» »ये है भारत के खूबसूरत हिलस्टेशन

ये है भारत के खूबसूरत हिलस्टेशन

Written By: Goldi

भारत अपनी विविधता में प्राकृतिक सौंदर्य को समेटे हुए है। पुरानी विरासतों और नए आर्किटेक्ट का संगम यहां के जैसा और कहीं नहीं मिल सकता। गहरे सागरों के किनारे, झीलों बर्फों की वादियां, जंगल आदि जगह पर्यटन के केन्द्र हैं।
यदि आप भारत घूमने की योजना बना रहे हैं तो इन सारे जगहों को न भूलें। इन जगहों पर गए बगैर भारत भ्रमण पूरा नहीं हो सकता है।

यहां के खूबसूरत पहाड़ो की सुन्दरता देख आप बार बार इन जगहों को घूमना पसंद करेंगें...शहर की भाग दौड़ भरी जिन्दगी से दूर मन को सुकून पहुंचाते यह पहाड़ और खूबसूरत मनोरम नजारे मन को मोह लेते हैं। इसी क्रम में आज
हमको बताने दस ऐसे पहाड़ी स्टेशन के बारे में बताने जा रहें जिनकी सैर कर आपका तन मन काफी रोमांचित हो जायेगा।

 लोनावला

लोनावला

महाराष्ट्र का हिल स्टेशन लोनावला लोनावाला को झीलों का जिला कहते हैं जिनमें लोनावला झील, तिगौती झील, मानसून झील और वाल्वन झील प्रमुख हैं। लोनावला को सह्याद्रि पहाड़ियों का मणि और मुंबई-पुणे का प्रवेश द्वार भी कहते हैं। लोनावला से 6 किलोमीटर की दूरी पर स्थित बुशी डैम सैलानियों के बीच एक पिकनिक स्पॉट के तौर पर काफी लोकप्रिय है।PC: Prasadfalke

पंचममढ़ी

पंचममढ़ी

पंचमढ़ी टूरिस्ट के बीच खासा पॉपुलर टूरिस्ट डेस्टिनेशन है...यह जगह चरों और से खूबसूरत वादियों से घिरी हुई है। यह जगह थोड़ी सी खतरनाक और भयावह भी लेकिन वाबजूद यह जगह सैलानियों की पहली पसंद है।
PC: Shahrukhalam334

दार्जलिंग

दार्जलिंग

हसीन वादियां, दिलकश नज़ारे, ऊँचे ऊँचे वृक्ष, ठंडी मंद मस्त हवाएँ, रंग बिरंगे फूल, उन फूलों की मदहोश करने वाली खुशबु, बर्फीली घाटियां और रूईनुमा उड़ती बर्फ के खुशनुमा एहसास आपको दार्जिलिंग का एक यादगार सफर दे सकता है। दार्जिलिंग जा रहे हैं तो बर्फ से ढंकी विशाल चोटी की पृष्ठभूमि में बने दार्जिलिंग युद्ध स्मारक को देखना न भूले। यह जगह खासकर फोटोग्राफरों को काफी पसंद आता है।अगर आप दार्जलिंग में है तो..वहां के खाने का स्वाद लेना बिल्कुल नही ना भूले...PC: Anindya

चंबा

चंबा

चंबा एक खुबसूरत पर्यटन स्थल है जो की उत्तराखंड के टिहरी गढ़वाल जिले में स्थित है जिसकी उचाई समुद्री तट से लगभग 1524 मीटर की है। यह जगह अपने प्राकृतिक परिवेश और प्रदूषण रहित खूबसूरती क लिए पर्यटकों के बीच लोकप्रिय है। देवदार और चीड़ के पेड़ों से घिरा हुआ, चंबा का अन्नवेषित इलाका प्रकृति प्रेमियों के लिए एक सपनों की दुनिया के सामान है।PC: Voobie

