» »राजसी राजस्थान के शाही अनुभव के लिए रोड ट्रिप का एक मज़ेदार अनुभव!

राजसी राजस्थान के शाही अनुभव के लिए रोड ट्रिप का एक मज़ेदार अनुभव!

Written By:

राजस्थान ऐसा राज्य है जो हर बार एक नए आकर्षण, समृद्धि और राजस्व को उत्पन्न करता है। 'राजाओं के भूमि' के नाम से प्रसिद्द राजस्थान में कई बड़े-बड़े किले, भव्य और समृद्ध महल स्थापित हैं जो आपको सीधे राज्य के समृद्ध इतिहास में ले जाते हैं। राजस्थान का इतिहास प्रागैतिहासिक काल से शुरू होता है। यहाँ के लोग आज भी अपनी संस्कृति से पूरी तरह जुड़े हुए हैं। यहाँ मुश्किल से शायद ही कोई ऐसा महीना जाता होगा जिसमें धार्मिक उत्सव का आयोजन नहीं होता होगा।

राजस्थान मेलों और उत्सवों की धरती है। हर एक त्यौहार को यहाँ धूमधाम से पूरे जोश और परंपरा के अनुसार मनाया जाता है। तो इस बार सबसे बड़े त्यौहार के मौसम में राजस्थान के प्रमुख तीन शहरों की यात्रा करने चलते हैं, जो यहाँ के शाही संस्कृति और राज्य की विरासत को बखूबी प्रदर्शित करते हैं।

5 दिनों की जयपुर, पुष्कर और उदयपुर की रोड ट्रिप

राजस्थान के अन्य शहरों में शामिल तीन प्रमुख शहरों जयपुर, पुष्कर और उदयपुर में पर्यटकों के लिए देखने और अनुभव करने के लिए बहुत सारी चीजें हैं। इन तीनों शहरों की यात्रा करने के दौरान पूरी दूरी लगभग 430 किलोमीटर तक की है, जिसे आप एक ही बार में लगभग 8 घंटों में ही तय कर लेंगे। चलिए हम पता करते हैं कि हम किस तरह से इस ट्रिप पर जाएँ जिससे कि हमसे यहाँ की कोई भी महत्वपूर्ण जगह देखने को बच न जाये।

जयपुर: देश का गुलाबी शहर

जयपुर: देश का गुलाबी शहर

ऐसा शहर जिसे एक बार राजकुमार के स्वागत के लिए पूरी तरह से गुलाबी रंग से रंग दिया गया था, आज भी पर्यटकों के बीच आश्चर्य का केंद्र बना हुआ है।

Image Courtesy:Chris Brown

जयपुर: देश का गुलाबी शहर

जयपुर: देश का गुलाबी शहर

यहाँ के खूबसूरत स्मारक, किले, महल जैसे बिरला मंदिर, आमेर का किला, जंतर मंतर, नाहरगढ़ किला और हवा महल हर किसी के मन को लुभाते हैं। हर एक स्मारक और किलों से जुड़ी कोई न कोई कहानी ज़रूर प्रचलित हैं जो पर्यटकों को मुख्यतः इनकी ओर आकर्षित करती हैं।

Image Courtesy:Ziaur Rahman

जयपुर: देश का गुलाबी शहर

जयपुर: देश का गुलाबी शहर

इन स्मारकों के अलावा यहाँ के कुछ खास तरह के आकर्षण और मंदिर जैसे, रामनिवास बाग, गोविंद देवजी का मंदिर,गुड़िया घर,बी एम बिड़ला तारामण्डल,गलताजी,मोती डूंगरी और लक्ष्मी नारायण मंदिर भी पर्यटकों के बीच काफी लोकप्रिय हैं।

Image Courtesy:China Crisis

जयपुर: देश का गुलाबी शहर

जयपुर: देश का गुलाबी शहर

शॉपिंग करने के लिए आप यहाँ के जोहरी बाज़ार, त्रिपोलिया बाज़ार, बापू बाज़ार, किशनपोल बाज़ार और नेहरू बाज़ार में जाना बिलकुल भी न भूलें, जहाँ आपको राजस्थान की संस्कृतियों के और नज़दीक से दर्शन होंगे। जयपुर के प्रमुख आकर्षणों की यात्रा आप दो दिनों में कर सकते हैं।

Image Courtesy:harpreet singh

जयपुर: देश का गुलाबी शहर

जयपुर: देश का गुलाबी शहर

जयपुर के कुछ शानदार होटलों में से एक हैं; होटल अवाना, होटल रानी महल, होटल मेट्रोपोलिटिन, गोल्डन ट्यूलिप और होटल हेरिटेज पैलेस।

