• Follow NativePlanet
Share
» »गजब : अब सैलानी बिहार में लेंगे इस खास सेवा का आनंद

गजब : अब सैलानी बिहार में लेंगे इस खास सेवा का आनंद

पर्यटन के क्षेत्र में भारत का बिहार राज्य भी किसी से कम नहीं। यहां रोजाना हजारों सैलानी ऐतिहासिक स्थलों की सैर के लिए देश-विदेश से आते हैं। आत्मिक-और मानसिक शांति के लिए बिहार के बौद्ध मठ हमेशा से ही मुख्य आकर्षण का केंद्र रहे हैं। कभी मगघ के नाम से विश्व विख्यात हुआ वर्तमान बिहार पर्यटन के क्षेत्र आगे बढ़ने की पूरी तैयारी कर रहा है। 

इस कड़ी को और मजबूत बनाने के लिए बिहार सरकार अब नई योजना का प्लान कर रही है। जिससे यहां आने वाले सैलानी किसी दिक्कत के राज्य के सभी विख्यात पर्यटन केंद्रों का भ्रमण कर सकेंगे। आइए जानते हैं सरकार की नई योजना के बारे में ...

पर्यटन को लेकर सरकार का बड़ा कदम

पर्यटन को लेकर सरकार का बड़ा कदम

बिहार पर्यटन को विश्व स्तर पर बढ़ावा देने के लिए अब सरकार नई योजना पर काम रही है। सुरक्षा और साफ-सफाई के साथ अब सरकार पर्यटन परिवरन पर जोर देने जारी रही है। बिहार में अब जल्दी ही पर्यटकों के लिए मोबाइल कैब सर्विस शुरू होने जा रही है। जो सिर्फ पर्यटन को ध्यान में रखकर उठाया गया सकारात्मक कदम है। जिससे हर कोई आसानी से बिहार घूम-फिर पाएगा।अयोध्या : तथ्य जो बाबरी मस्जिद से ज्यादा राम मंदिर को बनाते हैं खास

प्राइवेट एजेंसी के साथ एक करार

प्राइवेट एजेंसी के साथ एक करार

बीएसटीटीसी यानी बिहार स्टेट टूरिज्म डेवलपमेंट कारपोरेशन के मुताबिक यह न्यू सर्विस सैलानियों की परिवहन संबंधी दिक्कतों को काफी हद तक दूर करेगी। जिससे बिहार आने वाले पर्यटक कम समय में अधिक स्थानों की सैर कर पाएंगे।

इसके लिए टूरिज्म डिपार्टमेंट जल्द एक प्राइवेट एजेंसी के साथ करार करेगा। इस सेवा के तहत सैलानी जीपीएस टेक्नोलॉजी की मदद से अपने मोबाइल से कैब बुक कर सकेंगे।

रहस्य : असीरगढ़ किले के इन रहस्यों ने किए सबके कान सुन्न

घूमने लायक जगहें- बोध गया

घूमने लायक जगहें- बोध गया

PC- Pensierarte

बोधगया, बिहार राज्य के गया से लगभग 12 किमी की दूरी पर बसा बौद्ध धार्मिक स्थल है। जहां मानसिक व आत्मिक शांति के लिए ज्यादातर पर्यटक पहुंचते हैं। यह वही स्थान है जहां गौतम बुद्ध को सर्वप्रथम ज्ञान की प्राप्ति हुई थी। यहां वो बोधवृक्ष भी मौजूद है, जिसके नीचे बुद्ध को जीवन का सत्य पता चला था। यह भारत के चुनिंदा बौद्ध पर्यटन स्थलों में गिना जाता है। जहां विश्व के कोने-कोने से पर्यटक आते हैं।

इंसानों को गायब करने वाली तिलस्मी गुफा, नहीं सुलझा रहस्य

राजगीर

राजगीर

PC- Photo Dharma

बिहार केनालंदा ज़िले में स्थित राजगीर एक प्रसिद्ध प्राचीन नगर है। जो कभी मगध (बिहार का प्राचीन नाम) की राजधानी हुआ करता था। राजगीर को पहले राजगृह के नाम से जाना जाता था। इस स्थान का अपना अलग धार्मिक महत्व है।

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार यह स्थल भगवान बह्मा की पवित्र यज्ञ भूमि था। इसके अलावा यह नगर जैन तीर्थंकर महावीर और गौतम बुद्ध की तपोभूमि भी रहा है। यह खूबसूरत स्थल अपनेहेल्थ रिसॉर्ट के लिए भी प्रसिद्ध है।हैदराबाद शहर के कुछ रहस्यमय किस्से, जुड़े हैं इन स्थानों से

सासाराम

सासाराम

PC- Thomas Daniell

बिहार का सासाराम एक ऐतिहासिक नगर है, जो राज्य के रोहतास जिले के अंतर्गत आता है। यह नगर मुख्य तौर पर अफगान शासक शेरशाह सूरी के मकबरे के लिए जाना जाता है, जो यहां का मुख्य आकर्षण है। सासाराम, शेर शाह सूरी का जन्मस्थान बताया जाता है।

शेरशाह सूरी ने अपने शासन काल के दौरान ही अपना मकबरा बनवाया था। यह मकबरा यहां स्थित बड़ी झील के मध्य बना है। यह संरचना इस्लामी और हिन्दू वास्तुकला का अद्भुत मिश्रण है। बिहार यात्रा के दौरान आप इस शानदार मकबरे को देख सकते हैं।अद्भुत : यहां अपने हाथ से खाना बनाकर खिलाते हैं खूंखार अपराधी

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स