माउंट आबू

माउंट आबू

राजस्थान में अरावली पर्वतमालाएं गर्मी से सुकून भरे पल का एहसास कराती हैं। मरुस्थल के बीच हरियाली भरी जगह एक अद्वितीय खूबसूरती है। जी हाँ हम बात कर रहे हैं माउंट आबू की जो राजस्थान का इकलौता हिल स्टेशन है। अरावली पर्वतमालाएं इस हिल स्टीव की ख़ुसूरती में चार चाँद लगाती हैं। इसी तरह यह जगह कई पर्यटक आकर्षणों से भी भरी पड़ी है।PC: Lens Naayak

अराकू घाटी

अराकू घाटी

अराकू घाटी आंध्र प्रदेश के दक्षिण भारतीय राज्य में विशाखापट्टनम जिले में एक प्रसिद्ध हिल स्टेशन है। शहर पूर्वी घाट के खूबसूरत स्थलों के बीच स्थित है और इसका एक समृद्ध सांस्कृतिक के साथ ही पारंपरिक अतीत है। अराकू घाटी जनजातीय संग्रहालय, टाइडा, बोर्रा गुफाएं, सांगडा झरने और पदमपुरम बॉटनिकल गार्डन सहित यात्रा करने के लिए कुछ असली दिलचस्प स्थान हैं। तथापि, अराकू घाटी में कोई भी आकर्षण छोड़ने नहीं चाहिए, क्योंकि ये आगंतुकों को बेहतर तरह से जगह के इतिहास और संस्कृति को समझने में मदद करते हैं। PC: Adityamadhav83

गुलमर्ग

गुलमर्ग

हरे घास की चादर ओढ़ी हुई पहाड़ी ढलानों में जब गुल खिला हुआ होता है तो वह स्थानीय भाषा में गुलमर्ग कहलाता है। गुलमर्ग जम्मू कश्मीर के बारामूला जिले में स्थित एक खूबसूरत हिल स्टेशन है,जिसे फूलों के प्रदेश के नाम से भी जाना जाता है। गुलमर्ग सिर्फ बर्फ से ढके पहाड़ों का शहर ही नहीं बल्कि यहां विश्व का सबसे बड़ा गोल्फ कोर्स भी है और देश का प्रमुख स्की रिजॉर्ट भी यहीं पर है। गुलमर्ग बॉलीवुड के सबसे पसंदीदा शूटिंग लोकेशन्स में से भी एक है। यहां आकर आप भी अपने आपको यह कहने से नहीं रोक पाएंगे कि ‘गर फिरदौस बर-रोये जमीन अस्त, हमी अस्तो, हमी अस्तो, हमी अस्त.' इसका मतलब है ‘अगर धरती पर कहीं स्वर्ग है तो वह यहीं है, यहीं है, यहीं है'PC: Gayatri Priyadarshini

कूर्ग

कूर्ग

कुर्ग मार्च के महीने में घूमने की सबसे बेस्ट जगह है। कर्नाटक का यह खूबसूरत पर्वतीय पर्यटन स्‍थल समुद्र तल से 1525 मीटर की ऊंचाई पर बसा है। कुर्ग के पहाड़, हरे-भरे जंगल, चाय और कॉफी के बागान और यहां के लोग मन को लुभाते हैं। कावेरी नदी का यह उद्गम स्‍थान अपनी प्राकृतिक खूबसूरती के अलावा हाइकिं

धर्मशाला

धर्मशाला

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। इस स्थान को काँगड़ा घाटी का प्रवेश रास्ता माना जाता है। इसकी पृष्ठभूमि में बर्फ से ढकी धौलाधार पर्वत श्रृंखला इस स्थान का नैसर्गिक सौंदर्य बढ़ाती हैं।अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मान्यताप्राप्त धर्मशाला को ‘भारत का छोटा ल्हासा' उपनाम से भी जाना जाता है। हिमालय की दिलकश, बर्फ से ढकी चोटियां, देवदार के घने जंगल, सेब के बाग, झीलों व नदियों का यह शहर पर्यटकों को प्रकृति की गोद में होने का एहसास देता है।
PC: Sonium

Please Wait while comments are loading...