• Follow NativePlanet
Share
» »2017 में इन वन्य जीव पार्कों को पर्यटकों ने किया पसंद

2017 में इन वन्य जीव पार्कों को पर्यटकों ने किया पसंद

Written By: Goldi

भारत में घूमने को कई जगहें हैं, उन्ही में से एक है वन्यजीव अभ्यारण्य..यहां के जंगलों में आपको वो सब मिल जायगा जिसकी कल्पना आपने की होगी। ज्ञात हो कि वन्य जीवन प्रकृति की एक अमूल्य देन है जो अपने आप में बेमिसाल है।

जंगल में जीप सफारी करने जा रहे हैं, तो उससे पहले ये जरुर पढ़ लें

आज भारत पशु प्रेमियों और प्रकृति से लगाव रखने वालों का बेस्ट डेस्टिनेशन बन गया है। यहां जहां आपको एक तरफ असम में एक सींघ वाला गैंडा मिलेगा तो वहीं दूसरी तरफ आप कश्मीर में कस्तूरी मृग के दर्शन कर सकेंगे। इसी क्रम में जानिए भारत के कुछ बेहद ही खूबसूरत वन्य जीव अभयारण्यों के बारे में..जो पूरे साल पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करते हैं..

रणथंबोर राष्ट्रीय उद्यान

रणथंबोर राष्ट्रीय उद्यान

राजस्थान में स्थित रणथंबोर राष्ट्रीय उद्यान पर्यटकों द्वारा सबसे ज्यादा घूमा जाने वाला राष्ट्रीय उद्यान है..पुराने ज़माने में यह भारतीय राजाओं का शिकार करने का मुख्य स्थल हुआ करता था। यह भारत की पुरानी धरोहरों में से भी एक है। इस उद्यान में बाघों के अलावा, तेंदुए, नीलगाई, सांभर,सियार, चीते, हाइना, दलदल मगरमच्छ, जंगली सुअरों और हिरण के विभिन्न किस्मों के लिए एक प्राकृतिक निवास स्थान के रूप में कार्य करता है, इसके अलावा, वहाँ जैसे जलीय वनस्पति, लिली, डकवीड और पार्क में कमल बहुतायत है।Pc:Keshav995

बांदीपुर नेशनल पार्क

बांदीपुर नेशनल पार्क

बांदीपुर नेशनल पार्क दक्षिण भारत का सबसे प्रसिद्ध नेशनल पार्क है..यह क्षेत्र एशियाई हाथियों का प्राकृतिक आवास और कई लुप्तप्राय प्रजातियों का घर है। यह उद्यान 800 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है जो घाना जंगल होने के साथ साथ प्राकृतिक सुंदरता से भी घिरा हुआ है।
Pc: Abhijeet1011

 सरिस्का नेशनल पार्क

सरिस्का नेशनल पार्क

राजस्थान के अलवर जिले में स्थित, सरिस्का नेशनल पार्क को 1955 में वन्यजीव रिजर्व घोषित किया गया था और 1 978 में बाघ अभयारण्य के रूप में घोषित किया गया था। इस राष्ट्रीय उद्यान को दुनिया का पहला राष्ट्रीय पार्क होने का गौरव प्राप्त है। टाइगर रिजर्व तेंदुआ, जंगली कुत्ता, जंगली बिल्ली, लकड़बग्घा, सियार, और चीता सहित अन्य मांसाहारी जानवरों का यह शरणस्थल है।Pc: Tanishq Jain 662

काजीरंगा नेशनल पार्क

काजीरंगा नेशनल पार्क

काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान असम के गर्व में से एक है। यह उल्लेख करना जरूरी है कि यह लुप्तप्राय भारतीय एक सींग वाले गैंडे का घर है।

यह राष्ट्रीय उद्यान भारत के उत्तर-पूर्व क्षेत्र में सबसे बड़ा वन्यजीव अभ्यारण्य है। यह पार्क बड़ी संख्या में बाघों और अन्य वन्यजीव प्रजातियों के लिए भी प्रसिद्ध है; इसे वर्ष 2006 में बाघ आरक्षित घोषित किया गया है।Pc: Whoisagoodgirl

भद्र वाइल्डलाइफ सेंचुरी

भद्र वाइल्डलाइफ सेंचुरी

भद्र वाइल्डलाइफ सेंचुरी पश्चिमी घाटों के सूखे और नम पर्णपाती जंगलों के बीच स्थित है। 1951 में, इस क्षेत्र को प्राकृतिक रिज़र्व के रूप में घोषित किया गया था साथ ही इसे जगारा घाटी खेल रिजर्व के रूप में भी मान्यता प्राप्त है। इस जंगल की सैर उन लोगो को जरुर करनी चाहिए जो प्रकृति से प्यार करते हैं।

यह जगह प्रकृति प्रेमियों और फोटोग्राफरों के बीच बहुत लोकप्रिय है..इस अभयारण्य में तेंदुआ, हाथी, गौर, सांभर, बाघ, हिरण, काकड़ और साही जैसे जानवरों की विभिन्न प्रजातियां पाई जाती हैं। यहां पर्यटक दक्षिणी हरा कबूतर, पन्ना कबूतर, मालाबार तोता, पहाड़ी मैना और काला कठफोड़वा जैसे पक्षियों की कई प्रजातियों को भी देख सकते हैं।
Pc:Yathin S Krishnappa

पन्‍ना राष्‍ट्रीय उद्यान

पन्‍ना राष्‍ट्रीय उद्यान

पन्‍ना राष्‍ट्रीय उद्यान, पन्‍ना शहर के पास में स्थित है लेकिन यह मध्‍य प्रदेश के छतरपुर जिले का हिस्‍सा है। यह पार्क, राज्‍य का पांचवा और देश का बाईसवां, टाइगर रिजर्व पार्क है। इस पार्क को पर्यटन मंत्रालय के द्वारा देश का सबसे अच्‍छा और कायदे से रखा गया पार्क घोषित किया गया और सम्‍मान से नवाजा गया। बाघों के अलावा, इस राष्‍ट्रीय पार्क में अन्‍य जानवरों व सरीसृपों का भी घर है।Pc:Shivamd2d

साइलेंट वैली नेशनल पार्क

साइलेंट वैली नेशनल पार्क

सह्याद्री पर्वतमाला के कुंडली पहाड़ियों में स्थित, साइलेंट वैली राष्ट्रीय उद्यान केरल के लोकप्रिय वन्यजीव अभयारण्यों में से एक है। मुख्य रूप से हाथी, बाघ और शेर, पूंछ वानर जैसे जीवों के साथ-साथ कई दुर्लभ किस्मों की औषधि और पेड़-पौधों के कारण यह पार्क प्रसिद्ध है।Pc:Unknown

राजाजी नेशनल पार्क

राजाजी नेशनल पार्क

हिमालय की तलहटी में स्थित, राजाजी राष्ट्रीय उद्यान पृथ्वी पर स्वर का नजारा पेश करता है, यह वन्य जीव पार्क भारत के खूबसूरत पार्कों में से एक है। यह पार्क पक्षियों की 315 प्रजातियों और स्तनपायी की 23 प्रजातियों का घर है। एशियाई हाथी, चीता, भालू, कोबरा, जंगली सुअर, साँभर, भारतीय खरगोश, जंगली बिल्ली और कक्कड़ जैसे जन्तु इस पार्क में पाये जाते हैं। चीता, सुस्त भालू, हिरण और भौंकने वाले हिरण भी इस पार्क में देखे जा सकते हैं।Pc:Davidvraju

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स