» »महाराष्ट्र के तोरणमल हिल स्टेशन की अनछुई खूबसूरती!

महाराष्ट्र के तोरणमल हिल स्टेशन की अनछुई खूबसूरती!

Written By:

तोरणमल महाराष्ट्र के नांदुरबार जिले का एक प्राचीन हिल स्टेशन है। यहाँ की अनछुई और अनजान दृश्य एक खूबसूरत नज़ारे का निर्माण करती है। तोरणमल सतपुड़ा पर्वत श्रेणी का एक भाग है और एक अनजान गन्तव्य स्थल भी है।

दिलचस्प बात यह है कि यह एक हिन्दू तीर्थस्थल भी है जो अपने गोरखनाथ मंदिर के लिए प्रसिद्द है। महाशिवरात्रि पर कई भक्त भक्ति भावना के साथ इस मंदिर के दर्शन करने दूर-दूर से आते हैं।

तोरणमल के सुन्दर नज़ारे एक दिन की यात्रा के लिए एक आदर्श जगह है। चलिए इन्हीं सुन्दर नज़ारों की एक झलक लेते हैं।

स्थान

स्थान

तोरणमल, नांदुरबार जिले में स्थित सतपुड़ा पर्वत श्रेणी का एक भाग है। यह महाराष्ट्र के खूबसूरत अनजान हिल स्टेशन्स में से एक है।

Image Courtesy:Arun Sagar

नांदुरबार

नांदुरबार

नंदुरबार महाराष्ट्र के खानदेश क्षेत्र का एक जिला है। पहले धूले शहर भी नांदुरबार के साथ ही मिला हुआ था जो बाद में सन 1988 में इससे अलग हो गया। यह अपने गर्म पानी के झरने, उनपदेव के लिए पर्यटकों के बीच एक प्रमुख आकर्षण का केंद्र है।

Image Courtesy:Raama

दूरी

दूरी

तोरणमल शाहदा के माध्यम से पहुंच जा सकता है जो यहाँ से लगभग 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। गुजरात का शहर सूरत यहाँ से लगभग 250 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

Image Courtesy:Arun Sagar

तोरणमल में पर्यटक स्थल

तोरणमल में पर्यटक स्थल

तोरणमल चारों तरफ से हरियाली और एक बड़े से झील से घिरा हुआ है। यहाँ कुछ ऐसे पर्यटक स्थल हैं जहाँ की यात्रा करना आप बिल्कुल भी न भूलें। खड़की पॉइंट, सीता खाई(पानी का झरना), गोरखनाथ मंदिर, यशवंत झील, सनसेट पॉइंट, आदि यहाँ के प्रमुख पर्यटक स्थल हैं।

Image Courtesy:AbhiRiksh

यहाँ की जलवायु

यहाँ की जलवायु

मॉनसून के समय तोरणमल की खूबसूरती देखने लायक होती है। चारों तरफ से हरियाली और पानी के झरनों से घिरी हुई। गर्मी के मौसम में यहाँ का जलवायु राहत भरा सुखद अनुभव कराता है। इसी वजह से यह गर्मियों के दिनों में भी यात्रा के लिए एक आदर्श जगह है। ठण्ड का मौसम भी यहाँ की यात्रा के लिए एक अच्छा समय है, जहाँ आप ठण्ड और शांत वातारण का भरपूर मज़ा ले पाएंगे।

Image Courtesy:cool_spark

शाहदा

शाहदा

शाहदा तोरणमल के पास ही स्थित एक छोटा सा नगर है। यह एक धार्मिक स्थल जिसे दक्षिण काशी के नाम से जाना जाता है, के लिए लोकप्रिय है जो यहाँ से लगभग सिर्फ 14 किलोमीटर दूर ही स्थित है। दक्षिण काशी, प्रकाश के नाम से भी जाना जाता है जो एक पुरातात्विक स्थल है। पांडवलेनी गुफ़ा या पाँच पांडव परिसर शाहदा के निकट ही स्थित है।

Image Courtesy:Raama

Please Wait while comments are loading...