• Follow NativePlanet
Share
» »महाराष्ट्र की डरावनी सड़कों से लेकर भुतहा किलों की सच्ची कहानी

महाराष्ट्र की डरावनी सड़कों से लेकर भुतहा किलों की सच्ची कहानी

भारत का महाराष्ट्र, देश के सबसे धनी राज्यों में गिना जाता है, मुंबई, पुणे जैसे बड़े शहर इसी के अंतर्गत आते हैं। बड़े स्तर पर रोजगार पैदा करने वाला यह राज्य भारत की आर्थित राजधानी भी कहा जाता है। एक बड़ी जनसंख्या का प्रतिनिधित्व करने वाला यह राज्य ऐतिहासिक दृष्टि से भी काफी ज्यादा मायने रखता है। मुंबई पुणे, औरंगाबाद, नासिक, नागपुर, थाणा जैसे बड़े शहर बड़े स्तर पर देश-विदेश के पर्यटकों को आकर्षित करते हैं।

घूमने-फिरने के लिहाज से यहां दर्शनीय स्थलों का भंडार है, लेकिन इन सब के बीच राज्य के कई शहरों में कुछ ऐसे भी स्थान हैं जो अपने प्रेतवाधित पहलुओं के लिए ज्यादा जाने जाते हैं। इन स्थानों से कई नए-पुराने डरावने किस्से जुड़े हुए हैं। रहस्य की पड़ताल में आज हमारे साथ जानिए महाराष्ट्र राज्य के उन चुनिंदा स्थलों के बारे में जिन्हें सबसे हॉंटेड श्रेणी में रखा गया है। 

डिसूजा चाल, मुंबई

डिसूजा चाल, मुंबई

यह बात जरा अटपटी लग सकती है कि मुंबई जैसे शहरी चकाचौंध वाले शहर भी प्रेतवाधित घटनाओं से ग्रसित हो सकते हैं। यह तो आपको पता ही है कि शहर बड़ी-बड़ी बिल्डिग के अलावा बस्तियों और चाल (तंग सोसाइटी) में भी बंटा हुआ है। इन्हीं में से एक है डिसूजा चाल जिसे प्रेतवाधित स्थानों की सूची में शामिल किया गया है। माना जाता है कि इस चाल में कभी किसी महिला की मौत कुएं में गिर कर हो गई थी। महिला पानी भरने के लिए आई थी।

जानकारों का मानना है कि उसकी मौत के बाद यहां अजीबोगरीब घटनाओं का सिलसिला शुरू हो गया। माना जाता है कि यहां कुएं के पास उस महिला की आत्मा भटकती है, जो रात भर इसी चाल में घूमती रहती है। कई बार इस अदृश्य शक्ति का अनुभव यहां के लोग भी कर चुके हैं।

शनिवार वाडा, पुणे

शनिवार वाडा, पुणे

पुणे स्थित शनिवार वाडा किला राज्य के चुनिंदा सबसे ऐतिहासिक किलों में गिना जाता है। जिसे मराठा शासन के दौरान बनवाया गया था। यह किला आधा जला हुआ है लेकिन पर्यटन के लिहाज से आज भी यह किला अपनी भव्यता को प्रदर्शित करता है। राज्य की भुतहा सूची में यह किला भी गिना जाता है। जानकारी के अनुसार इतिहास की एक दर्दनाक घटना ने इस किले को प्रेतवाधित बना डाला है।

माना जाता है कि इस किले में दुश्मनों ने युवा पेशवा नारायण राव की हत्या कर दी थी। आज भी इस किले की दीवारों से चाचा मुझे बचा लो जैसी चीख-पुकार सुनाई देती है। हालांकि यह किला पर्यटकों के लिए खोल दिया गया है लेकिन शाम के बाद किसी को भी अंदर जाने की इजाजत नहीं है।

