Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »इस वीकेंड घूम डालिए कोलकाता के पास स्थित इन खूबसूरत वीकेंड गेटवे को

इस वीकेंड घूम डालिए कोलकाता के पास स्थित इन खूबसूरत वीकेंड गेटवे को

Written By: Goldi

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता को देश का दिल माना जाता है। इस शहर को पहले कलकत्ता के नाम से जाना जाता था जो अंग्रेजों के ज़माने से ही हमारे देश का सांस्कृतिक केंद्र रहा है।कोलकाता के लोगों को कई दशकों से साहित्य और कला प्रदर्शन के लिए सराहा जाता रहा है।

सिटी ऑफ़ जॉय', कोलकाता से जुड़ी 11 दिलचस्प बातें!

दुर्गा पूजा, दीवाली और दशहरे के कुछ ही दिनों पहले मनाई जाने वाली काली पूजा जैसे त्योहारों को मनाने के तरीके और उनके द्वारा अपने घरों को सजाने के तरीके से उनके कला प्रेम के स्पष्ट सबूत मिलते हैं।

कोलकाता में नदियों के पार!

कोलकाता और उसके आसपास बहुत से पर्यटक आकर्षण हैं जैसे विक्टोरिया मैमोरियल, इंडियन म्यूज़ियम, ईडेन गार्डन, साइंस सिटी और भी बहुत कुछ। यहाँ बहुत सी एतिहासिक इमारतें हैं जैसे जीपीओ और कलकत्ता हाईकोर्ट, जो पर्यटकों का ध्यान अपनी ओर खींचती हैं।

सेंट पॉल कैथेड्रल- कोलकाता में वास्तुकला का चमत्कार!

लेकिन अगर आप कोलकाता की इन चीजों को घूम घूम कर थक चुके हैं..तो आज हम आपके लिए लेकर आये हैं, कोलकाता से कुछ ही दूरी पर स्थित कुछ बेहद ही खूबसूरत वीकेंड डेस्टिनेशन के बारे में, जहां जार्क आप अपनी बोरियत को कर सकते हैं दूर...

सुंदरबन

सुंदरबन

सुंदरबन बंगाल की खाड़ी के तटीय क्षेत्र में एक विशाल जंगल है, जो दुनिया के प्राकृतिक चमत्कारों में से एक माना जाता है, इसे यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल के रूप में 1997 में मान्यता दी गई थी।

कोलकाता से दूरी: 110 किलोमीटरPC:Ankurmaury

बिश्नुपुर

बिश्नुपुर

बिश्नुपुर आठवीं शाताब्दी में स्थापित हिन्दू मल्लभूम राज्य की राजधानी था, जो एक समय बंगाल का सबसे महत्त्वपूर्ण राजवंश था। इस नगर के चारों ओर पुरानी दुर्गबंदी है और यहाँ एक दर्जन से भी अधिक मंदिर हैं।
बिश्नुपुर पश्चिम बंगाल, भारत में बंकुर जिला का एक शहर है। यह अपने टेराकोटा मंदिरों मल्ला श्री कृष्णा रासलिला और बालूशेरी साड़ियों के लिए प्रसिद्ध है।

कोलकाता से दूरी: 140 किलोमीटरPC:Abhijit Kar Gupta

मुकुंतमपुर

मुकुंतमपुर

मुकुंतमपुर पश्चिम बंगाल, भारत के बांकुरा जिले का शहर है। यह झारखंड सीमा के करीब कांगसाबाती और कुमारी नदियों के संगम पर स्थित है।

कोलकाता से दूरी: 217 किलोमीटरPC:Anirban Biswas

शांति निकेतन

शांति निकेतन

शांतिनिकेतन पश्चिम बंगाल, भारत के बीरभूम जिले में बोलपुर के पास एक छोटा सा शहर है। यह महर्षि देवेन्द्रनाथ टैगोर द्वारा स्थापित किया गया था, और बाद में उनके बेटे रबींद्रनाथ टैगोर द्वारा विस्तारित किया गया,अब यहां एक विश्वभारती विश्वविद्यालय है।

कोलकाता से दूरी: 162 किलोमीटरPC:Saptarshi Sanyal

घाटशिला

घाटशिला

सुवर्णरेखा नदी के तट पर स्थित घाटशिला झारखंड राज्य के पुरबि सिंहभूम जिले का एक शहर है। यह एक वन क्षेत्र में स्थित है।

कोलकाता से दूरी: 238 किलोमीटरPC:SKSsourav0303

अजोध्या

अजोध्या

अजोध्या पहाड़ी राज्य पश्चिम बंगाल, भारत के पुरुलिया जिले में स्थित है यह दल्मा हिल्स का हिस्सा है।

कोलकाता से दूरी: 250 किलोमीटरPC:Ajay kumar

बक्खाली - हेनरी आइलैंड

बक्खाली - हेनरी आइलैंड

बक्खाली पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना जिले के काक्द्विप उपखंड में नामखाना में समुद्र तल है। यह दक्षिणी बंगाल में फैले कई डेल्टाक द्वीपों में से एक है।

कोलकाता से दूरी: 130 किलोमीटरPC:eutrophication&hypoxia

ताजपुर

ताजपुर

ताजपुर पश्चिम बंगाल की खाड़ी के पास पूरब मेदिनीपुर में स्थित है। ताजपुर मंडर्मनी और शंकरपुर के बीच स्थित है।

कोलकाता से दूरी: 173 किलोमीटरPC:Biswarup Ganguly

सुसुनिया

सुसुनिया

सुसुनिया पूर्वी घाट का एक हिस्सा है और पश्चिम बंगाल के बंकुरा जिले के उत्तर पश्चिमी हिस्से में स्थित एक बेहद ही खूबसूरत हिल स्टेशन है। यह अपने पवित्र वसंत, वनस्पतियों और चट्टानों के लिए जाना जाता है, जिस पर इस क्षेत्र के कई पर्वतारोहियों ने अपनी यात्रा शुरू की थी। यह औषधीय पौधों के लिए एक आरक्षित भी है।

कोलकाता से दूरी: 225 किलोमीटरPC:Indrajit Das

तलसारी बीच

तलसारी बीच

दीघा बीच से करीबन 10 किमी की दूरी पर स्थित तलसारी बीच उड़ीसा के बालेश्वर जिले में स्थित है। यह एक बेहद ही खूबसूरत बीच है, दीघा बीच पर आप पर्यटकों का जमावड़ा देख सकते हैं। लेकिन इस बीच पर आप शांति के साथ दोस्तों और परिवार के साथ छुट्टियों का मजा ले सकते हैं।
PC:Dr. Subhransu Mishra

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स

We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Nativeplanet sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Nativeplanet website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more