• Follow NativePlanet
Share
» »ऐतिहासिक लड़ाइयों का गवाह रह चुके हैं हरियाणा के ख़ास किलें

ऐतिहासिक लड़ाइयों का गवाह रह चुके हैं हरियाणा के ख़ास किलें

Written By:

उत्तर भारत मे स्थित हरियाणा भारत के प्राचीन स्थलों मे से एक, जिसका उल्लेख महाभारत पुराण में भी किया गया है। भारत का प्राचीन स्थल होने के कारण इस राज्य में बेहद पुराने खूबसूरत स्थलों को देखा जा सकता है।

अगर आप इतिहास प्रेमी हैं, और आप अपने कम्फर्ट जोन से निकलकर सदियों पुरानी दीर्घाओं और पुराने ऐतिहासक इमारतों, किलें आदि देखना चाहते हैं, तो आपको जीवन में एकबार हरियाणा की यात्रा जरुर करनी चाहिए। इसी क्रम में इस लेख में आज हम आपको आपको हरियाणा के कुछ बेहद ही खूबसूरत किलों से परिचित कराते हैं, जो कई लड़ाइयों का गवाह रह चुके हैं.. आइए जानते हैं हरियाणा के किलों के बारे में खास 

धोसी पहाड़ी किला

धोसी पहाड़ी किला

Pc:Sudhirkbhargava
धोसी पहाड़ी किला हरियाणा के महेंद्रगढ़ जिले में सुंदर खेतों और रंगीन क्षेत्रों से परिपूर्ण धोसी हिल के ऊपर स्थित है। खास बात यह है कि, यह किला धोसी पहाड़ी पर बसा हुआ है, जो एक ज्वालामुखी है, लेकिन इस ज्वालामुखी में हजारों साल से कोई विस्फोट नहीं हुआ है।

कई वर्ष पूर्व धोसी पहाड़ी का निर्माण सुमी राजवंश के शासनकाल के दौरान हेमू के आदेश के तहत बनाया गया था, जो सुरी राजा, आदिल शाह सूरी के मुख्यमंत्री थे।

धोसी किले के निर्माण हिंदू आश्रमों और विरासत भवनों को मुस्लिम शासकों के हमलों से बचाने के लिए किया गया था। 40 फीट चौड़ी और 25 फीट ऊंची दीवारों के साथ, धोसी हिल किला भारत के सबसे मजबूत किलों में से एक था।

फिरोज शाह काम्प्लेक्स

फिरोज शाह काम्प्लेक्स

Pc: Vishal14k
हिसार में स्थित, फिरोज शाह का महल 1354 ई. में फिरोज शाह तुगलक ने बनवाया था। हिसार के मूल शहर किले के अंदर एक दीवारों के बंदोबस्त के बीच बसा था जिसमें चार दरवाजे थे, दिल्ली गेट, मोरी गेट, नागौरी गेट और तलाकी गेट। महल में एक मस्जिद है जिसका नाम 'लाट की मस्जिद' आदि है,जो वर्तमान में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण की देखभाल में हैं। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा इसको एक केन्द्रीय संरक्षित स्मारक घोषित किया गया है।

कैथल किला

कैथल किला

Pc:Manojkhurana
कैथल में स्थित कैथल किला एक बेहद ही महत्वपूर्ण ऐतिहासिक इमारत हैं, जिस पर कई बार आक्रमण किया गया है, आज भले ही यह किला जर्जर हो चुका हो, लेकिन आज भी यह किला यहां की गौरवगाथ को सुनाता हुआ प्रतीत होता है।

कहा जाता है कि, इस किले का निर्माण कैथल के शाही परिवार द्वारा किया गया था, जिसमे किले के चारों ओर सात तालाब तथा आठ दरवाजे हैं। दरवाजों का नाम है - सीवन गेट, माता गेट, प्रताप गेट, डोगरा गेट, चंदाना गेट, रेलवे गेट, कोठी गेट, क्योड़क गेट।

असिगढ़ किला

असिगढ़ किला

Pc:Amrahsnihcas
असिगढ़ किला हरियाणा राज्य के सबसे प्रसिद्ध किलों में से एक है, जिसे हर साल हजारों पर्यटक और इतिहास प्रेमी इसे देखने पहुंचते हैं। हांसी के हिसार जिले में स्थित, असिगढ़ किले का निर्माण 12 वीं शताब्दी के दौरान अजमेर और दिल्ली के राजा पृथ्वीराज चौहान के द्वारा कराया गया था, इस कारण इसे इसे पृथ्वीराज चौहान का क़िला या हांसी का किला भी कहते हैं। इसे भारत में सबसे मजबूत और अपरिहार्य किलों में से एक माना जाता है। विशाल संरचना और विशाल दीवारें निश्चित रूप से इस तथ्य को साबित करती हैं। कालान्तर में मुग़ल शासकों ने इस दुर्ग पर अधिकार कर लिया था। बाद में उन्होंने इस दुर्ग में एक मस्जिद का निर्माण भी करवाया था। वर्तमान में यह अधिकांशतः एक खण्डहर टीले में बदल हो चुका है।

रायपुर रानी किला

रायपुर रानी किला

Pc:To.harpreet
हरियाणा के पंचकुला जिले में स्थित रायपुर रानी किले का निर्माण 17 वीं और 18 वीं शताब्दी के बीच अजमेर के राजा चौहान द्वारा किया गया था, जिन्होंने भारत की आजादी तक इस शहर पर शासन किया था।

पर्यटक इस किले के अंदर एक बेहद ही खूबसूरत गुरु द्वारा भी देख सकते हैं, जहां निय्मोट रूप से स्थानीय निवासी पूजा-अरदास करने पहुंचते हैं। भले ही आज यह किला जर्जर अवस्था में हैं, लेकिन फिर भी इस किले की वैभव वास्तुकला पर्यटकों को अपने करीब आने से नहीं रोक पाती है।

जाने! क्या है खास हरियाणा के करनाल में

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स