Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »मंड्या भ्रमण के दौरान इन स्थलों की सैर जरूर करें

मंड्या भ्रमण के दौरान इन स्थलों की सैर जरूर करें

मैसूर से 46 कि.मी और बैंगलोर से 105 कि.मी की दूरी पर स्थित मंड्या दक्षिण भारत के कर्नाटक राज्य का एक बड़ा जिला है, जो प्राकृतिक, सांस्कृतिक और ऐतिहासिक रूप से काफी ज्यादा मायने रखता है। इस स्थल को 'चीनी का शहर' भी कहा जाता है, क्योंकि यहां गन्ने की पैदावार ज्यादा होती है। पर्यटन के लिहाज से यह जिला एक महत्वपूर्ण स्थल है, जहां आप विभिन्न प्राचीन स्थलों के साथ कई खूबसूरत मंदिर और प्राकृतिक आकर्षणों को देख सकते हैं।

2016 को हुए पुरातात्विक सर्वेक्षण में यहां से एक 13 फीट की ऊंचाई वाली एक बाहुबली मूर्ति प्राप्त की गई, जो जैन धर्म से संबंध रखती है। माना जाता है कि यह प्रतिमा जैन धर्म के प्रथम तीर्थंकर आदिनाथ के पुत्र की है। यह स्थल पुरातात्विक रूप से काफी ज्यादा महत्व रखता हैं। इस लेख के माध्यम से जानिए अपने विभिन्न आकर्षणों के साथ मंड्या आपको किस प्रकार आनंदित कर सकता है।

दरिया दौलत बाग

दरिया दौलत बाग

PC-Ahmad Faiz Mustafa

मंड्या भ्रमण की शुरूआत आप यहां के प्रसिद्ध ऐतिहासिक स्थल दरिया दौलत बाग से कर सकते हैं। यह टिपू सुल्तान का महल है, जो जिले के श्रीरंगपट्टनम में स्थित है। यह एक खास ऐतिहासिक सरंचना है, जिसके निर्माण में सागौन की लकड़ी का अधिक प्रयोग किया गया है। इस महल को बनाने का काम हैदर अली ने शुरु किया था, और जिसका पूर्ण निर्माण टिपू सुल्तान ने 1784 में करवाया। इस महल को टिपू सुल्तान का समर पैलेस भी कहा जाता है।

महल चारों तरह से प्राकृतिक आकर्षणों से भरा हुआ है, जहां आप एक खूबसूरत बाग भी देख पाएंगे। महल के अंदर आप उस समय की शानदार चित्रकारी भी देख सकते हैं। इतिहास की बेहतर समझ के लिए आप यहां आ सकते हैं।

कृष्णा राजा सागर डैम और उद्यान

कृष्णा राजा सागर डैम और उद्यान

PC-PP Yoonus

मंड्या के प्राकृतिक आकर्षणों में आप यहां के खूबसूरत कृष्णासागर बांध और वंदावन बाग देख सकते हैं। श्रीरंगपट्टनम से दोनों आकर्षण लगभग 12 कि.मी की दूरी पर स्थित हैं। यह बांग दक्षिण की प्रसिद्ध कृष्णा नदी पर बनाया गया है, जो अपनी खूबसूरती से भारी संख्या में पर्यटकों को आकर्षित करता है। खासकर मॉनसून के दौरान यहां की खूबसूरत ज्यादा बढ़ जाती है।

डैम के पास ही वंदावन गार्डन मौजूद है, जहां की सैर करना पर्यटकों को काफी ज्यादा पसंद है। बाग में आप खूबसूरत फूले, पौधे और फव्वारे भी देख सकते हैं। आरामदायक यात्रा के लिए यह उद्यान एक आदर्श स्थल है।

शिवानासमुद्र फाल्स

शिवानासमुद्र फाल्स

PC-Bgajanan

मंड्या के प्राकृतिक आकर्षणों में आप यहां के प्रसिद्ध शिवानासमुद्र फाल्स की सैर का प्लान बना सकते हैं। यह बांध जिले के मालवल्ली तालुका में स्थित है। यह यहां के लोकप्रिय पर्यटन आक्रषणों में गिना जाता है, जहां वीकेंड पर पर्यटक मौज-मस्ती औक सुकून के पल बिताने के लिए आते हैं। यह जलप्रपात कावेरी नदी से जल प्राप्त करता है। यह एक विशाल झरना है जो 98 मीटर की ऊंचाई से गिरता है।

यहां आने का सबसे आदर्श समय मॉनसून है, जिस वक्त कावेरी नदी अधिक वर्षाजल प्राप्त करती है। इस दौरान इस नदी का वेग बढ़ जाता है। प्राकृतिक खूबसूरती के अद्भुत नजारों का आनंद उठाने के लिए आप यहां आ सकते हैं।

श्री रंगनाथस्वामी मंदिर

श्री रंगनाथस्वामी मंदिर

PC- Chitra sivakumar

मंड्या के ऐतिहासिक स्थलों के अलाव आप यहां के सबसे प्रसिद्ध श्री रंगनाथस्वामी मंदिर के दर्शन का सौभाग्य प्राप्त कर सकते हैं। यह एक प्राचीन मंदिर है, जो जिले के श्रीरंगपट्टनम नगर में स्थित है। इस मंदिर के नाम पर नही नगर का नाम पड़ा है। कावेरी नदी के पास स्थित यह मंदिर भगवान विष्णु के रंगनाथ रूप के समर्पित है।

यह मंदिर दक्षिण के पंचरंग क्षेत्रम में गिना जाता है। यहां भगवान विष्णु की मूर्ति सर्पो के ऊपर नींद की मुद्रा में है। इस मंदिर का निर्माण विजयनगर और हौसाल वास्तुकला में किया गया है।

गुंबज फोर्ट

गुंबज फोर्ट

PC- Cchandranath84

उपरोक्त स्थलों के अलावा आप श्रीरंगपट्टनम के गुंबज फोर्ट को देखने का प्लान बना सकते हैं। यह स्थल भारतीय इतिहास में एक महत्वपूर्ण स्थान रखता है,क्योंकि यहां टिपू सुल्तान, उनके पिता हैदर अली और माता फक्र उन निशा की क्रब मौजूद है। यह मकबरा टिपू सुल्तान द्वारा बनाया गया था, जहां उन्होंने अपने माता-पिता को दफनाया था बाद में टिपू सुत्लान की मृत्यु के बाद उन्हें भी यहीं दफनाया दिया गया था। इतिहास की बेहतर समझ के लिए आप यहां आ सकते हैं।

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X