्यटकों के बीच यहां के सुंदर दृश्‍यों, गार्डन, पहाड़ो, और सेब के बागों के लिए जाना जाता है। यहां के बागों में लाल और हरे सेब काफी मात्रा में पैदा होते है।

मनाली के मुख्य आकर्षण

मनाली के मुख्य आकर्षण

यहां आने पर पर्यटक हिमालय नेशनल पार्क, हिडिम्‍बा मंदिर, सोलांग घाटी, रोहतांग पास, पनदोह बांध, पंद्रकनी पास, रघुनाथ मंदिर और जगन्‍ननाथी देवी मंदिर देख सकते हैं।

यहां का हडिम्‍बा मंदिर 1533 ई. में हिंदू धर्म की देवी हडिम्‍बा को समर्पित करके बनाया गया था। यहां से पूरे मनाली की भूमि, ग्‍लेशियर और पर्वतों का खूबसूरत व्‍यू देखा जा सकता है।

मनाली में आने वाले धार्मिक पर्यटक व्‍यास कुंड अवश्‍य आएं, इस कुंड का वर्णन महाभारत में ऋषि व्‍यास के संदर्भ में किया गया है। माना जाता है कि ऋषि व्‍यास ने इसी कुंड में स्‍नान किया था।

दार्जिलिंग : जब ज़मीं पर उतरा स्वर्ग

दार्जिलिंग : जब ज़मीं पर उतरा स्वर्ग

भारतीय फिल्मों में तो आपने दार्जिलिंग को कई बार देखा होगा। हॉलीवुड की भी एक फिल्म में विश्व प्रसिद्ध दार्जिलिंग हिमालियन रेलवे को दिखाया गया है।

दार्जिलिंग पश्चिम बंगाल में स्थित एक हिल स्टेशन है और आप यहां बर्फ से ढंकी चोटियां देख सकते हैं। दार्जिलिंग शहर ब्रिटिश शासनकाल से ही पर्यटन स्थल के रूप में जाना जाता रहा है।

साथ ही यहां के विशाल चाय बागान और गुणवत्तापूर्ण चाय की लोकप्रियता पूरे विश्व में है। दार्जिलिंग में आप अल्पाइन और साल व ओक के पेड़ों से लैश समशीतोष्ण जंगलों को दखे सकते हैं।

मौसम में परिवर्तन के बावजूद दार्जिलिंग के जंगल हरे-भरे हैं, जिससे पर्यटन को नया आयाम मिलता है।

दार्जिलिंग के मुख्य आकर्षण

दार्जिलिंग के मुख्य आकर्षण

इस क्षेत्र में वन्यजीव के संरक्षण का जिम्मा पश्चिम बंगाल वन विभाग के पास है। इस क्षेत्र में पाए जाने वाले कुछ सामान्य जानवारों में एक सिंघ वाले गेंडे, हाथी, भारतीय बाघ, तेंदुआ और पाढ़ा प्रमुख है।

यहां के स्थानीय व्यंजन का लुत्फ उठाना एक यादगार अनुभव साबित हो सकता है। मोमोज (एक तरह की पकौड़ी) की इस क्षेत्र में खासी लोकप्रियता है। इसे गर्म सॉस के साथ परोसा जाता है और इसे चिकन, बीफ, वेजटेबल या पोर्क के साथ बनाया जाता है।

अन्य स्ट्रीट फूड में विभिन्न तरह के नूडल के सूप और कुछ मसालेदार चावल प्रमुख है। दार्जिलिंग में पर्यटकों के लिए काफी कुछ है।

इनमें से हैप्पी वैली टी एस्टेट, लॉयड बॉटनिकल गार्डन, दार्जिलिंग हिमालियन रेलवे, बतासिया लूप व युद्ध स्मारक, केबल कार, भूटिया बस्टी गोंपा और हिमालियन माउंटेनीरिंग इंस्टीट्यूट और म्यूजियम प्रमुख है।

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स

Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Nativeplanet sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Nativeplanet website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more