» »क्या कभी देखी है ऊंटों की दौड़ और ऊंट ऊंटनी का रोमांस?

क्या कभी देखी है ऊंटों की दौड़ और ऊंट ऊंटनी का रोमांस?

Written By: Goldi

गुलाबी सर्दी में राजस्थान घूमने का अपना एक अलग ही मजा है और जब यहां मेले आदि का आयोज हो तो यात्रा और भी सुखद हो जाती है। राजस्थान की संस्कृति सिर्फ देशी ही नहीं बल्कि विदेशियों को भी अपनी तरफ खूब लुभाती है।

Camel Fair in Bikaner

राजस्थान अपने कई त्योहारों के लिए जाना जाता है, यहां हमेशा ही कोई ना कोई त्यौहार और पर्व या मेले का आयोजन होता रहता है,जैसे पुष्कर मेला, गणगौर उत्सव आदि। इसी क्रम में जल्द ही गुलाबी सर्दी के बीच बीकानेर में ऊंट मेला आयोजित होने वाला है। जोकि मकर संक्रांति के शुभ अवसर पर 13 व 14 जनवरी को आयोजित किया जायेगा। इस बार आयोजित होने वाले ऊँट मेले से बीकानेर ऊँट महोत्सव अपना 25 साल पूरा कर लेगा।

Camel Fair in Bikaner

इस दौरान पर्यटक राजस्थान के रेगिस्तान के बीच इस मेले का सुखद अनुभव ले सकते हैं। बीकानेर ऊंट मेले में ऊंट ही आकर्षण का मुख्य केंद्र होता है। इस मेले में ऊँटों के बीच दौड़ कराई जाती है, जिसके लिए ऊँटो को प्रशिक्षण दिया जाता है। इस दौड़ को देखने भारत के साथ-साथ अन्य देशों से आए विदेशी सैलानी भी खूब उत्साहित रहते है।

राजस्थान में मरुस्थलीय त्रिकोणीय यात्रा- जोधपुर, जैसलमेर और बीकानेर का त्रिसंगम!

इसके अलावा इस मेले में फर काटने वाले डिजाइन, सर्वश्रेष्ठ नस्ल प्रतियोगिता, ऊंट बैंड, ऊंट कलाबाजी और बहुत कुछ जैसे विभिन्न आकर्षक गतिविधियां भी होती है, जो पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती हैं। कैमेल नृत्य प्रदर्शन भी होते हैं। इस मेले में ऊंट की सजावट , फर काटने वाले डिजाइन, ऊंट दुग्ध और सर्वश्रेष्ठ ऊंट के बाल के लिए प्रतियोगिताएं होती हैं।

Camel Fair in Bikaner

ऊंट शानदार फुटवर्क दिखाते हैं और उनके चालकों की दिशा में शानदार ढंग से नृत्य करते हैं। इस मेले में आप विदेशियों को भी राजस्थानी संस्कृति में झूमते हुए देख सकते हैं, जोकि राजस्थानी पोशाक पहनकर यहाँ के लोकगीतों पर नृत्य करते है।

कैसे पहुंचे ऊंट मेले में?
हवाई जहाज द्वारा
बीकानेर का सबसे नजदीकी एयरपोर्ट जोधपुर एयरपोर्ट है...जोकि यहां से करीबन 235 किमी की दूरी पर स्थित है। यह हवाई अड्डा बहरत के सभी प्रमुख हवाई अड्डों से जुड़ा हुआ है। एयरपोर्ट पहुंचने के बाद टैक्सी या बस के जरिये आराम से बीकानेर पहुंच सकते हैं।

ट्रेन द्वारा
बीकानेर का अपना रेलवे स्टेशन है जोकि दिल्‍ली, कोलकाता, मु्ंबई, जोधुपर और देश के अन्‍य शहरों से जुड़ा हुआ है।

सड़क द्वारा
बीकानेर सड़क द्वारा आसानी से पहुंचा जा सकता है, राजस्थान के हर शहर से बीकानेर के लिए बस की सुविधा उपलब्ध है।

Please Wait while comments are loading...