• Follow NativePlanet
Share
» »30 वर्ष की उम्र से पहले हर लड़की को एक बार करनी चाहिए सोलो ट्रिप!

30 वर्ष की उम्र से पहले हर लड़की को एक बार करनी चाहिए सोलो ट्रिप!

Written By:

अच्छा ये बताईये क्या एक लड़की को अकेले घूमना चाहिए,जैसे कभी भी लड़के घूमने निकल जाते हैं, ठीक वैसे ही? आप सोच रहे होंगे कि, लगता है हमारा दिमाग खराब हो गया है, जो हम अपनी लड़की को अकेले कहीं घूमने भेजेंगे, घूमना ही है तो शादी के पति के साथ घूमे। लेकिन क्यों, लड़कियां अकेले नहीं घूम सकती?

आज लड़कियां अच्छा खासा जॉब कर रही है, अपने पैरों पर खड़ी है, लेकिन जैसे ही बात अकेले घूमने की आती है, सबकी भौंहे तन जाती है, आखिर क्यों? जनाब जब एक लड़की अपनी मर्जी से सारे फैसले ले सकती है, तो फिर घूम क्यों नहीं सकती, इसी क्रम में आज के लेख में हम आपको बतायेंगे कि, अकेले यात्रा करने से जीवन में कई अनुभव प्राप्त होते हैं, फिर चाहे वह लड़का हो या लड़की, इसलिए हर लड़की को 30 साल की उम्र से से पहले एक बार अवश्य अकेले घूमना चाहिए

नया अनुभव होता है हासिल

नया अनुभव होता है हासिल

जिन्दगी हमे हर हर पल कुछ नया सिखाती है, और इसी का नाम है जिन्दगी, और एक सोलो ट्रिप के दौरान आप खुद में कुछ नया सीखेंगी। अगर आप पहली बार अकेली हवाई यात्रा कर रही हैं, तो सब कुछ अकेले मैनेज करना सीख सकेंगी, नये लोगों से मिल सकेंगी। बजट बनाना जानेगी, खर्च को नियमित करना समझेंगी।

नये लोगों से मिलना

नये लोगों से मिलना

कुछ रिश्ते हमे हमारे परिवार देते हैं, तो कुछ हम बनाते हैं, जो होते हैं दोस्त। जब आप ट्रिप पर अकेले निकलेंगे, तो ट्रिप के दौरान कुछ हमराही दोस्त बनेगे, और इन्ही नए दोस्तों से मिलकर नये तजुर्बे हासिल हासिल होंगे
आप नये लोगों से मिलेंगी, नये तजुर्बे हासिल हासिल होंगे।

अकेले ले एडवेंचर का मजा

अकेले ले एडवेंचर का मजा

अगर आप अपनी सोलो ट्रिप पर कुछ अलग करना चाहतीं हैं, तो आपको अकेले एडवेंचर गेम्स का मजा लेना चाहिए, यकीन मानिए ये अनुभव आपको जिन्दगी भर याद रहेगा।

अकेले परेशानी से निपटना

अकेले परेशानी से निपटना

अकेले यात्रा करते हुए तमाम परेशानियों का सामना करना पड़ता है, लेकिन सूझभुझ के साथ इन परेशानियों से आसानी से निपटा जा सकता है।

बढ़ता है आत्मविश्वास

बढ़ता है आत्मविश्वास

जब आप अकेले यात्रा पर निकलते हैं, तब दिमाग में ढेरों सवाल होते हैं, लें जैसे यात्रा शुरू होती है, वैसे वैसे आपका आत्मविश्वास बढ़ता चला जाता है। जोकि आपकी निजी और प्रोफेशनल लाइफ के लिए भी अच्छा रहता है।

बनती है जिम्मेदार

बनती है जिम्मेदार

जब हम अकेले यात्रा करते हैं, हमारी जिम्मेदारी कोई और नहीं बल्कि हम खुद लेते हैं, हमे सारे काम खुद से करने होते हैं ,जैसे होटल से लेकर टिकट आदि तक। जानिए महिलाओं को इन खास जगहों की सैर क्यों करनी चाहिए

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स