» »जंगल में जीप सफारी करने जा रहे हैं, तो उससे पहले ये जरुर पढ़ लें

जंगल में जीप सफारी करने जा रहे हैं, तो उससे पहले ये जरुर पढ़ लें

Written By: Goldi

जब भी हम घूमने जाते हैं, तो हर जगह के कुछ अपने नियम कायदे कानून होते है,और जब बात आती है वाइल्ड लाइफ पर्यटन की, तो हर वन्यजीव प्रेमी और पर्यटक को यहां हर नियम का सख्ती से पालन करना आवश्यक है।

चलिए चलें, भारत के 6 प्रमुख वन्य जीव राष्ट्रीय उद्यानों में सफ़ारी की सैर पर!

इसका मुख्य उद्देश्य वन भंडार के महत्व को समझना है। भारत में कई वन्य जीव रिजर्व है..जिन्हें घूमना सभी वर्ग के लोग पसंद करते हैं। लेकिन जब आप किसी भी वन्य जीव अभ्यारण्य की सैर पर होते हैं, तो हर यात्री और पर्यटक को यहां के कुछ नियम कायदे जरुर पालन करने चाहिए,जोकि जानवरों की सुरक्षा के लिए बनाए गए हैं।

पिनड्राप साइलेंस

पिनड्राप साइलेंस

जब भी आप जंगल में वन्य जीवों को देखने के लिए निकलते हैं, तो जरूरी होता है कि, आप शांति से घूमे वह भी बिना आवाज किये..क्योंकि अक्सर पशु आदमी की आवाज से डर जाते हैं।PC:Dineshkannambadi

ढंग के रंग के कपड़े पहने

ढंग के रंग के कपड़े पहने

जब भी आप वन्य जीव अभ्यारण्य की यात्रा पर निकले तो भड़कीले रंग के कपड़े पहनने से बचें.. जानवर रंगों से प्रभावित हो सकते है। शांत रंग पहनें और जलवायु के अनुसार कपड़े पैक करें।PC: Ashishmahaur

सफारी वाहन से नीचे नहीं उतरें

सफारी वाहन से नीचे नहीं उतरें

वन्य जीव अभ्यारण्य की सैर पर जीप सफारी के दौरान गलती से जीप से ना उतरे..अगर आप उतरना चाहते हैं तो पहले इजाजत ले। अधिकांश राष्ट्रीय उद्यानों और अभयारण्यों में लोगों को वाहनों से उतरने की अनुमति नहीं होती है।PC:Dushyant Kaushik

गंदगी ना करें

गंदगी ना करें

जंगल के अंदर कचरे या प्लास्टिक को ना फेंके।

ज्यादा उत्तेजित परफ्यूम ना लगायें

ज्यादा उत्तेजित परफ्यूम ना लगायें

जैसा की जानवरों की सूंघने की शक्ति ज्यादा होती है..इसलिए गलती से भी जंगल की सैर के दौरान गलती से भी ज्यादा उत्तेजित परफ्यूम ना लगायें..PC: SeethaG

फोटो पर्यटन की योजना बनाएं

फोटो पर्यटन की योजना बनाएं

अगर आप जंगल में अच्छे से फोटो लेना चाहते हैं तो जंगल के लोकल टूर गाइड की मदद लें..अच्छे से रिसर्च करें और पेशेवर गाइड की मदद लें। साथ ही आप आप ऐसे संगठनों की तलाश की भी मदद ले सकते हैं,जोकि राष्ट्रीय उद्यानों या वन्य जीव अभ्यारण्य में फोटो टूर आयोजित कराते हैं।

फोटोग्राफी टिप्स

फोटोग्राफी टिप्स

जंगल में फोटोग्राफी करते वक्त फ्लेश का इस्तेमाल करना मना होता है..क्योंकि फ्लैश जानवरों को अपनी ओर आकर्षित कर सकता है और आगे आप समझ सकते हैं क्या होगा..इसे बेहतर होगा कि,अच्छी तस्वीर निकालने के लिए अच्छे कैमरे और अच्छी तकनीक का इस्तेमाल करें।

पूरी रिसर्च करें

पूरी रिसर्च करें

किसी भी वन्य जीव टूर जाने से पहले रिसर्च बेहद जरूरी है...वन्य सफारी की योजना बनाते समय, आपको सबसे अच्छा मौसम और सफारी समय का उचित समय पता होना चाहिए।

वन्यजीव यात्रा का मौसम

वन्यजीव यात्रा का मौसम

सभी मौसमों में विशिष्ट वन्यजीव अभ्यारण्य में पर्यटकों को घूमने की अनुमति नहीं है। भारत में वन्य जीव अभ्यारण्य साल में निर्धारित समय के लिए खोले जाते हैं,जिसमे पर्यटक इन वन्यजीव पार्क्स की सैर कर सकते हैं।

बुद्धिमानी से पैक करें

बुद्धिमानी से पैक करें

वन क्षेत्रों में लगातार जलवायु परिवर्तन होने की संभावना बनी रहती है। और साथ ही यह विशेष स्थान या राज्य में मौसम पर भी निर्भर करता है। उदाहरण के लिए, राजस्थान में रणथंबोर राष्ट्रीय उद्यान सर्दियों के महीनों के दौरान बहुत ठंडाऔर गर्मियों के दौरान बेहद गर्म रहता है। विशेष रूप से, सर्दियों में सुबह की सफारी बहुत ठंडक प्रदान करती है... कपड़े मौसम के अनुसार पैक करें।

संयम रखें

संयम रखें

यह जानवरों की भूमि है और जब वे चाहते हैं तब ही वे बाहर आते हैं। तो, अगर आप काफी देर तक किसी जानवर नहीं आकर पाते हैं तो उत्तेजित या परेशान ना हो संयम रखें।

जंगल सफरी में कम सामान ले जाएँ

जंगल सफरी में कम सामान ले जाएँ

सफारी के लिए कुछ बुनियादी वस्तुएं हैं, पानी की बोतलें, कैप (यदि इसकी गर्म) आदि जरुर ले जाएँ। जंगल की सैर के दौरान अच्छी यादें बनाएं अगर आप जानवरों की तस्वीरें नहीं क्लिक कर पा रहे हैं तो कोई बात नहीं लेकिन उन्हें परेशान ना करें।

Please Wait while comments are loading...