• Follow NativePlanet
Share
» »दिल्ली के ये रंग शायद ही आपने कभी कहीं देखे होंगे!

दिल्ली के ये रंग शायद ही आपने कभी कहीं देखे होंगे!

Written By:

किसी जमाने बिर्टिश साम्राज्य का प्रमुख केंद्र समय के साथ अब काफी बदल चुका है। अज दिल्ली देश की राजधानी ही नहीं बल्कि एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल के रूप में तब्दील हो चुकी है।

बदलते समय के साथ दिल्ली में कई बदलाव आये हैं, और यह पहले से ज्यादा आधुनिक हो गयी है। लेकिन आज भी आधुनिकता के जमाने में भी पुराने जमाने की इमारते ज्यों की त्यों खड़ी हुई हैं।

हिन्दू बौद्ध और जैन तीनों धर्मों के महत्त्वपूर्ण केंद्र एलोरा की कुछ एक्सक्लूसिव तस्वीरें

आज हम आपको तस्वीरों के जरिये दिल्ली की कुछ इमारतें दिखायेंगे, जो आज भी वैसे ही हैं, जैसे आज से ठीक 100 साल पहले हुआ करती थी। आप जब कभी भी इस शहर की यात्रा के दौरान इन इमारतों को देखेंगे और आश्चर्यचकित हो जायेंगे

इंडिया गेट

इंडिया गेट

1930 में इंडिया गेट के पास से गुजरती हुई कारें..Pc:Unknown

इंडिया गेट

इंडिया गेट

शाम के समय का नजारा

लाल किला-1895

लाल किला-1895

लाल किले के बाहर पहरा देते हुए सैनिक
Pc: Deen Dayal, Lala

लाल किला

लाल किला

ये आज का खूबसूरत लाल किलाPc: A.Savin

चांदनी चौक-1860

चांदनी चौक-1860

बाजर को खोलते हुए दुकानदारPc:Samuel Bourne

चांदनी चौक

चांदनी चौक

आज चांदनी चौक दिल्ली का सबसे व्यस्तम इलाके में से एक हैPc:Wasted Time R

हुमायूं का मकबरा- 1860

हुमायूं का मकबरा- 1860

हुमायूं का मकबरे का एक नजारा 1860 के दशक का
Pc:John Edward Saché

हुमायूं का मकबरा

हुमायूं का मकबरा

आज कुछ इस तरह नजर आता है, यह मकबरा

क़ुतुब मीनार- 1951

क़ुतुब मीनार- 1951

आजादी के बाद क़ुतुब मीनार की ली गयी तस्वीर
Pc:Nathan Hughes Hamilton

क़ुतुब मीनार

क़ुतुब मीनार

सालों बाद भी आज दिल्ली में शान से खड़ा हुआ है क़ुतुब मीनार।

जामा-मस्जिद 1860

जामा-मस्जिद 1860

1860 के दशक में मस्जिद के आसपास का नजारा एकदम बंजर नजर आता था..Pc:Eugene Clutterbuck Impey

जामा मस्जिद

जामा मस्जिद

आज यह जामा मस्जिद दिल्ली के प्रमुख पर्यटन स्थलों में शुमार है...Pc:Ashcoounter

राजघाट 1950

राजघाट 1950

महात्मा गाँधी की समाधि के पास इकट्टा हुए लोगPc:Unknown

राजघाट

राजघाट

बापू की समाधि के ऊपर एक लैम्प जलती हुई...
Pc:Humayunn Niaz Ahmed Peerzaada

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स

We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Nativeplanet sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Nativeplanet website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more