Image Courtesy: Official Website

पुष्कर: धर्म और संस्कृत का मिश्रण

पुष्कर: धर्म और संस्कृत का मिश्रण

जयपुर से आप अजमेर होते हुए पुष्कर की ओर बढ़ेंगे। दो घंटे की यात्रा कर आप अजमेर पहुंचेंगे जो जयपुर से लगभग 140 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। रास्ते में यात्रा के दौरान आपको कई ढाबे मिलेंगे जहाँ आप ऑथेंटिक लज़ीज़ राजस्थानी खाने का लुत्फ़ उठा सकते हैं। बीच रस्ते में ज़रूरत पड़ने पर एटीएम और रिफ्रेश होने के लिए जगहों का भी प्रंबंध है।

Image Courtesy:Connie Ma

पुष्कर: धर्म और संस्कृत का मिश्रण

पुष्कर: धर्म और संस्कृत का मिश्रण

राजस्थान का प्रमुख तीर्थकेंद्र, दरगाह शरीफ़ अजमेर में ही स्थित है। इसके अलावा अजमेर की खूबसूरती को निहारने के लिए यहाँ अन्य आकर्षण केंद्र भी हैं जैसे पुरातत्व संग्रहालय, दौलत खाना, रानी महल,अनासागर झील और नसियां मंदिर।

Image Courtesy:Zakir Naqvi

पुष्कर: धर्म और संस्कृत का मिश्रण

पुष्कर: धर्म और संस्कृत का मिश्रण

पुष्कर अजमेर से सिर्फ 20 किलोमीटर की दूरी पर है, जहाँ आप NH58 से यात्रा कर लगभग 1 घंटे में पहुँच सकते हैं।

Image Courtesy:Logawi

पुष्कर: धर्म और संस्कृत का मिश्रण

पुष्कर: धर्म और संस्कृत का मिश्रण

पुष्कर, जो भारत के सबसे पवित्र तीर्थस्थलों में से एक है, यहाँ लगभग 400 मंदिर स्थापित हैं। यहाँ के कुछ प्रमुख आकर्षण हैं, पुष्कर झील, अप्तेश्वर मंदिर, ब्रह्मा मंदिर, पुष्कर बाज़ार, मान महल, रंगजी मंदिर, वर्षा मंदिर, सावित्री मंदिर आदि जिन्हें आप अपनी इस रोमांचक यात्रा में देखना न भूलें।

Image Courtesy:Vberger

पुष्कर: धर्म और संस्कृत का मिश्रण

पुष्कर: धर्म और संस्कृत का मिश्रण

इस साल देखना न भूलें: पुष्कर ऊंट मेला, 2016 जो 8 नवंबर से 14 नवंबर तक आयोजित किया जायेगा।

Image Courtesy:Sudipta Dutta Chowdhury

पुष्कर: धर्म और संस्कृत का मिश्रण

पुष्कर: धर्म और संस्कृत का मिश्रण

पुष्कर में रहने के लिए होटल उपलब्ध हैं अनंत स्पा एंड रिसॉर्ट, ऑर्कर्ड रिसॉर्ट, पुष्कर हिल रिसॉर्ट, होटल जगत पैलेस और गुलाब निवास पैलेस। पुष्कर के प्रमुख आकर्षणों के दर्शन आप 2 दिनों में आराम से कर पाएंगे।

Image Courtesy:Ling Wang Marina

उदयपुर: झीलों के शहर की ओर प्रस्थान

उदयपुर: झीलों के शहर की ओर प्रस्थान

पुष्कर से उदयपुर की दूरी लगभग 280 किलोमीटर है जो आप लगभग NH5 घंटे में 58 द्वारा तय कर पाएंगे।

Image Courtesy:tommy

उदयपुर: झीलों के शहर की ओर प्रस्थान

उदयपुर: झीलों के शहर की ओर प्रस्थान

आपको शायद एक दिन से ज़्यादा का समय इस जगह की सैर करने में लगे। इस जगह की यात्रा पर आप सिटी पैलेस, चित्तौरगढ़ किला, फ़तेह सागर, पिछोला झील, आहार, सज्जनगढ़ वन्यजीव अभ्यारण्य और बागोर की हवेली की यात्रा करना बिलकुल भी न भूलें।

Image Courtesy:Ssjoshi111

उदयपुर: झीलों के शहर की ओर प्रस्थान

उदयपुर: झीलों के शहर की ओर प्रस्थान

रात में यहाँ के इन होटलों में रुक कर सुबह फिर से NH 58 द्वारा आप जयपुर का सफर 6 घंटे में पूरा कर सकते हैं।

Image Courtesy:Vberger

Please Wait while comments are loading...