• Follow NativePlanet
Share
» »खास कारण! आखिर क्यों जीवन में एकबार चंडीगढ़ घूमना है जरूरी?

खास कारण! आखिर क्यों जीवन में एकबार चंडीगढ़ घूमना है जरूरी?

Written By:

विवधता से परिपूर्ण भारत सिर्फ कई खूबसूरत हिल स्टेशन या फिर प्राकृतिक जगहों का नहीं बल्कि कई कई खूबसूरत शहरों का भी घर है। जो बेहद ही अद्वितीय और खूबसूरत है, जहां लोग घूमने के लिए पहाड़ी स्टेशन या फिर कई अन्य जगहों की तलाश करते हैं, तो वहीं कुछ शहर अपने ही आप में परिपूर्ण अद्भुत छुट्टियों के गंतव्य होते हैं।

दरअसल, हम बात कर रहे हैं,पंजाब-हरियाणा की राजधानी चंडीगढ़ की, जोकि एक बेहद ही खूबसूरत शहर है। जवाहर लाल नेहरू और ली कोरबूसियर द्वारा डिज़ाइन किया गया चंड़ीगढ़ शहर सबसे खूबसूरत और व्‍यवस्थित शहरों में से एक है। अपनी कला और संस्कृति वास्तुकला और डिजाइन के लिए पूरी दुनिया में मशहूर है।

आइये आज हम आपको कुछ ऐसे कारण बताते हैं, जिसके चलते आपको जीवन में एकबार चंडीगढ़ की सैर अवश्य करनी चाहिए

भारत का पहला नियोजित शहर

भारत का पहला नियोजित शहर

Pc:Rishabh Mathur

चंडीगढ़ आजादी के बाद भारत का पहला नियोजित शहर है जिसका गठन आजादी के बाद किया गया था। यह शहर फ्रांसीसी वास्तुकारों द्वारा डिजाइन किया गया था। देश के विभिन्न भागों से प्रकृति प्रेमि शहर के सुंदर स्थानों को देखने के लिए यहाँ आते हैं।

कैपिटल कॉम्प्लेक्स

कैपिटल कॉम्प्लेक्स

Pc:Lillottama
चंडीगढ़ के दिल में स्थित कैपिटल कॉम्प्लेक्स ली कोरबुसियर के उत्कृष्ट वास्तुशिल्प का नमूना है, जो हर किसी को हैरत में डालती है। 100 एकड़ जमीन क्षेत्र में फैला कैपिटल कॉम्प्लेक्स एक यूनेस्को विश्व विरासत स्थल है।इसमें तीन इमारतें, तीन स्मारक और एक झील है, जिनमें विधान सभा, सचिवालय, उच्च न्यायालय, मुक्त हस्त स्मारक, ज्यामितीय पहाड़ी और टॉवर ऑफ शैडोज़ शामिल हैं।

खूबसूरत हिलस्टेशन से घिरा हुआ

खूबसूरत हिलस्टेशन से घिरा हुआ

Pc:Miya.m

चंडीगढ़ कई खूबसूरत हिलस्टेशन का गेटवे है-जैसे शिमला ,मनाली,लेह आदि। कई बार पर्यटक चंडीगढ़ से से ही अपनी लेह लद्दाख की रोड ट्रिप की शुरुआत करते हैं।

सबसे साफ़ शहर

सबसे साफ़ शहर

नियोजित शहर होने के नाते यह शहर बेहद साफ़ और सुरक्षित शहरों में शामिल है। शहर में पर्यारवण के अनुकूल शहरी परिदृश्य और सुनियोजित बुनियादी ढांचे के कारण इसे 'द सिटी ब्यूटीफुल' के नाम से भी जाना जाता है।Pc: Harvinder Chandigarh

द ओपन हैण्ड

द ओपन हैण्ड

शहर का द ओपन हैण्ड, चंडीगढ़ सरकार का प्रतीक है। यह स्मारकीय रचना ली कॉर्बुसिएर द्वारा बनाई गई थी। यह रचना यह दर्शाता है कि 'यह हाथ शांति, समृद्धि और मानव जाति की एकता को देने और लेने के लिए है।

चंडीगढ़ के पर्व

चंडीगढ़ के पर्व

चंडीगढ़ में सभी त्योहारों को बेहद हर्षौल्लास के साथ मनाया जाता है, जो इस क्षेत्र की संस्कृति में एक छिपी झलक को दर्शाते हैं। पर्यटक यहां नवरात्री के दौरान कई रामलीलायों के मंचन को देख सकते हैं। इसके अलावा मानसून में यहां सुखना झील के किनारे आम महोत्सव का भी आयोजन किया जाता है, जिसमे पर्यटक और स्थानीय निवारी विभिन्न प्रकार के आम का स्वाद ले सकते हैं।

चंडीगढ़ से इन खूबसूरत स्थानों का बनाएं प्लान

कब जायें

कब जायें

पंजाब-हरियाणा की राजधानी चंडीगढ़ यूं तो साल में कभी भी जाया जा सकता हैं, लेकिन इस जगह को घूमने का उचित समय अक्टूबर से लेकर मार्च तक है। मानसून के दौरान भी यहां मौसम बेहद सुहावना रहता है, बाकी के दिनों में यहाँ भयंकर सर्दी व गर्मी पड़ती है।

कैसे जायें

कैसे जायें

वायु मार्ग द्वारा- चंडीगढ़ में एयरपोर्ट है और यह कई डायरेक्ट और कनेक्टिंग फ्लाइट्स से दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, गोवा, जम्मू और श्रीनगर से जैसे शहरों से जुड़ा हुआ है। एयरपोर्ट से शहर जाने के लिए परिवहन के साधन भी उपलब्ध हैं।

रेल मार्ग द्वारा- रेल मार्ग से भी चंडीगढ़ दिल्ली, मुंबई, जयपुर, कोलकाता, त्रिवेंद्रम, लखनऊ और चेन्नई जैसे प्रमुख शहरों से जुड़ा हुआ है। पंजाब और हरियाणा के अलग-अलग शहरों से चंड़ीगढ़ के लिए नियमित ट्रेन चलती है। चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन शहर से 8 किमी दूर सेक्टर 17 में स्थित है।

सड़क मार्ग द्वारा- सड़क मार्ग दिल्ली, पंजाब, हरियाण और हिमाचल प्रदेश जैसे नजदीकी राज्यों से चंडीगढ़ पहुंचने का सबसे प्रभावी विकल्प है। चंडीगढ़ के सेक्टर 17 और सेक्टर 43 में स्थित इंटर-स्टेट बस टर्मिनल से राज्य परिवहन और वाल्वो की बसें चलती हैं। किराए के कार से चंडीगढ़ जाना भी एक अच्छा विकल्प हो सकता है। एनएच 22(अंबाला-कालका-शिमला) और एनएच 21 (चंडीगढ़-लेह) के जरिए चंडीगढ़ से संपर्क अच्छा है।

नाइट लाइफ की इन खास चीजों का मजा लेना है तो पहुंचे चंडीगढ़

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स