» »वीकेंड में रामेश्वरम के आसपास घूमे कुछ खास

वीकेंड में रामेश्वरम के आसपास घूमे कुछ खास

Written By: Goldi

तमिल नाडू का प्रसिद्ध धार्मिक स्थल रामेश्वरम हर साल लाखों श्रधालुयों को अपनी ओर आकर्षित करता है। पर्यटक यहां सिर्फ धार्मिक स्थल ही नहीं बल्कि अद्वितीय प्राकृतिक सुंदरता को देखकर भी हतप्रभ रह जाते हैं।

रामेश्वरम में सभी धार्मिक स्थल घूमने के बाद आप वहां के आसपास के खूबसूरत अद्भुत स्थलों की यात्रा कर सकते हैं। इसके साथ ही अगर आप रामेश्वरम घूम चुके हैं और आपके पास शेष वक्त है, तो रामेश्वरम नजदीक स्थित खूबसूरत जगहों की सैर अवश्य करें। इन खूबसूरत जगहों पर आप समुंद्र, सुनहरे रेतीले तट सामाजिक-सांस्कृतिक समृद्धि के साथ समृद्ध हरे पहाड़ों और चाय बागानों आदि को घूम सकते हैं।

रामेश्वरम तमिलनाडु का खूबसूरत तीर्थ स्थल

रामेश्वरम पर्यटकों के लिए अविस्मरणीय यात्रा का अनुभव है, इसी क्रम में जानिए रामेश्वरम के आसपास आसपास कुछ बेहद ही खूबसूरत पर्यटन स्थल के बारे में जहां आप आपने वीकेंड्स और छुट्टियों को शानदार और जानदार बना सकते हैं।

थेक्कड़ी

थेक्कड़ी

थेक्कड़ी रामेश्वरम से करीबन 307 किमी की दूरी पर स्थित केरल के इद्दुकी जिले में स्थित है, यह जिला तमिल नाडू केरल के बॉर्डर से लगा हुआ है, जहां आप दोनों राज्यों की संस्कृति और परम्परा को जान और समझ सकते हैं।

यह जगह हनीमून कपल्स के साथ साथ एडवेंचर लवर्स के बीच भी खासा प्रसिद्ध है, यहां ट्रैकिंग के साथ फोटोग्राफी के शौक को भी पूरा किया जा सकता है। इसके साथ ही आप यहां दुनिया भर में विश्व प्रसिद्ध पेरियार राष्ट्रीय पार्क अथवा पेरियार वन्यजीव अभयारण्य को भी देख सकते है। घने सदाबहार वनों से आच्छादित थेक्कड़ी अभयारण्य विविध रोमांचक वन्य जीवों यथा हाथी, सांभर, बाघ, जंगली सूअर, शेर पूंछ मकाक, नीलगिरि तहर, मालाबार विशालकाय गिलहरी और नीलगिरि लंगूर का बसेरा है।Pc:Ben3john

मुन्नार

मुन्नार

मुन्‍नार एक अविश्‍वसनीय, शानदार और अति आकर्षक मन को लुभाने वाला हिल स्‍टेशन है जो केरल के इडुक्‍की जिले में स्थित है। पहाड़ों के घुमावदार इलाकों से घिरा हुआ यह हिल स्‍टेशन पश्चिमी घाट पर स्थित सबसे खूबसूरत हिल स्टेशनों में से एक है। आपको बताते चलें मुन्‍नार एक मलयालम शब्द है जिसका अर्थ होता है तीन नदियों का संगम यहां आपको तीन नदियां मधुरपुजहा, नल्‍लाथन्‍नी और कुंडाली एक ही स्थान पर मिलती हुई दिखाई देंगी।

पर्यटक यहां के दूर - दूर तक फैले मखमली घास के मैदानों और वृक्षों की कतारों में भी कैजुअली इधर - उधर टहल सकते हैं या विचरण कर सकते हैं। यहां पर चिडि़यों को देखना भी एक बेहद लोकप्रिय गतिविधि है क्योंकि इस क्षेत्र में कई प्रकार की दुर्लभ प्रजातियों का घर भी है।

Pc:himanisdas

कोडैकनाल

कोडैकनाल

तमिलनाडु में स्थित कोडैकनाल समुद्र तल से 2133 मीटर की ऊंचाई पर स्थित पलानी पहाड़ियों में स्थित एक सुंदर और खूबसूरत हिल स्टेशन है। शहर अपनी प्राकृतिक सुंदरता और लोकप्रियता के कारण हिल स्टेशनों की राजकुमारी के रूप में प्रसिद्ध है। यह खूबसूरत हिल स्टेशन घने जंगलों के बीच में है जहाँ तक नज़र उठाओ वहां तक हरियाली के मनमोहक दृश्य ही दिखाई देते हैं।

कोडैकनाल में और उसके आसपास बहुत सारे पर्यटन स्‍थल हैं। जैसे कोकर्स वॉक, बियर शोला फॉल्स, ब्रायंट पार्क, कोडैकनाल झील, ग्रीन वैली व्यू, शेमबगनूर प्राकृतिक इतिहास संग्रहालय, कोडैकनाल विज्ञान वेधशाला, पिलर्स रॉक, गुना गुफाएं, सिल्‍वर कैसकेड, डॉल्फिन नोज़, कुरिंजी अंदावर मुरुगन मंदिर और बेरीजम झील। यहां कई गिरजाघर भी घूमने लायक हैं।Pc:Bikash Das

कोच्ची

कोच्ची

कोचीन मध्य केरल में है और यह कोच्चि से केरल के पर्यटन स्थलों में से घूमने का आसान तरीका है, कोच्चि केरल यात्रा के संकुल के लिए प्रारंभिक बिंदु है , जिसकी वजह से यह आकर्षित जगह बन गया है। एर्नाकुलम शहर काफी तेज और आधुनिक शहर है जो ब्रिटिश ,पुर्तगाली और डच संस्कृतियों का मिश्रण है। एर्नाकुलम भी दुनिया में बेहतरीन प्राकृतिक बंदरगाहों में से एक है जिसे ' अरब सागर की रानी ' के रूप में भी जाना जाता है।Pc:Shinu Scaria

कोवलम

कोवलम

कोवलम त्रिवेंद्रम के पास स्थित खूबसूरत समुद्री तटीय स्थल है,'कोवलम' मलयालम भाषा से लिया गया एक शब्द है जिसका मतलब है कि 'नारियल के पेड़ों का झाड़-झंखाड़ की तरह उगना। यह नाम इस शहर के लिए बहुत उपयुक्त है क्योंकि यहाँ नारियल के पेड़ों के छोटे-छोटे जंगल(कुंज) बहुतायत मिलते हैं। जैसे कश्मीर को इस ‘धरती का स्वर्ग' कहा जाता है उसी तरह को कोवलम को भी 'दक्षिण के स्वर्ग' के रूप में जाना जाता है। कोवलम में समुद्री तट पर आप उगते और डूबते हए सूरज के मनोरम नजारों के साथ लिघ हाउस से मीलों दूर तक फैले समुंद्र को निहार सकते हैं।Pc:Balaji Photography - 4,00

Please Wait while comments are loading...