» »एशिया के सबसे छोटे हिल स्टेशन के पास घूमे ये जगह

एशिया के सबसे छोटे हिल स्टेशन के पास घूमे ये जगह

Posted By: Staff

मेट्रो शहरों में रहने वाले लोगों को प्रकृति के बीच छुट्टियां बिताने का बहुत मन करता है। किसी शांत जगह पर शहर के शोर और भागदौड़ से दूर मन और शरीर दोनों को ही आराम मिलता है। महाराष्‍ट्र में ऐसी कई जगहें हैं जो अपने शांत वातावरण के लिए मशहूर हैं।

महाराष्‍ट्र के रायगढ़ जिले में स्थित खूबसूरत हिल स्‍टेशन है माथेरन जोकि शहर के प्रदूषण और भीड़ से काफी दूर है। सालभर माथेरन का मौसम सुहावना रहता है। मॉनसून के दौरान तो इस जगह की खूबसूरती कई गुना बढ़ जाती है। माथेरन को एशिया का सबसे छोटा हिल स्‍टेशन कहा जाता है और यहां की छोटी सड़कों पर कोई मोटर वाहन चलाने की अनुमति नहीं है। इस वजह से ये खूबसूरत हिल स्‍टेशन प्रदूषणमुक्‍त है।खूबसूरत नज़ारों और लंबे ट्रैक्‍स के अलावा इस जगह पर पर्यटकों के लिए और भी बहुत कुछ है।

माथेरन, भारत का सबसे निचला हिल स्‍टेशन है जोकि पश्चिमी घाट पर समुद्रतट से केवल 800 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। ये जगह मुंबई से 90‍ किमी दूर है और इस जगह की खास बात है कि यहां पर बिलकुल भी प्रदूषध नहीं है।

ताजी हवा, खूबसूरत वादियां के बीच इस जगह पर छुट्टियां मनाने का अलग ही मज़ा है। कई पर्यटक यहां वीकएंड पर घूमने आते हैं। चलिए एक नज़र डालते हैं इस हिल स्‍टेशन की खूबसूरत और दर्शनीय स्‍थलों पर।

पनोरमा प्‍वाइंट

पनोरमा प्‍वाइंट

माथेरन का सबसे खूसबूरत और रोमांचक स्‍थल है पनोरमा प्‍वाइंट। ये मुख्‍य शहर से 7.5 किमी दूर है और इसका रास्‍ता थोड़ा पथरीला है।

इसके रास्‍ते में घना जंगल और पक्षियों की चहचहाहट, ठंडी हवाएं और बदलता मौसम देखने को मिलेगा। पनोरमा प्‍वाइंट से बेहद खूबसूरत नज़ारा दिखाई देता है जिसे शब्‍दों में बयां कर पाना मुश्किल है।

PC:Elroy Serrao

छारलोट्टे झील

छारलोट्टे झील

शहर के बाज़ार से 2.5 किमी दूर है छारलोट्टे झील। मार्केट से आधे घंटे में ही पैदल चलकर यहां पहुंचा जा सकता है। हालांकि आगे बढ़ने के साथ आपको चक्‍कर भी आ सकते हैं। यहां ठंडी हवाओं के बीच मनोरम नज़ारे आपको एक अलग ही स्‍तर पर ले जाएंगें।

इस झील के पास एक छोटा सा झरन भी बहता है जोकि मॉनसून के दौरान और भी ज्‍यादा खूबसूरत लगता है। यहां पर सूर्यास्‍त का नज़ारा बहुत अच्‍छा लगता है। इस समय लाल और सुनहरी किरणें पानी के अंदर पड़ती हैं।

किंग जॉर्ज प्‍वाइंट

किंग जॉर्ज प्‍वाइंट

बाज़ार से 40 मिनट की दूरी पर है किंग जॉर्ज प्‍वाइंट। माथेरन आने वाले पर्यटकों की यात्रा किंग जॉर्ज प्‍वाइंट को देखे बिना अधूरी मानी जाती है।

यहां से झील, झरने और पूरी घाटी का मनोरम दृश्‍य दिखाई देता है। ये जगह तीन पहाडियों से घिरी हुई है। इसका नज़ारा आपको हैरान कर देता है। प्रकृति प्रेमियों को यहां बहुत कुछ मिल सकता है।

वन ट्री हिल प्‍वाइंट

वन ट्री हिल प्‍वाइंट

इसकी चोटी पर एक लोन ट्री खड़ा है और उसी के नाम पर इस जगह को ये नाम दिया गया। इस जगह पर घास के अलावा कोई वनस्‍पति नहीं है। मॉनसून के दौरान ये जगह और भी ज्‍यादा खूबसूरत लगती है।

इस जगह के वास्‍तविक सौंदर्य को जानने के लिए आपको हर तरफ से इसकी चढ़ाई करनी चाहिए। तभी आपको पता चलेगा कि इसे वन थ्री हिल क्‍यों कहा जाता है। अंबेवाड़ी शहर से यहां के लिए ट्रैकिंग भी कर सकते हैं। ये ट्रैकिंग काफी आसान होती है इसलिए नए ट्रैकर्स भी यहां आ सकते हैं। चढ़ाई में 3.5 घंटे और उतरने में 2.5 घंटे का समय लगता है।

लुईसा प्‍वाइंट

लुईसा प्‍वाइंट

इस शहर की सबसे खास और अनोखी जगह है लुईसा प्‍वाइंट क्‍योंकि यहां पर दो अलग मनोरम दृश्‍य दिखाई देते हैं। यहां पर एक जगह शानदार पहाड़ हैं तो दूसरी ओर दूर घाटी पर बसी मानव बस्तियां हैं। मॉनसून के दौरान यहां कई सुंदर झरने भी देखे जा सकते हैं।

दूसरे व्‍यूप्‍वाइंट पर छारलोट्टे झील को पार कर शानदार प्रबल किला दिखाई देता है।

Please Wait while comments are loading...