दक्षिण के चोल राजाओं द्वारा निर्मित भव्य मंदिरों में से एक एरावतेश्वर

पारसी कब्रिस्तान, नागपुर

पारसी कब्रिस्तान, नागपुर

राज्य के हॉंटेड लिस्ट में नागपुर का पारसी कब्रिस्तान भी गिना जाता है। पारसी कब्रिस्तान शहर के सबसे कुख्यात स्थान माना जाता है जिसका नाम अधिकांश शहरियों को पता है। जानकारों को मानना है कि जो भी कोई इस कब्रिस्तान का भ्रमण कर आता है वो कई दिनों तक बुरी बीमारी से ग्रसित रहता है। इस दौरान कई लोग मौत के मुंह तक भी पहुंच जाते हैं। बहुतों का मानना है कि यहां कोई अदृश्य इंसानी साया लोगों का पीछा करता है।

कई लोगों ने यहां से अजीबोगरीब आवाजों को भी सुना है। अपने डरावने अनुभवों के कारण इस स्थान को प्रेतवाधित सूची में शामिल किया गया है। अगर आप थोड़ा हॉरर अनुभव चाहते हैं तो नागपुर के इस कब्रिस्तान में कुछ मीनट जरूर बिताएं।

भुतहा कुआं, अहमदनगर

भुतहा कुआं, अहमदनगर

भुतहा किलों-भवनों के अलावा राज्य में एक ऐसा कुआं भी है जिसे भी प्रेतवाधित की संज्ञा प्राप्त है। यह भुतहा कुआं राज्य के अहमदनगर के बेलावंडी कोठार में एक मंदिर के पास स्थित है। यह कुआं इतना भुतहा बताया जाता है कि गांव वाले पानी की कमी होने के कारण भी यहां पानी भरने के लिए नहीं आते हैं।

इस कुएं से ढेर सारी डरवानी किस्से-कहानियां जुड़ी हुई हैं। शाम के बाद यहां का नजारा बेहद डरावना हो जाता है। इसलिए इसे राज्य के सबसे प्रेतवाधित श्रेणी में शामिल किया गया है।

मुंबई-नासिक हाईवे, कसारा घाट

मुंबई-नासिक हाईवे, कसारा घाट

मुंबई-नासिक हाईवे पर कसारा घाट भी राज्य के चुनिंदा सबसे प्रेतवाधित स्थानों में गिना जाता है। जानकारों का मानना है कि यहां किसी सरकटी प्रेत महिला का प्रकोप है। जो अकसर यहां की सड़को पर दिखाई देती है। बहुतों का मानना है कि वो सरकटी महिला अचानक से वाहन के नजदीक आ जाती है, जिसके कारण कई बड़े हादसे यहां हो चुके हैं।

अकसर यहां से गुजरने वाले अजनबी लोग उस सरकटी महिला का शिकार बनते हैं। प्रेतवाधित अनुभवों के कारण इस सड़क मार्ग को सबसे हॉंटेड श्रेणी में रखा गया है।

इन गर्मियों बनाएं कुमाऊं के इन खास हिल स्टेशन का प्लान

वृंदावन सोसायटी, थाणे

वृंदावन सोसायटी, थाणे

उपरोक्त स्थानों के अलावा थाणे स्थित वृंदावन सोसायटी भी प्रेतवाधित बताई जाती है। जानकारों का मानना है कि यहां की किसी बिल्डिंग में कभी किसी व्यक्ति ने आत्महत्या कर ली थी। जिसके बाद से इस सोसाइटी में उस व्यक्ति की आत्मा भटकती है। कई बार यहां पेट्रोलिंग करते चौकीदारों ने रात में होने वाली अजीबोगरीब घटनाओं की शिकायत भी की है।

चौकीदारों का मानना है कि कई बार उन्हें किसी अदृश्य शक्ति द्वारा चांटा भी पड़ चुका है। ये घटनाएं उस दौरान होती हैं जब आसपास कोई नहीं होता है। चौकीदारों के अलावा सोसाइटी के कई लोगों ने यहां डरावने अनुभवों की शिकायत भी की है।

अद्भुत : इन्हीं गुफाओं के बीच शिवजी ने काटा था गणेश का सिर



 

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स